मुख्य समाचार
अमेठी: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धूम-धाम से मनाया राहुल गांधी का जन्मदिन एरिया कमांडर समेत 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण हाईवे किनारे जड़ी बूटियां उगाकर यूपी सरकार सुधारेगी लोगों का स्वास्थ्य  लखनऊ: सीएम योगी ने लेखपालों को बांटे लैपटॉप लखनऊ में गर्मी का कहर, राज्य में 23 जून तक नहीं चलेंगे स्कूल अर्जुन पटियाला का पोस्टर्स हुआ रिलीज,फिल्म मे दिलजीत-कृति मुख्य भूमिका में पहली बार सांसद बने सनी देओल से हुई बड़ी चूक, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता  सीवर सफाई करने चैंबर में उतरे दो कर्मचारी गैस से अचेत होकर डूबें, मौत नेहा धूपिया के चैट शो में पहुंची परिणीति चोपड़ा और सानिया मिर्जा गरीब मजदूर की मजदूरी नहीं दिला पा रही मलिहाबाद पुलिस इयोन मोर्गन ने तोड़ डाला छक्कों का सबसे बड़ा रिकॉर्ड, एक पारी में लगा दिए इतने छक्के संभल में भीषण सड़क हादसा, दो बच्चों समेत आठ की मौत सपा सांसद ने नहीं लगाया वंदे मातरम का नारा तो अखिलेश ने कह दी चौंकाने वाली बात मोदी सरकार ने किये ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में संशोधन, जानिए क्या है नियम? परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक धर्मांतरण के विरोध में विहिप ने डीएम को सौंपा ज्ञापन महिला अपनी ताकत को पहचाने और समाज को यह संदेश दें कि नारी अबला नहीं अब सबला है : अनुपमा जायसवाल याचिका दायर कर पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को बैन करने की मांग दलित हत्या मामले बहन जी के करीबी नेता को अखिलेश ने सौंपी अहम जिम्मेदारी प्रत्येक विकास खण्ड की दो पंचायतों को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जाय
 

मायावती के दांव से BJP में भूचाल, चक्रव्यूह के भंवर में 2019 लोकसभा...


SHUBHENDU SHUKLA 23/05/2018 23:48:19
2158 Views

Lucknow. बसपा सुप्रीमो के दांव से बीजेपी में भूचाल आ गया है। हर तरफ मायावती की ख्याति बढ़ती ही जा रही है। यपी में उपचुनाव के बाद कर्नाटक चुनाव में कांग्रेस और जेडीएस गठबंधन सरकार बनाने को लेकर बसपा सुप्रीमो चाल कामयाब रही। अब 2019 का लोकसभा चुनाव बसपा सुप्रीमो के चक्रव्यूह के भंवर में फंसकर राजनीति कि दशा दिशा को मोड़ने में सफल होता दिख रहा है। बीजेपी की बढ़ती ताकत पर मायावती भारी पड़ती नजर आ रही हैं। 

Mayawati Rahul and Sonia Gandhi appear together in Karnataka swearing

यह भी पढ़ें...BJP के दर्जनों विधायकों को मिली धमकी, मचा हड़कंप

  लोकसभा चुनाव पर नजर

बताते चलें कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास अठावले ने बसपा सुप्रीमो  को एनडीए में शामिल होने का न्योता दे दिया। बात जो भी हो लेकिन अठवाले के इस बयान को अलग-अलग नजरों से देखा जा रहा है।

कर्नाटक में जीत के बाद हर पार्टी की नजर लोकसभा चुनाव पर टिक गई है। इसके लिए रणनीतियां भी बननी शुरू हो गई है। अखिलेश और मायावती मुलाकात इस ओर संकेत दे रही है। कई राज्यों में कांग्रेस का किला उखाड़ फेंकने वाली बीजेपी अब खुद यह समझ नहीं पा रही है कि 2019 में क्या उसका किला बच पाएगा।

यह भी पढ़ें... भाजपा सरकार में फिर आजमगढ़ को बदनाम करने की साजिश: रिहाई मंच

  विरोधी दलों के नेता एक मंच पर

कर्नाटक में बुधवार को जेडीएस नेता कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण के दौरान बीजेपी विरोधी कई पार्टियों के दिग्गज नेता एक मंच पर नजर आए। यह एकजुटता बीजेपी को अभी से आगाह कर रही है कि 2019 का चुनाव इतना सहज नहीं होगा। फिलहाल इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि बीजेपी ने कर्नाटक चुनाव में राजनीति की दिशा मोड़ दी थी। लेकिन बसपा सुप्रीमो के एक दांव में ही बीजेपी की जीत को हार में बदल दिया। लखनऊ में अखिलेश और मायावती के मुलाकात के बाद यह बात भी साफ है कि लोकसभा चुनाव की रणनीति को आकार देना शुरू हो गया है। 

  गठबंधन का रास्ता साफ

विरोधी पार्टियों की एकजुटता से इस बात के साफ संकेत मिल रहे है कि गठबंधन की रणनीति से ही बीजेपी को धूल चटाया जाएगा। जैसा कि कर्नाटक चुनाव में देखने को मिला है। इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि छोटी पार्टियां बसपा और सपा को समर्थन देंगी। हालांकि, बीजेपी भी अब राजनीति को नई दिशा देने से पीछे नहीं रहेगी। लेकिन देखना होगा कि मायावती के चक्रव्यूह में घिरती जा रही बीजेपी कौन सा चाल चलती है।

Mayawati Rahul and Sonia Gandhi appear together in Karnataka swearing

  कैराना उपचुनाव करेगी फैसला

फूलपुर और गोरखपुर उपचुनाव के बाद यूपी में बीजेपी को तगड़ा झटका लगा था। ऐसे में कैराना उपचुनाव की जीत भी राजनीति को नया मोड़ देगी। सपा-बसपा के साथ ही आरएलडी के समर्थन की चर्चा भी तेज हो गई है। बताते चलें कि आरएलडी किसानों के हितैसी पार्टियों में से एक है। ऐसे में यदि सपा-बसपा को समर्थन आरएलडी का मिलता है तो बीजेपी के लिए राह और भी मुश्किल होगी।

यह भी पढ़ें...निपाह वायरस से डरें नहीं सावधानी बरतें: डा. वेद प्रकाश

यही कारण है कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने पहली रैली में ही दलितों को 11 लाख आवास देने का मास्टर स्ट्रोक खेल दिया है। साथ ही किसानों को लेकर बड़े वादे किए हैं। फिलहाल अब इंतजार कैराना उपचुनाव का है, जो लोकसभा चुनाव का इतिहास क्या हो सकता है, यह बताएगी। 

Web Title: Mayawati Rahul and Sonia Gandhi appear together in Karnataka swearing ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया