मुख्य समाचार
मायावती ने फिर उठाया ये पुराना मुद्दा, कहा- भाजपा की साजिश में शामिल थे मुलायम आम उत्पादन के क्षेत्र को विस्तारित करने पर शोध करें : राज्यपाल RBI को फिर लगा बड़ा झटका, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अचानक दिया इस्तीफा सबके विकास से ही देश का विकास होगा : राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले : महापौर संयुक्ता भाटिया करणी सेना को डायरेक्टर ने दिया जवाब, दोनों पक्षों में घमासान ससुरालियों को नशीला पदार्थ खिलाकर शादी के दूसरे दिन ही अपने प्रेमी संग फरार हुई दुल्हन बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाला रिश्तेदार पुलिस के हत्थे चढ़ा विराट कोहली ने विश्व कप में किया ये कमाल और कर ली इस कप्तान की बराबरी BSP सांसद के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता ट्रिपल मर्डर से दहली दिल्ली, बुजुर्ग दंपति और नौकरानी की हत्या फिर वायरल हुई अनोखे अंदाज में प्रिया प्रकाश की फोटो, पहचानना हुआ मुश्किल कांग्रेस पार्टी को मिला नया राष्ट्रीय अध्यक्ष, राहुल गांधी का इस्तीफा मंजूर! सुहाना का पोल डांस सोशल मीडिया पर वायरल राजस्थान की जेल से भाग निकले दुष्कर्म और हत्या के तीन आरोपी शमी ने कहा, हमारी गेंदबाजी ने जीत अपनी झोली में डाल ली इंदौर में ऑनर किलिंग का मामला आया सामने, भाई ने गर्भवती बहन को मारी गोली ईरान पर हमले का खतरा टला नहीं, नए प्रतिबंध लगाने की तैयारी में अमेरिका सतर्कता अधिष्ठान ने शुरू की मायावती शासनकाल के 45 कर्मियों की भ्रष्टाचार व संपत्ति की जांच
 

BNA में बड़ा घोटाला: कै​बिनेट मंत्री का कैमरे के सामने बोलने से साफ इंकार


SHUBHENDU SHUKLA 25/04/2018 12:06:32
3575 Views

LUCKNOW. भारतेन्दु नाट्य अकादमी में कार्यवाहक निदेशक रमेश चन्द्र गुप्ता पर विकास कार्य के नाम पर दो करोड़ रुपए के घोटाले का गंभीर आरोप लगा है। इसको लेकर BNA कर्मचारी संघ ने विभाग समेत कई उच्च अधिकारियों व संस्कृति विभाग के मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी से शिकायत की। लेकिन कार्यवाहक निदेशक पर किसी भी तरह की कार्रवाई करना अधिकारियों ने उचित नहीं समझा।

जब घोटाले के संबंध में न्यूज टाइम नेटवर्क की टीम कैबिनेट मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी से बात करने पहुंची तो कैमरे के सामने बोलने से साफ इंकार कर दिया। हालांकि, मौखिक बात कर सलाह दी कि किसी भी क्लास 1 या क्लास 2 के अफसर पर आरोप लगाने के बाद शपथ पत्र की जरूरत होती है। इसके बाद ही जांच हो सकती है।  लेकिन जब उनसे कहा गया कि शिकायत में शपथ पत्र शामिल है, तो उन्होंने चुप्पी साध ली।

यह भी पढ़ें...महाभियोग प्रस्ताव खारिज होने की सबसे बड़ी वजह आई सामने

2 crore scam in BharatNadu Natya Akademi Lucknow  

जनता को सीएम पर भरोसा

गौर फरमाने वाली बात है कि यूपी में बीजेपी की सरकार बनने के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने कुर्सी संभालते ही भ्रष्ट अफसरों को लताड़ लगानी शुरू कर दी थी। कई भ्रष्ट अफसरों को किनारे भी लगा दिया था। जनता को बीजेपी की सरकार पर भरोसा था कि जो वर्षों नहीं हुआ वह अब पांच सालों में होगा। लेकिन सत्ता बदलने के एक साल बाद योगी के मंत्री से लेकर अधिकारी तक भ्रष्टाचार में लिप्त हो गए हैं। विकास कार्यों के नाम पर करोड़ों डकार जा रहे हैं। शिकायत करने पर शिकायतकर्ता को जान से मारने व हाथ पैर तुड़वाने की धमकी मिल रही है। वहीं, पुलिस भी अपनी करतूतों से कहां चूकने वाली है। फिलहाल शिकायत भी पुलिस क्यों सुने, जब खुद मंत्री जी ही ऐसे अधिकारी पर मेहरबान हैं।

यह भी पढ़ें...OMG: मशहूर एक्ट्रेस की करतूतों का भांडाफोड़, जिस्मफरोशी के धंधे में...

क्या है मामला

-संस्कृतिक विभाग उप्र शासन के अंतर्गत भरतेन्दु नाट्य अकादमी में कार्यवाहक निदेशक पद पर रमेश चन्द्र गुप्ता तैनात हैं। आरोप है कि पद का दुरूपयोग करते हुए इन्होंने विकास कार्यों के नाम पर डेढ़ साल में 2 करोड़ रुपए का घोटाला किया है। संस्कृतिक विभाग में विकास कार्य के लिए 2015-16 में फर्नीचर निर्माण को लेकर 70 लाख रुपए स्वीकृत हुए थे। लेकिन कार्यवाहक निदेशक ने संबंधित फर्म से मिलीभगत कर ली। इसके बाद सामग्री नियम विरूद्ध अपने कब्जे में रख लिया। बाजार भाव से कई गुना अधिक मंहगे दामों को दिखाकर सामान खरीदे गए। 

यह भी पढ़ें...महाभियोग प्रस्ताव खारिज होने की सबसे बड़ी वजह आई सामने
-2015 से 17 के बीच कार्यशालाओं के आयोजन को लेकर 60 लाख रुपए स्वीकृत किए गए, लेकिन गुप्ता ने विशेष समिति नहीं बनाई। अकेले ही सारे प्रस्ताव तैयार किए और कमीशन तय करके कार्यशाला बिहार, पंजाब व अन्य राज्यों में करा दिया। इसमें फर्जी बिल दिखकर गुप्ता ने 30 लाख अतिरिक्त समायोजन कर अनियमितता की। 
-इसी तरह 2016-17 में अकादमी के दीक्षांत समारोह को लेकर शासन ने 10 लाख रुपए स्वीकृत किए थे। इसमें भी उन्होंने फर्जीवाड़ा कर लिया। इतना सबकुछ होने के बाद उच्च अधिकारी आंख मूंदे रहे। 

यह भी पढ़ें...सीएम योगी के दलित के घर भोजन करने पर मायावती का ये तीखा बयान, कहा अब...

भेजी जाती रही शिकायत

मामले को लेकर शिकायतें भी भेजी जाती रही। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। आलम यह है कि संस्कृतिक मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, सचिव ने भी चुप्पी साध रखी है। इनकी चुप्पी भ्रष्टाचार पर बड़े सवाल खड़ा करती है। बताते चलें कि अकादमी में घोटाले को लेकर यह बानगी मात्र है। इसके अलावा टैक्सी, एरियर व अन्य मदों में भी फर्जीवाड़ा किया है। न्यूज टाइम नेटवर्क कई विभागों के फर्जीवाड़े की पोल खोल चुकी है। अब संस्कृतिक विभाग के भ्रष्टाचार की कई और सच्चाईयां जल्द ही सामने लाई जाएंगी।

Web Title: 2 crore scam in BharatNadu Natya Akademi Lucknow ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया