दक्षिण चीन सागर में मंडराने लगे चीन के जहाज, जानें क्यों


PRADEEP CHANDRA JOSHI 12/04/2018 19:18 PM
242 Views

Beijing. चीन दक्षिण चीन सागर में अपने समुद्री हितों की रक्षा के लिए बने रहने के अपने मकसद को किसी न किसी तरह पूरा करने में लगा रहता है और अपनी इसी सोच के तहत चीन ने हैनान प्रांत में दक्षिणी चीन सागर (एससीएस) के निकट तीन दिवसीय नौसैनिक अभ्यास शुरू किया है।

China started 3-day practice in South China Sea

यह भी पढ़ें... अमेरिका की अगुवाई में सीरिया मामले पर ब्रिटेन में अहम बैठक

नौसैनिक अभ्यास में शामिल हुआ स्वदेश निर्मित विमान वाहक पोत

चीन के समुद्री सुरक्षा प्रशासन के अनुसार उसका ये अभ्यास कल शुरू हुआ और यह शुक्रवार को खत्म होगा। बता दें कि चीन अपने तटरक्षकों, नौसेना,समुद्री कानून प्रवर्तन एजेंसियों के लिए तेजी से नये पोत का निर्माण कर रहा है। चीन ने इसमें पूरी तरह पहला स्वदेश निर्मित विमानवाहक पोत भी शामिल किया है। बता दें कि चीन संसाधन से संपन्न समूचे दक्षिण चीन सागर पर अपना दावा करता रहा है। जबकि चीन के कई पड़ोसी देश भी इस क्षेत्र पर अपना हक जताते रहे हैं। वहीं वैश्विक व्यापार के तौर पर देखें तो वैश्विक व्यापार का एक बड़ा हिस्सा इस मार्ग से होकर गुजरता है।

यह भी पढ़ें... इस देश के सरकारी दफ्तर पर आतंकवादी हमला, 18 की मौत

चीन इस सागरीय क्षेत्र पर अपना अधिकार जामाने के मकसद से यहां कई कृत्रिम द्वीपों और हवाई पट्टीयों और अन्य प्रतिष्ठानों का भी निर्माण कर लिया है। हैनान में चीनी सेना की बड़ी मौजूदगी है और यहां नौसेना का हवाई अड्डा और देश में पनडुब्बी का सबसे बड़ा केंद्र भी है।  

Web Title: China Shipwrecks in South China Sea, Learn Why ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया