मुख्य समाचार
विश्व कप में खिलाड़ियों के साथ जा सकेंगी पत्नियां पर BCCI ने लगाई तमाम बंदिशें साध्वी प्रज्ञा का मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान अवैध कमाई के लिए डग्गामार वाहनों पर मेहरबान है पुलिस— प्रशासन मायावती ने मुलायम की मौजूदगी में मंच किया खुलासा - गेस्टहाउस कांड के बाद भी इसलिए हुआ गठबंधन इंस्टाग्राम को लेकर आई बड़ी खबर, यूजर्स का पासवर्ड असुरक्षित तरीके से स्टोर हाईकोर्ट से भाजपा विधायक को बड़ा झटका, सुनाई गयी आजीवन कारावास की सजा  प्रियंका ने राहुल गांधी को सौंपा अपना इस्तीफा #IPL2019 : दिल्ली कैपिटल्स को 40 रन से हराकर मुंबई पहुंची दूसरे स्थान पर जेट एयरवेज की हवाई सेवाएं बंद होने पर निराश हुए फिल्मी सितारे साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ NIA कोर्ट में याचिका दायर, चुनाव लड़ने पर रोक की मांग बुधवार को जेट एयरवेज ने भरी आखिरी उड़ान कोई भी अपराजेय नहीं है, सबको हराया जा सकता है : आचार्य प्रमोद कृष्णम World Cup के लिए ईशांत, सैनी और अक्षर होंगे टीम इंडिया के स्टैंड बाई राज्यपाल को पीजीआई में लगाया गया पेसमेकर, पूरी तरह हैं स्वस्थ
 

पेयजल समस्या को लेकर महिलाओं ने मटके रखकर किया प्रदर्शन


SMT. HARSHITA PATAIRIYA 24/05/2018 19:23:09
156 Views

झांसी। पीने के पानी की किल्लत से जूझ रही महिलाएं गुरुवार को सिर पर मटके लेकर कलेक्ट्रेट जा पहुंचीं। तमाम आश्वासनों के बाद भी पानी न मिल पाने से आक्रोशित महिलाओं ने प्रदर्शन करते हुए उनकी समस्या का निस्तारण कराने की मांग की। 

Matke by women taking up the drinking water problem

कोछाभांवर के लोग इन दिनों पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। इस समस्या के लिए वहां के लोगों ने कई बार अधिकारियों के सामने समस्या को रखा। लेकिन उसका निस्तारण नहीं हो सका। इससे परेशान कोछाभांवर की दर्जनों महिलाएं सिर पर मटके, कलश आदि रखकर कलैक्ट्रेट जा पहुंचीं। उन्होंने प्रशासन और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। साथ ही जिलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी के नाम ज्ञापन सौंपते हुए बताया कि सभी महिलाएं घरेलू कामगार हैं। दूसरों के घर में मजदूरी कर पेट पालती हैं। लेकिन पीने के पानी की जुगाड़ में अधिक समय निकल जाता है, फिर भी पानीं नहीं मिल पाता है। कई बार तो खाली हाथ घर लौटना पड़ता है। इतना हीं नही सरकारी टैंकर भी उनके गांव में नहीं पहुंच रहे हैं। पानी की जुगाड़ करने के कारण वह समय पर काम करने नहीं पहुंच पा रहीं हैं। इसी के चलते उनके परिवार पर दो जून के भोजन का भी संकट मंडराने लगा है। इन सारी समस्याओं से निजात पाने के लिए पेय जल संकट से निजात पाना जरुरी है। सभी ने इस समस्या का हल खोजने की मांग की। मौके पर किशोरी, मंजू, ममता, संगीता, लक्ष्मी, नीता व सुषमा वर्मा समेत तमाम महिलायें मौजूद रहीं।

Web Title: Matke by women taking up the drinking water problem ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया