मुख्य समाचार
भाजपा के लिए बिहार में बहार गिरीराज सिंह ने कन्‍हैया कुमार को पीछे छोड़ा नेवी में जाने का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन बंगाल में भाजपा की टीएमसी को तगड़ी टक्कर, फिलहाल टीएमसी बढ़त पर राजस्थान में कांग्रेस कॉन्फीडेंस को करारा झटका, भाजपा का 25 लोकसभा सीटों पर क्लीन स्वीप Lucknow Election Result Live : बड़ी बढ़त की ओर राजनाथ सिंह चुनाव नतीजे दिन अगर हुआ ये तो बंद होगा शेयर बाजार का कारोबार रायबरेली में कांग्रेस की सोनिया गांधी आगे, भाजपा को झटका Uttar Pradesh Election Result Live : यूपी की 80 सीटों में बीजेपी ने 59 पर बनाई बढ़त शुरूआती रूझानों में यूपी में गठबंधन को नहीं मिलती दिख रही आशातीत सफलता नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका
 

क्राई की रिपोर्ट में खुलासा: नाबालिग से यौन अपराध मामले में यूपी पहले नम्बर पर


RAJNISH KUMAR 21/04/2018 17:04:26
1625 Views

Lucknow. कठुआ, सूरत, उन्नाव और एटा गैंगरेप मामले को लेकर जहां पूरा देश गुस्से से उबल रहा है। वहीं, इस बीच चाइल्ड राइट्स एंड यू यानि क्राई की रिपोर्ट ने चौंकाने वाले खुलासे किए हैं।

CRY REPORT  Nabalig se yaun apradh me up pahle number par

  अपराध के मामलों में 500 प्रतिशत की वृद्धि

रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि 2006 में नाबालिगों के खिलाफ यौन अपराध के 18,967 मामले दर्ज हुए थे। 2016 में इनकी संख्या बढक़र 106,958 हो गई। यानि बीते 10 वर्षों के दौरान भारत में नाबालिगों के खिलाफ यौन अपराध के मामलों में 500 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

यह भी पढ़ें ...

  बच्चों से अपराध के मामले में यूपी पहले नम्बर पर

सबसे खास बात यह है कि बच्चों के खिलाफ 50 प्रतिशत अपराध पांच राज्यों उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, दिल्ली और पश्चिम बंगाल में हुए हैं। इस मामले में बच्चों के खिलाफ सबसे अधिक 15 प्रतिशत मामले उत्तर प्रदेश में दर्ज हुए। उसके बाद महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में क्रमश: 14 और 13 प्रतिशत मामले दर्ज किए गए।

CRY REPORT  Nabalig se yaun apradh me up pahle number par

यह भी पढ़ें ... तानाशाह किम जोंग ने क्यों कहा, अब नहीं करेंगे परमाणु परीक्षण

  बढ़ते यौन अपराध देश के लिए चिंता का विषय

36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में 11 ऐसे राज्य हैं जहां बच्चों के खिलाफ हुए अपराधों में 50 प्रतिशत से ज्यादा मामले यौन अपराध के थे और शेष 36 राज्यों व केंद्र्रशासित प्रदशों में बच्चों के खिलाफ हुए अपराधों में एक तिहाई अपराध यौन अपराध के थे, जो देश के लिए काफी चिंता का विषय है।

  हर 15 मिनट में एक नाबालिग होता है यौन अपराध का शिकार

अगर एनसीआरबी यानि राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़ों की बात की जाए तो वर्ष 2016 में भारत में बच्चों के विरुद्ध अपराधों में 2015 की अपेक्षा 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। पॉक्सो अधिनियम के तहत वर्ष 2016 में दर्ज अपराध के विश्लेषण के आधार पर, भारत में बच्चों के साथ हुए अपराधों में एक तिहाई अपराध यौन अपराध के थे। यानि भारत में हर 15 मिनट में नाबालिग के विरुद्ध यौन अपराध होता है।

यह भी पढ़ें ... बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने छोड़ी पार्टी, जाते-जाते पीएम मोदी पर लगा गए गंभीर आरोप

क्राई की रिपोर्ट की खास बातें

- 10 साल में नाबालिगों के खिलाफ यौन अपराध के मामले 500 फीसदी बढ़े। 

- 2006 में नाबालिगों के खिलाफ हुए यौन अपराध के 18,967 मामले। 

- 2016 में इनकी तादाद बढ़कर एक लाख छह हजार नौ सौ अट्ठावन हो गई। 

- बच्चों के खिलाफ 50 फीसदी अपराध यूपी, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, दिल्ली और पश्चिम बंगाल में। 

यह भी पढ़ें ... मोदी कैबिनेट की मुहर: 12 साल तक की बच्ची से रेप करने वाले को होगी मौत की सज़ा

- बच्चों के खिलाफ हुए क्राइम में सबसे ज्‍यादा 15 फीसदी मामले यूपी में दर्ज। 

- बच्चों के खिलाफ हुए अपराधों में एक-तिहाई सेक्‍सुअल क्राइम। 

 

Web Title: CRY REPORT Nabalig se yaun apradh me up pahle number par ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया