मुख्य समाचार
शाकिब ने रचा इतिहास, वर्ल्‍ड कप में कपिल-युवराज के रिकॉर्ड की बराबरी की क्षेत्र-जिला पंचायत सदस्यों के रिक्त पदों पर उप निर्वाचन के लिए समय सारणी जारी  Tik Tok वीडियो से सुर्खियों में आई पीली साड़ी वाली महिला जेनेलिया डिसूजा के पैर दबाते रितेश देशमुख का वीडियो वायरल, यूजर्स ने कहा... जल्द ही 100 करोड़ का आंकड़ा छू सकती फिल्म कबीर सिंह सपा संरक्षक की होगी सर्जरी, इस गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं मुलायम कोल्ड ड्रिंक पीने से एक ही परिवार के 5 लोग पहुंचे अस्पताल, फिलहाल खतरे से बाहर इटौंजा प्रकरण : एसएसपी ने कॉस्टेबल को किया लाइन हाजिर, चौकी प्रभारी व थानाध्यक्ष पर भी कार्रवाई प्रचलित  राजस्थान: बीजेपी प्रमुख मदन लाल सैनी का लंबी बीमारी के बाद निधन दो पक्षों में विवाद के बाद जमकर चले लाठी डंडे, वीडियो वायरल मायावती ने फिर उठाया ये पुराना मुद्दा, कहा- भाजपा की साजिश में शामिल थे मुलायम आम उत्पादन के क्षेत्र को विस्तारित करने पर शोध करें : राज्यपाल RBI को फिर लगा बड़ा झटका, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अचानक दिया इस्तीफा सबके विकास से ही देश का विकास होगा : राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले : महापौर संयुक्ता भाटिया करणी सेना को डायरेक्टर ने दिया जवाब, दोनों पक्षों में घमासान
 

मौत मांग रहा 104 साल का यह वैज्ञानिक, जानें क्यों


SAMEER NIGAM 03/05/2018 15:24:05
961 Views

Australia. बुजुर्ग वैज्ञानिक 104 साल की उम्र में अपनी जीवनलीला समाप्त करने के लिए स्विट्जरलैंड रवाना हो गए। वो आस्ट्रेलिया के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति हैं, इनका नाम डेविड गुडाल हैl जो 10 मई को स्विट्जरलैंड में प्राण त्यागेंगे। क्योंकि आस्ट्रेलिया में इच्छामृत्यु की इजाजत नहीं है।

International News,Newstimes

बुधवार को जब गुडाल, विमान में सवार होने लगे तब परिजनों और मित्रों ने घेर लिया और अंतिम गुडबाय कहा। वह परिवार के अन्य सदस्यों के साथ फ्रांस के बोरडॉक्स में कुछ दिन बिताने के बाद स्विट्जरलैंड पहुंचेंगे। गुडाल को वैसे तो कोई बड़ी बीमारी नहीं है लेकिन उनके जीवन की गुणवत्ता कम हो गई है।

यह भी पढ़े: नाइजीरिया में आतंकियों ने मस्जिद और बाजार को बनाया निशाना, 60 की मौत 

 डेविड गुडाल नाराजगी जताई

उन्होंने स्विट्जरलैंड के बैसेल स्थित एजेंसी लाइफ सर्किल से इच्छामृत्यु के लिए समय लिया है। एजेंसी इस काम में सहायता करती है। अॉस्ट्रेलिया से रवाना होने से पहले गुडाल ने एबीसी से कहा कि वह स्विट्जरलैंड जाना नहीं चाहते थे, लेकिन खुदकशी का अवसर पाने के लिए उन्हें ऐसा करना पड़ा क्योंकि आस्ट्रेलिया में इसकी अनुमति नहीं है। इस पर उन्होंने काफी नाराजगी जताई।

बता दें कि दुनिया के अधिकांश देशों में इच्छामृत्यु गैरकानूनी है। आस्ट्रेलिया के विक्टोरिया प्रांत में पिछले साल इसे वैधानिक बनाने तक यह प्रतिबंधित था। लेकिन वहां का कानून जून 2019 से लागू होगा। इसके अलावा केवल वैसे व्यक्ति को ही इच्छामृत्यु की इजाजत होगी जिसे असाध्य रोग हो गया हो।

Web Title: This scientist asked for euthanasia, from Australia to Switzerland. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया