मुख्य समाचार
विश्व कप में खिलाड़ियों के साथ जा सकेंगी पत्नियां पर BCCI ने लगाई तमाम बंदिशें साध्वी प्रज्ञा का मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान अवैध कमाई के लिए डग्गामार वाहनों पर मेहरबान है पुलिस— प्रशासन मायावती ने मुलायम की मौजूदगी में मंच किया खुलासा - गेस्टहाउस कांड के बाद भी इसलिए हुआ गठबंधन इंस्टाग्राम को लेकर आई बड़ी खबर, यूजर्स का पासवर्ड असुरक्षित तरीके से स्टोर हाईकोर्ट से भाजपा विधायक को बड़ा झटका, सुनाई गयी आजीवन कारावास की सजा  प्रियंका ने राहुल गांधी को सौंपा अपना इस्तीफा #IPL2019 : दिल्ली कैपिटल्स को 40 रन से हराकर मुंबई पहुंची दूसरे स्थान पर जेट एयरवेज की हवाई सेवाएं बंद होने पर निराश हुए फिल्मी सितारे साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ NIA कोर्ट में याचिका दायर, चुनाव लड़ने पर रोक की मांग बुधवार को जेट एयरवेज ने भरी आखिरी उड़ान कोई भी अपराजेय नहीं है, सबको हराया जा सकता है : आचार्य प्रमोद कृष्णम World Cup के लिए ईशांत, सैनी और अक्षर होंगे टीम इंडिया के स्टैंड बाई राज्यपाल को पीजीआई में लगाया गया पेसमेकर, पूरी तरह हैं स्वस्थ
 

सरकार बना रही सत्यमेव जयते को झूठमेव जयते: जल पुरुष


SMT. HARSHITA PATAIRIYA 13/05/2018 17:57:35
182 Views

झांसी। जनपद में आये जल पुरुष राजेंद्र सिंह राणा ने एक विशेष वार्ता के दौरान कहा कि  भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रमुख एजेंडे में गंगा की सफाई शामिल थी, इसके लिए उन्होंने एक मंत्रालय भी ईजाद किया। 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान उन्होंने बार-बार कहा था कि वह गंगा के बेटे हैं गंगा ने उन्हें बुलाया है। आप मुझे वोट दें, लेकिन वह पीएम बनने के बाद वह गंगा को भूल गए। 

The government is making Satyamev jayate Jhootmev jayate

कई नदियों का जीवन संवारने वाले जल पुरुष राजेंद्र सिंह राणा ने पीएम पर करारा हमला बोलते हुए कहा कि 2014 चुनाव से पहले उनका नारा गंगा की अविरलता, निर्मलता था। मगर अब उनका वह नारा नहीं रहा, ऐसा लगता है कि सत्ता संवेदना खत्म कर देती है। पीएम के मन में अब गंगा नहीं बहती है, जब वह पीएम नहीं थे तब शायद उनके मन में गंगा बहती होगी।

   पिछली सरकार ने गंगा के लिए यादगार कार्य किया

पिछले चार सालों में गंगा के लिए कोई एक ऐसा काम नहीं किया, जिससे गंगा जी निर्मल या अविरल हो जाये। गंगा के लिए पिछली सरकार ने तीन बड़े निर्णय लिए थे, लुहारीनाथ पाला, पाला मनेरी और भैरवनाथ घाटी इन तीन बांधों को रद करा दिया था। जबकि इन बांधों पर 2 हजार करोड़ खर्च हो चुके थे। गंगा पर बन रहे बांधों को पिछली सरकार ने रोक दिया था। पिछली सरकार कम से कम हमारी अगली पीढ़ी को बताना चाह रही थी कि गंगा ऐसी थी, ऐसे बहती थी गौमुख से उत्तरकाशी तक गंदे नाले और निर्माण पर रोक लगा दी थी।

सरकार को सुप्रीम कोर्ट एनजीटी की फटकार

इस सरकार ने गंगा सफाई के नाम पर 20 हजार करोड़ का ऐलान किया था। इसी रकम पर सुप्रीम कोर्ट, एनजीटी और कैग ने इन्हें डांट लगाई थी, जो अनाउंस किया गया उसकी 4 प्रतिशत रकम भी खर्च नहीं कर पाए। सरकार सत्यमेव जयते को झूठमेव जयते बना रही है और झूठमेव जयते का वातावरण बनाकर लोगों को गुमराह कर रही है, लोगों को धोखा दे रही है।

Web Title: The government is making Satyamev jayate Jhootmev jayate ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया