मुख्य समाचार
 

ड्रैगन की यारी ने दिया लड़खड़ाते पाक को सहारा, अब इस दिशा में बढ़ाएंगे कदम


ANKIT RASTOGI 23/04/2018 16:35:08
2653 Views

Islamabad. लम्बे अरसे से लड़खड़ाता पाकिस्तान रेलवे नेटवर्क एक बार फिर संभलने की हर संभव कोशिश कर रहा है। चीन के वादे ने पाक को रेलवे के बुनियादी ढांचे में बदलाव का बड़ा मौका दिया है। इसके तहत सुरक्षा और सुविधा की दिशा में कई कदम उठाए जाने हैं।

चीन अपनी महत्वाकांक्षी योजाना ‘वन बेल्ट एंड वन रोड’ को साकार करने के उद्देश्य से पाकिस्तान को ये मदद मुहैया करा रहा है। इसके अंतर्गत चीन पाकिस्तान में 60 अरब डॉलर की लागत से कई परियोजनाओं को पूरा करेगा।

यह भी पढ़ें :- काबुल में ISIS का आत्मघाती हमला 31 की मौत, 54 घायल

Pak railway infrastructure changes

भ्रष्टाचार से जूझ रहा पाक रेलवे...

बता दें दशकों से हो रहे निवेश के बावजूद पाकिस्तान रेलवे भ्रष्टाचार से भी जूझ रहा है। भ्रष्टाचार में लिप्त कई अधिकारियों को बर्खास्त तक किया गया है।

खबरों के मुताबिक़ ब्रोकरेज फर्म EFG हर्मेस पाकिस्तान लिमिडेट के चीफ एग्जिक्यूटिव ऑफिसर मुज्जमिल असलम कहते हैं, 'भ्रष्टाचार इस प्रॉजेक्ट के लिए सबसे बड़ी चुनौती साबित हो सकता है। लेकिन अगर यह प्रॉजेक्ट शुरू हो जाता है तो इससे परिवहन सस्ता और प्रतिस्पर्धी बनेगा।'

सुरक्षा भी बड़ा मुद्दा...

वहीं पाकिस्तान की ट्रेनों में साल 2000 से लेकर अब तक हुए 137 हमलों की वजह से 96 लोगों की जान जा चुकी है, 480 घायल हो चुके हैं। यह आंकड़े साउथ एशिया टेररिजम पोर्टल ने दिए हैं।

यह भी पढ़ें :- 'मोगम्बो' का मिसाइल टेस्ट से तौबा, खुश हुए 'मिस्टर प्रेसिडेंट'

बीते 4 सालों में सुरक्षा सबसे बड़ा मुद्दा रहा है और स्पेशल सिक्यॉरिटी फोर्स के 700 कमांडोज के साथ ही अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती भी की गई है।

'ब्लूमबर्ग' के मुताबिक, पेइचिंग कराची से पेशावर तक 1 हजार 163 मील रेल पटरी को अपग्रेड करने का काम करने वाला है।

यह रेल लाइन अफगान सीमा से सटती है और इसके लिए चीन ने पाकिस्तान को 8 अरब डॉलर का कर्ज दिया है।

यह रेल लाइन चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की महत्वाकांक्षी बेल्ट ऐंड रोड पहल का हिस्सा है, जिसके तहत चीन पाकिस्तान में 60 अरब डॉलर की लगात से कई परियोजनाओं को पूरा करेगा।

हालांकि, अभी चीन की मदद से रेल नेटवर्क को अपडेट करने को मंजूरी नहीं मिली है, लेकिन पाकिस्तान के गृह मंत्री एहसान इकबाल ने एक बयान में कहा था कि इस साल इस परियोजना का पहला चरण शुरू हो जाएगा।

दूसरी ओर पाकिस्तान में चुनाव से पहले ही लाहौर मेट्रो के शुरू होनी की संभावना जताई जा रही है। चीन बैंकों ने इसके लिए करीब 1.6 डॉलर का कर्ज दिया है।

दरअसल भीड़-भाड़ वाले इलाकों में जाम की समस्या को दूर करने के उद्देश्य से लाहौर मेट्रो को चुनाव से पहले शुरू करने का प्लान है।

वहीं बदलाव पर इस्लामाबाद का कहना है कि उसने कुल 300 लोकोमोटिव इंजन, 1000 पैसेंजर कोच, करीब 5000 माल गाड़ी के डिब्बे और 31 स्टेशनों को दुरुस्त किया है। पाकिस्तान ने बीते साल 41.3 करोड़ डॉलर की लागत से जनरल इलेक्ट्रिक कंपनी से 75 हाई-पावर्ड लोकोमोटिव भी खरीदे हैं।

Web Title: Pak railway infrastructure changes ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया