मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

ऑस्ट्रेलिया में नस्लीय भेदभाव सबसे खराब स्तर पर, जानिए क्यों?


RAM SHARMA 23/04/2018 16:13:27
2166 Views

Sidney. आॅस्ट्रेलिया में नस्लीय भेदभाव कुछ समय से काफी खराब स्तर पर पहुंच गया है। हम आए दिन इसके बारे में सुनते रहते हैं। एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है। इसके बारे में अधिक जानकारी देते हुए नस्लीय भेदभाव आयुक्त टिम साउथोम्मासेन ने बताया है कि मेलबर्न में अफ्रीकन समूहों के डर ने अब तक कें सबसे प्रतिकूल प्रभावों को प्रभावित किया है।

इसके आगे उन्होंने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा है कि अफ्रीकी युवाओं द्वारा अपराध को लेकर डर ने मेलबर्न तथा आॅस्ट्रलियाई समाज में नस्लीय सामंजस्य को काफी नुकसान पहुंचाया है। इसके आगे उन्होंने यहां तक कहा है कि संघीय नेता अपने निजी लाभ को हवा देने के लिए इस प्रकार के विवादों को लगातार हवा देते रहते हैं। जिसके कारण यह नस्लीय भेदभाव आए दिन बढ़ता ही रहता है। 

इसके बारे में गृह मंत्री पीटर डट्टन ड्रयू ने जानकारी देते हुए कहा है कि आज मेलबर्न में आम निवासी रात के अंधेरे में अपने घरों से निकलने से भी डरते हैं क्योंकि उनको अफ्रीकन निवासियों के द्वारा हमला करने का डर बना रहता है। 

Web Title: At racial discrimination at worst level in Australia, know why? ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया