मुख्य समाचार
जानिए जातिवाद पर हरियाणा हाईकोर्ट ने क्या टिप्पणी की स्वरा भास्कर के निशाने पर आईं प्रज्ञा ठाकुर, हेमंत पर दिया था बयान वेडिंग एनिवर्सरी पर अभिषेक ने शेयर की ऐश की फोटो, लिखा हनी मून, फैंस बोले इतना गुरूर... कॉफी विद करण मामला : पांड्या और राहुल पर लगा 20-20 लाख रुपये का जुर्माना बाइक पोल से टकराई, युवक की मौत अधिकारियों को नहीं दिखाई पड़ रहा आचार संहिता का उल्लंघन मथुरा में आइसक्रीम फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव,15 की ​बिगड़ी तबियत मोदी ने इस नेता को बताया स्पीड ब्रेकर शूट के दौरान विक्की कौशल को आई गंभीर चोटें अपने सबसे बड़े चुनावी वादे को लेकर बुरी फंसी कांग्रेस सुरवीन चावला के घर आई नन्ही परी, देखें तस्वीर खोदा पहाड़ निकली चुहिया साबित होगा नकली भतीजा-बुआ का गठबंधन : केशव मौर्य एलएचबी कोच बने सुरक्षा कवच, बची भीषण तबाही स्पाइसजेट बना जेट के कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों सहित 500 लोगों को दी नौकरी जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन पूर्वा एक्सप्रेस हादसे के चलते बाधित हुआ हावड़ा रूट पर ट्रेनों का संचालन कोहली की पारी ने दिखाया कमाल, 10 रन से जीती RCB नोट्रे डेम को पहले जैसा बनाना चाहते हैं मैक्रों, येलो वेस्ट प्रदर्शन से बिगड़ी छवि को सुधारने की कवायद सीएम योगी बोले- बाबा साहेब ने न किया होता यह काम, तो आज भी किसी जमींदार के यहां भैंस चरा रहे होते अखिलेश 
 

भीषण गर्मी में पानी के संकट से जूझ रहे शहरवासी


SMT. HARSHITA PATAIRIYA 23/05/2018 19:50:50
182 Views

Jhansi. भीषण गर्मी में पूरा बुंदेलखंड पानी से जूझ रहा है। गांवों में ही नहीं शहरों में भी त्राहि-त्राहि मची हुई है। शहर के वार्ड सागर गेट के नागरिकों ने पानी की समस्या से निजात दिलाने की मांग की है। वहीं, सामाजिक संस्था प्रिया ने पार्षद पार्षद आशीष की मौजूदगी में बैठक कर पानी बिजली व सफाई के मुद्दों पर चर्चा की। 

Water not reaching homes in the heart-middle of the city

बैठक में बस्ती विकास समिति की शारदा देवी ने बताया कि गर्मी के मौसम में पेयजल का बड़ा संकट है। चट्टानी क्षेत्र होने के कारण और ऊंचाई पर बसे होने के कारण करीब 25 घरों के लोगों के सामने पानी का संकट है। बस्ती के लोगों ने पार्षद को अवगत कराया और पार्षद ने प्रयास करके एक हैण्डपम्प के लिए बोरिंग भी करायी, लेकिन 100 फीट बोरिंग पर भी पानी नहीं मिला। अब लोगों का भरोसा पानी की टंकी और सही पाइप लाईन डालने पर है। 

स्वच्छ वातावरण प्रोत्साहन समिति के अध्यक्ष प्रभुदयाल ने बताया कि नई स्ट्रीट लाईट 02 माह पहले लगी है, किन्तु उस पर स्वीच नहीं दिया गया है। इससे वो दिन में भी जलती रहती है, शिकायत करने पर जबाब मिला कि लग जायेगा। किरन ने कहा कि बस्ती में सफाई कर्मी तो प्रतिदिन आते हैं, किन्तु वे सिर्फ झाड़ू लगाकर चले जाते हैं। ना​लियों में कूड़ा पड़ा रहता है। 

वहीं, पार्षद ने कहा कि वार्ड में सभी सफाईकर्मी महिला हैं, जो कूड़ा उठाने का कार्य नहीें करती हैं, केवल झाड़ू लगाती हैं। नगर निगम से मांग की गई है कि कुछ पुरुष कर्मियों को हस्तानांतरित किया जाए। पेयजल को लेकर उन्होंने कहा अलग से पाइपलाइन के लिए अभी बजट नहीं है। संघर्ष कर रहे हैं, किन्तु कार्य नहीं हो पा रहा है। अन्त में प्रिया की ओर से सामूहिक प्रयास जारी रखने की बात कही गई। बैठक में वार्ड से मनोज आर्या, नितिन, कुन्ती मनीष, नीरज, प्रशान्त, रजनी आदि नागरिकों ने भागीदारी की।

Web Title: Water not reaching homes in the heart-middle of the city ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया