मुख्य समाचार
स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल
 

बड़ा खुलासा: निगम में कमीशनखोरी का खेल, जांच ठंडे बस्ते में, विधायक भी मैनेज!


SHUBHENDU SHUKLA 28/05/2018 23:36:54
357 Views

Lucknow. आगरा नगर निगम में बकायदा रेट लिस्ट जारी कर कमीशनखोरी का खेल चलने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। लेकिन शिकायत के बाद भी उच्च अधिकारियों ने जांच को ठंडे बस्ते में डाल दिया। यह खुलासा नामचीन समाजसेवी संजय शर्मा के जनसुनवाई पोर्टल पर दर्ज की गई शिकायत पर एक रिपोर्ट से हुआ है।

संजय ने कहा कि नगर निगम में भ्रष्टाचार की शिकायत विधायक जगन प्रसाद गर्ग ने की थी। लेकिन अब वह भी मैनेज हो गए हैं। वह सीएम को शिकायत भेजकर भ्रष्टाचार में लिप्त दोषियों व विधायक पर कार्रवाई की मांग करेंगे।   

Game of commissioning in agra nagar nigam

यह भी पढ़ें... EVM फर्जीवाड़ा: गुजरात से क्यों लाया गया? BJP के पास है इसकी चाबी...

  लगाए थे गंभीर आरोप

उन्होंने बताया कि आगरा उत्तरी से पांच बार के विधायक रहे जगन प्रसाद गर्ग ने अपनी ही सरकार में आगरा नगर निगम पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए थे। पत्र लिखकर भ्रष्टाचार की शिकायत की थी। इतना ही नहीं गर्ग ने यह भी बताया था कि नगर निगम में कौन किस काम के लिए कितना रिश्वत लेता था। काम के हिसाब से बकायदा रेट लिस्ट का जिक्र भी किया था। पत्र में यह भी शिकायत की गई थी कि निगम में कमीशनखोरी का परसेंटेज बढ़ गया है। 

यह भी पढ़ें...उपचुनाव में हार देख BJP ने आयोग को बनाया एजेंट: रमेश दीक्षित

दोषियों पर कार्रवाई की मांग

बताते चलें कि गर्ग का यह पत्र मीडिया में लीक होने के बाद सरकार की किरकिरी हुई थी। इसके बाद संजय ने सीएम जनसुनवाई पोर्टल पर शिकायत भेजकर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी। लकिन नगर निगम के आयुक्त ने यह कहकर मामला निस्तारित कर दिया कि विधायक ने शिकायत पर कोई साक्ष्य उपलब्ध नहीं कराया है। साक्ष्य उपलब्ध कराए जाने के बाद नियमानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें...सलमान खान की रेस 3 ने रिलीज से पहले कमाए 115 करोड़, जानें कैसे

  भ्रष्टाचार जीरो टॉलरेंस दिखावा

उन्होंने योगी सरकार पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि भ्रष्टाचार को लेकर जीरो टॉलरेंस की बात करना महज दिखावा है। इतना ही नहीं उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि शिकायत करने वाले विधायक भी मैनेज हो गए हैं। अब वह सीएम योगी आदित्यनाथ को कार्यशील पंजीकृत नामक संस्था से पत्र लिखकर शिकायत करेंगे। साथ ही अनुरोध करेंगे कि विधायक से शिकायत के समर्थन में प्रमाण मांगे जाए। यदि विधायक प्रमाण न दे पाएं तो उनके खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाए।

Web Title: Game of commissioning in agra nagar nigam ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया