मुख्य समाचार
शाकिब ने रचा इतिहास, वर्ल्‍ड कप में कपिल-युवराज के रिकॉर्ड की बराबरी की क्षेत्र-जिला पंचायत सदस्यों के रिक्त पदों पर उप निर्वाचन के लिए समय सारणी जारी  Tik Tok वीडियो से सुर्खियों में आई पीली साड़ी वाली महिला जेनेलिया डिसूजा के पैर दबाते रितेश देशमुख का वीडियो वायरल, यूजर्स ने कहा... जल्द ही 100 करोड़ का आंकड़ा छू सकती फिल्म कबीर सिंह सपा संरक्षक की होगी सर्जरी, इस गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं मुलायम कोल्ड ड्रिंक पीने से एक ही परिवार के 5 लोग पहुंचे अस्पताल, फिलहाल खतरे से बाहर इटौंजा प्रकरण : एसएसपी ने कॉस्टेबल को किया लाइन हाजिर, चौकी प्रभारी व थानाध्यक्ष पर भी कार्रवाई प्रचलित  राजस्थान: बीजेपी प्रमुख मदन लाल सैनी का लंबी बीमारी के बाद निधन दो पक्षों में विवाद के बाद जमकर चले लाठी डंडे, वीडियो वायरल
 

राजकीय वाहन चालक महासंघ बैठक संपन्न, आंदोलन का लिया निर्णय


SHUBHENDU SHUKLA 15/04/2018 18:35:51
3722 Views

LUCKNOW. उत्तर प्रदेश राजकीय वाहन चालक महासंघ ने 12 सूत्रीय मांगों के निस्तारण को लेकर रविवार को दारूलशफा के कामन हाल 93 ब्लॉक में बैठक की। संघ के अध्यक्ष रामफेर पाण्डेय ने बताया कि मांगों के संबंध में मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव स्तर तक ज्ञापन प्रेषित कर चुका है। 18 जनवरी को राजधानी में शान्ति मार्च भी गया। लेकिन अभी तक शासन स्तर पर न तो मांगों निस्तारण किया गया न ही कोई द्विपक्षीय वार्ता की गई। संघ के पदाधिकारियों ने सरकार के प्रति नाराजगी जताते हुए मई में सड़क पर उतरने और आन्दोलन करने का निर्णय लिया।

State Driver Federation meeting decided to conclude the agitation

यह भी पढ़ें...Prom night में बोल्ड लुक में नज़र आयीं श्रीदेवी की बेटी, देखें फ़ोटोज़

कर रहे हैं ये मांग
 
संघ के महामंत्री मिठाई लाल व आल इण्डिया गवर्नमेन्ट ड्राइवर फेडरेशन के सलाहकार प्रमोद कुमार नेगी ने बताया कि उ.प्र. राजकीय वाहन चालकों को मौलिक नियुक्ति का ग्रेड वेतन 1900 के स्थान पर 2000 रूपये दिए जाने,उत्तराखण्ड सरकार की भांति चालकों की प्रतिशत व्यवस्था को समाप्त करने, स्टाॅफ कार चालक पदोन्नति स्कीम से अनुपात हटाए जाने,चालकों के रिक्त पदों पर भर्ती किए जाने, पुरानी पेंशन व्यवस्था बहाल किए जाने समेत 12 मांगो को लेकर संघर्षरत हैं। 

यह भी पढ़ें...Video : कठुआ गैंगरेप केस पर विराट को आया गुस्सा

यदि सरकार उनकी मांगो को लेकर अप्रैल महीने में ठोस निर्णय नहीं लेती है तो मई में सड़कों पर उतर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे। उन्होंने कहा कि जनपद अध्ययक्ष एवं समस्त राजकीय वाहन चालक जनपद मुख्यालय में बैठक कर सुश्चित करा लें कि महासंघ मई माह में 11 सूत्रीय मांगों के निस्तारण के मूड में है। सरकार यदि उनकी मांगों को नहीं मानती है तो राजकीय वाहन चालक आन्दोलन के लिए तैयार रहें। इस दौरान सूरज यादव, शकील अहमद,जयप्रकाश यादव, रामविलास यादव, सहजराम, पिछड़ा वर्ग कल्याण, ग्राम्य विकास विभाग, सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग व अन्य विभागों के पदाधिकारी मौजूद रहे। 

Web Title: State Driver Federation meeting decided to conclude the agitation ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया