मुख्य समाचार
वर्ल्ड कप में सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देगी - ICC अब सिर्फ खेलिए ही नहीं बल्कि दहन भी कीजिए ईको फ्रैंडली होली जूडो प्रतियोगिता : मेरठ मंडल की टीम रही टॉप, बरेली को मिला दूसरा स्थान J&K में सीजफायर का उल्लंघन 1 जवान शहीद, 3 घायल कांग्रेस को यूपी में मिली बड़ी मजबूती, तीन नेताओं समेत 2 दर्जन से अधिक लोग कांग्रेस में शामिल क्राइस्ट चर्च हमले का आंतकी खुद लड़ेगा अपना केस हाइवे के हादसों पर अंकुश लगाएंगी एनएचएआई की अलर्ट लाइटें पर्रिकर के निधन पर राष्ट्रपति, PM सहित कई नेताओं ने जताया शोक अर्थव्यवस्था को धार देने के लिए RBI गवर्नर शक्तिकांत करेंगे बैठक IPL 2019 : आशीष नेहरा के इस बयान से खिलाड़ियों को मिलेगी वर्ल्ड कप में मदद हनुमान मंदिर में प्रियंका ने की पूजा, गंगा पूजन के बाद नाव से हुईं रवाना वंदे भारत एक्सप्रेस पर फिर हुई पत्थरबाजी, 8 कोचों के 10 सीसे टूटे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के निधन पर बॉलीवुड सेलिब्रिटीज ने जताया शोक हमलावर हुईं बसपा सुप्रीमो कहा - अकेले बीजेपी को पराजित करने में सक्षम, गठबंधन को लेकर न फैलायें... मनोहर पर्रिकर के निधन पर गोवा बोर्ड ने एचएसएससी परीक्षा रद्द की, जानें अगली तारीख क्या है पैंक्रियाटिक कैंसर,  जिसकी जंग में हार गए पर्रिकर केंद्रीय सुरक्षा बलों के अधिकारियों को जल्द मिलेगा यह लाभ, जानिए क्या है वजह #RIP Manohar Parrikar: जब RSS ने पर्रिकर को दिलाई थी राजनीति में एंट्री, कुछ इस तरह बने गोवा के CM चुनावी ऐलान के बाद क्रूड-फेड रिजर्व तय करेंगे शेयर बाजार की चाल अरब सागर में नौसेना हुई अलर्ट, तैनात किए युद्धपोत, पन​डुब्बियां और लड़ाकू जहाज
 

मौत मांग रहा 104 साल का यह वैज्ञानिक, जानें क्यों


SAMEER NIGAM 03/05/2018 15:24:05
869 Views

Australia. बुजुर्ग वैज्ञानिक 104 साल की उम्र में अपनी जीवनलीला समाप्त करने के लिए स्विट्जरलैंड रवाना हो गए। वो आस्ट्रेलिया के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति हैं, इनका नाम डेविड गुडाल हैl जो 10 मई को स्विट्जरलैंड में प्राण त्यागेंगे। क्योंकि आस्ट्रेलिया में इच्छामृत्यु की इजाजत नहीं है।

International News,Newstimes

बुधवार को जब गुडाल, विमान में सवार होने लगे तब परिजनों और मित्रों ने घेर लिया और अंतिम गुडबाय कहा। वह परिवार के अन्य सदस्यों के साथ फ्रांस के बोरडॉक्स में कुछ दिन बिताने के बाद स्विट्जरलैंड पहुंचेंगे। गुडाल को वैसे तो कोई बड़ी बीमारी नहीं है लेकिन उनके जीवन की गुणवत्ता कम हो गई है।

यह भी पढ़े: नाइजीरिया में आतंकियों ने मस्जिद और बाजार को बनाया निशाना, 60 की मौत 

 डेविड गुडाल नाराजगी जताई

उन्होंने स्विट्जरलैंड के बैसेल स्थित एजेंसी लाइफ सर्किल से इच्छामृत्यु के लिए समय लिया है। एजेंसी इस काम में सहायता करती है। अॉस्ट्रेलिया से रवाना होने से पहले गुडाल ने एबीसी से कहा कि वह स्विट्जरलैंड जाना नहीं चाहते थे, लेकिन खुदकशी का अवसर पाने के लिए उन्हें ऐसा करना पड़ा क्योंकि आस्ट्रेलिया में इसकी अनुमति नहीं है। इस पर उन्होंने काफी नाराजगी जताई।

बता दें कि दुनिया के अधिकांश देशों में इच्छामृत्यु गैरकानूनी है। आस्ट्रेलिया के विक्टोरिया प्रांत में पिछले साल इसे वैधानिक बनाने तक यह प्रतिबंधित था। लेकिन वहां का कानून जून 2019 से लागू होगा। इसके अलावा केवल वैसे व्यक्ति को ही इच्छामृत्यु की इजाजत होगी जिसे असाध्य रोग हो गया हो।

Web Title: This scientist asked for euthanasia, from Australia to Switzerland. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया