मुख्य समाचार
नाम बदलने पर भड़के सपा नेता: कहा, योगी के बाप ने नहीं बसाया आजमगढ़ नाबालिग मासूम से दरिंदगी के बाद हत्या सलमान पर भड़कीं करणवीर की पत्नी टीजे सिंधु, लिखा ओपन लेटर धर्म निरपेक्ष है सबरीमाला मंदिर, सभी धर्मों के लिए खुला है : केरल सरकार छठ पर्व : एसएसपी ने घाटों पर पहुंचकर लिया जायजा, लगाई गईं तमाम टीमें कैबिनेट बैठक के बाद सीएम के निकलने से पहले महिला ने किया आत्मदाह का प्रयास  नेताजी से रिश्ते पर कुछ बोल न सके शिवपाल, भतीजे के बाद भाई ने भी तोड़ा नाता! दो माह में निचले स्तर पर पहुंचे डीजल के भाव, 26 दिन में 5 रुपये घटे पेट्रोल के दाम #Chhath puja: छठ का त्योहार क्यों मनाया जाता है , जानिए इस व्रत का क्या है महत्व सांसद जी के गाने पर चलती रहीं गोलियां भारत में oneplus 6T का थंडर पर्पल वेरिएंट लॉन्च, जानें क्या है कीमत व आॅफर्स जानिए, क्यों मनाया जाता है छठ महापर्व जन्मदिन विशेष: अश्लील गाने की शूटिंग के बाद फूट-फूट कर रोई थीं जूही चावला बदलते मौसम में खाएं ये चीजें, खिली-खिली रहेगी त्वचा शह और मात के खेल में बीजेपी की करारी शिकस्त, एक ही दिन में सैकड़ों नेता सपा में शामिल  रेसलर का गुस्सा राखी ने तनुश्री पर निकाला, कही ये होश उड़ाने वाली बात विशेष : फेक न्यूज़ डिटेक्शन पर हुई वर्कशॉप, सामने आईं कई महत्वपूर्ण बातें
 

मौत मांग रहा 104 साल का यह वैज्ञानिक, जानें क्यों


SAMEER NIGAM 03/05/2018 15:24:05
506 Views

Australia. बुजुर्ग वैज्ञानिक 104 साल की उम्र में अपनी जीवनलीला समाप्त करने के लिए स्विट्जरलैंड रवाना हो गए। वो आस्ट्रेलिया के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति हैं, इनका नाम डेविड गुडाल हैl जो 10 मई को स्विट्जरलैंड में प्राण त्यागेंगे। क्योंकि आस्ट्रेलिया में इच्छामृत्यु की इजाजत नहीं है।

International News,Newstimes

बुधवार को जब गुडाल, विमान में सवार होने लगे तब परिजनों और मित्रों ने घेर लिया और अंतिम गुडबाय कहा। वह परिवार के अन्य सदस्यों के साथ फ्रांस के बोरडॉक्स में कुछ दिन बिताने के बाद स्विट्जरलैंड पहुंचेंगे। गुडाल को वैसे तो कोई बड़ी बीमारी नहीं है लेकिन उनके जीवन की गुणवत्ता कम हो गई है।

यह भी पढ़े: नाइजीरिया में आतंकियों ने मस्जिद और बाजार को बनाया निशाना, 60 की मौत 

 डेविड गुडाल नाराजगी जताई

उन्होंने स्विट्जरलैंड के बैसेल स्थित एजेंसी लाइफ सर्किल से इच्छामृत्यु के लिए समय लिया है। एजेंसी इस काम में सहायता करती है। अॉस्ट्रेलिया से रवाना होने से पहले गुडाल ने एबीसी से कहा कि वह स्विट्जरलैंड जाना नहीं चाहते थे, लेकिन खुदकशी का अवसर पाने के लिए उन्हें ऐसा करना पड़ा क्योंकि आस्ट्रेलिया में इसकी अनुमति नहीं है। इस पर उन्होंने काफी नाराजगी जताई।

बता दें कि दुनिया के अधिकांश देशों में इच्छामृत्यु गैरकानूनी है। आस्ट्रेलिया के विक्टोरिया प्रांत में पिछले साल इसे वैधानिक बनाने तक यह प्रतिबंधित था। लेकिन वहां का कानून जून 2019 से लागू होगा। इसके अलावा केवल वैसे व्यक्ति को ही इच्छामृत्यु की इजाजत होगी जिसे असाध्य रोग हो गया हो।

Web Title: This scientist asked for euthanasia, from Australia to Switzerland. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


loading...