मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

विश्व एलर्जी जागरुकता अभियान 22 से 28 अप्रैल तक


NAZO ALI SHEIKH 26/04/2018 15:45:22
2781 Views

Lucknow. विश्व एलर्जी जारुकता सप्ताह लखनऊ में 22 अप्रैल से 28 अप्रैल तक मनाया जाएगा। प्रो. सूर्यकांत ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सामान्य लोगों को एलर्जी से सम्बंधित विभिन्न रोगों को सामान्य भाषा में बताया और सभी लोगों को एलर्जी की बीमारी के बारे में जागरुक किया।

World Allergy Awareness Campaign from April 22 to April 28


डॉ सूर्यकांत ने बताया
 

डॉ सूर्यकांत ने बताया, एलर्जी शरीर के कई अंगों में होती है। एलर्जी के विभिन्न प्रकार होते हैं- एलर्जिक राइनाइटिस या नाक की एलर्जी मौसमी या बारहमासी हो सकती है, विशेष रूप से यह पराग कणों के कारण मौसम बदलने के दौरान होता है। इससे नासिका वायुमार्ग में सूजन आ जाती है और छींके, नाक में खुजली व पानी तथा नाक का बंद हो जाना जैसे लक्षण होते हैं। 

यह भी पढ़ें... Health_is_wealth: Vitamin D3 से होता है यह लाभ, जानिए

World Allergy Awareness Campaign from April 22 to April 28
एलर्जी की वजह से साइनस में सूजन आ जाती है जिसे हम साइनुसाइटिस कहते हैं। बच्चों में एलर्जी की परेशानी यदि लंबे समय तक बनी रहती है तो कान बहना, कान में दर्द, कम सुनना, बहरापन जैसी परेशानियां भी हो सकती हैं। हमारे शरीर की संरचना के हिसाब से नाक, कान और गला आपस में किसी न किसी माध्यम से जुड़े होते हैं।

यह भी पढ़ें... Health_is_wealth: रोजाना हंसने से दूर होती हैं ये बीमारियां


एलर्जी के  कारण
 

केजीएमयू के प्रोफेसर व् रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ सूर्यकांत ने बताया विश्व एलर्जी दिवस के मौके पर पर बताया पराग कणों से  होने वाली एलर्जी और वातावरण में बदलाव इसका कारण बनता जा रहा है तापमान का बढ़ना सूखा तूफान से होने वाली एलर्जी के कुप्रभाव से कैसे बचा जाए इसके लिए जागरूकता फैलाने की जरूरत है। 

Web Title: World Allergy Awareness Campaign from April 22 to April 28 ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया