मुख्य समाचार
राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण है अयोध्या आने का मकसद: उद्धव ठाकरे सीतापुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो युवकों की मौत न्यूजीलैंड में आया 7.2 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराकर FIH सीरीज़ का फाइनल जीता Air India में नौकरी का सुनहरा मौका, नहीं देनी होगी लिखित परीक्षा इस दिन जारी होंगे UP Polytechnic के परीक्षा परिणाम पति करता था परेशान, पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर उठाया खौफनाक कदम पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसार एक्सप्रेस वे पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत पाकिस्तान ने दी पुलवामा में संभावित आतंकी हमले सूचना, घाटी में हाई अलर्ट भारत-पाक महामुकाबले पर बारिश का खतरा बरकरार मिस इंडिया 2019: सुमन राव ने जीता खिताब, शिवानी रहीं फर्स्ट रनर अप रेल यात्रियों को सफर में मसाज सेवा देने की योजना पर लगा ग्रहण, जानिए क्या रही वजह
 

चीनी सरकार तिब्बतियों की धार्मिक स्वतंत्रता का करें सम्मान :अमेरिका


PRADEEP CHANDRA JOSHI 27/04/2018 19:13:26
598 Views

Washington. अमेरिका ने चीन की सरकार से तिब्बतियों के मानवाधिकार और धार्मिक स्वतंत्रता का सम्मान करने का आग्रह किया है। अमेरिका ने इस संबंध में अमेरिका संसद में एक प्रस्ताव रखा था जिसे संसद ने सर्वसम्मति से पास कर दिया।

newstimes.co.in

  संसद में उठाये गये थे तिब्बतियों विभिन्न मुद्दे

अमेरिकी संसद में पेश इस प्रस्ताव में तिब्बतियों के विभिन्न मुद्दों सहित उनके धार्मिक अधिकारों का जोरदार समर्थन किया है। साथ ही तिब्बत समुदाय के लोगों को बिना किसी चीनी हस्तक्षेप के अपने 15वें दलाई लामा (धार्मिक गुरु) का चुनाव करने का भी अधिकार दिया गया है। इस मुद्दे का प्रस्ताव में विशेष रूप से जिक्र है। इस प्रस्ताव को लाने का श्रेय सांसद पैट्रिक लेहे, डियान फेनस्टीन, टेड क्रूज और मार्को रूबियो को जाता है।

यह भी पढ़ें... पोम्पिओ ने ली अमेरिका के 70वें विदेश मंत्री के रूप में शपथ

   चीन से 11वें पंचेन लामा को तुरंत रिहा करने का आग्रह

सांसद लेहे ने कहा,'तिब्बतियों के अधिकारों के लिए हम ना केवल तिब्बत में बल्कि दुनिया के किसी भी हिस्से में उनके साथ खड़े हैं। उन्हें अपना धार्मिक नेता चुनने का पूरा हक है। इसके अलावा अमेरिका ने शुक्रवार को 11वें पंचेन लामा गेधुन चोकेई न्यामा को तुरंत रिहा करने की चीन से मांग की है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हीदर नौर्ट ने कहा कि 25 अप्रैल को 11वें पंचेन लामा गेधुन चोकेई न्यामा का जन्मदिन था।

यह भी पढ़ें... पैदल ही दक्षिण कोरिया की सीमा पार कर गया किम जोंग, बोला-इतना भी मुश्किल नहीं था

   11वें पंचेन लामा का छ वर्ष की उम्र में हुआ था अपहरण

खबर के अनुसार चीन ने करीब छ वर्ष की उम्र में उनका अपहरण कर लिया था। तब से वह कभी सार्वजनिक मंच पर नहीं दिखे। हीदर नौर्ट ने कहा है कि हम चीन से उन्हें जल्द रिहा करने की मांग करते हैं और चीन इस मामले में अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धता को बनाए रखते हुए धार्मिक स्वतंत्रता को बढ़ावा दे। हीदर ने कहा, अमेरिका को चिंता है कहीं चीन, तिब्बत की धार्मिक, भाषा और सांस्कृतिक पहचान को खत्म ना कर दें।

Web Title: Chinese government should respect Tibetans religious freedom: US ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया