मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

कर्ज के बोझ तले लगातार दबता जा रहा किसान


SANDEEP PANDEY 16/04/2018 10:50:54
3876 Views

Farmers are under constant burden on the burden of debt

LUCKNOW.  देश के किसानों की हालत दिन ब दिन खराब होती जा रही है। किसानों को मेहनत का पैसा भी समय से नहीं मिल पा रहा है। किसान बच्चों की शिक्षा, शादी के खर्च के लिए कर्ज के बोझ तले दबता जा रहा है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गोमती नगर स्थित एसकेडी अकादमी में आयोजित हुए किसान प्रतिनिधि सम्मेलन में यह बात कही। किसान विचार मंच के बैनर तले रविवार को विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता, पूर्व प्रशासनिक अधिकारी व किसान नेताओं ने किसानों के उत्थान के लिए एकजुट होने का संकल्प लिया।

यह भी पढ़ें- शादी की सालगिरह पर परिवहन मंत्री ने की लंगर सेवा

कृषि मूल्य आयोग के पूर्व चेयरमैन डॉ टी हक ने कहा कि अगर किसान इसी तरह से कर्जदार होता गया तो देश की रीढ़ कमजोर हो जाएगी। सरकार को चाहिए की वह किसानों की समस्याओं का समाधान क्षेत्रीयता के आधार पर करे।

यह भी पढ़ें- बेटियों की अस्मत की रक्षा के लिये निकाला गया कैंडल मार्च

किसान प्रतिनिधि सम्मेलन के संयोजक व किसान नेता मानवेन्द्र वर्मा ने कहा कि वह एक कमेटी बनाकर सरकार के पास प्रस्ताव लेकर जाएंगे। सहमति से किसानों के हित में कुछ ठोस कदम उठाए जाएं। अगर सरकार किसान हित में काम नहीं करेगी तो किसान विचार मंच सभी दलों के नेताओं के साथ किसानों के साथ दिल्ली कूच का निर्णय भी ले सकता है।

यह भी पढ़ें- योग से मनुष्य व्यतीत कर सकता है सुखमय जीवन

वरिष्ठ पत्रकार हरवीर सिंह ने कृषि आयोग बनाकर खेती लागत को कम करके अच्छी फसल पैदा करने का फार्मूला सुझाया। उन्होंने कहा इसमें किसानों को रूढ़िवादिता से बाहर आना होगा और अपनी फसलों की मार्केटिंग भी करनी पड़ेगी।

पूर्व सांसद मोहम्मद अदीब ने किसानों के हालात पर दुख जताया। इसके साथ ही सम्मेलन में पूर्व प्रशासनिक अधिकारी बाबा हरदेव सिंह, डीपी सिंह व अशोक पंवार, पूर्व मंत्री मदन चौहान, पूर्व एमएलसी राजकुमार त्यागी समेत कई पूर्व विधायक व किसान नेता मौजूद थे।

Web Title: Farmers are under constant burden on the burden of debt ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया