मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा
 

चीन के साथ ट्रेडवार के बाद अब अमेरिका की टेढ़ी नजर अब भारत पर


PRADEEP CHANDRA JOSHI 14/04/2018 16:25:02
5340 Views

After the trade with China, now America

Washington. अमेरिका ने पहले चीन के साथ ट्रेड वार की शुरुआत की और अब उसकी टेढ़ी नजर भारत की तरफ भी उठने लगी है। खबर के अनुसार अमेरिका ने अपने बाजारों में कुछ भारतीय उत्पादों के शुल्क मुक्त पहुंचने को लेकर भारत की पात्रता की समीक्षा का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें... भारत और पाकिस्तान मिलकर करेंगे आतंकवादियों का खात्मा

भारत के करीब 3,500 उत्पाद बिना शुल्क पहुंचते हैं अमेरिका

बता दें कि अमेरिका की एक कर लाभ योजना के तहत भारत को यह सुविधा प्राप्त है। अमेरिका की सामान्य तरजीह प्रणाली (जीएसपी) के तहत रसायन और इंजीनियरिंग सहित करीब 3,500 भारतीय उत्पादों को बिना शुल्क के अमेरिकी बाजार में पहुंच का लाभ मिलता है। अ अमेरिका की यह योजना 1976 में शुरू हुई थी। बता दें कि अब अमेरिका द्वारा भारतीय उत्पादों की शुल्क मुक्त पहुंच की इस प्रणाली की समीक्षा किए जाने से भारत का 3500 उतपादों का निर्यात प्रभावित हो सकता है।

यह भी पढ़ें... लीजिए शुरू हो गई चांद पर आलू उगाने की तैयारी, जानें किस तरह?

जीएसपी है एक प्रकार का व्यापार वरीयता कार्यक्रम

खबर है कि यदि अमेरिका द्वारा इन उत्पादों को अगर शुल्क मुक्त नहीं रखा जाता है तो इनका निर्यात प्रभावित होगा और यह प्रतिस्पर्धी नहीं रह जाएगा। अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि (USTR) के मुताबिक, जीएसपी एक प्रकार का व्यापार वरीयता कार्यक्रम है। जिसका मकसद निर्धारित लाभार्थी देशों से हजारों उत्पादों को अमेरिका में शुल्क मुक्त प्रवेश देकर आर्थिक विकास को बढ़ावा देना था। अमेरिका के व्यापार प्रतिनिधि कार्यालय ने शुक्रवार को घोषणा की कि वह शुल्क मुक्त निर्यात की सामान्य तरजीही प्रणाली के तहत भारत, इंडोनेशिया और कजाखस्तान की पात्रता की समीक्षा कर रहा है।

यह भी पढ़ें... इस देश में नाराज राष्ट्रपति ने एक महीने के लिए कर दिया संसद को निलंबित     

अमेरिका ने कहा है कि उसकी यह समीक्षा संबंधित देशों के कार्यक्रम की अनुपालन शर्तो को लेकर बढ़ी चिंता पर आधारित है और यह ट्रंप प्रशासन की जीएसपी के तहत देश की पात्रता आकलन की नयी प्रक्रिया के आधार पर होगी।

Web Title: After the trade with China, now America's Screwed eye is now on India. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया