मुख्य समाचार
जानिए जातिवाद पर हरियाणा हाईकोर्ट ने क्या टिप्पणी की स्वरा भास्कर के निशाने पर आईं प्रज्ञा ठाकुर, हेमंत पर दिया था बयान वेडिंग एनिवर्सरी पर अभिषेक ने शेयर की ऐश की फोटो, लिखा हनी मून, फैंस बोले इतना गुरूर... कॉफी विद करण मामला : पांड्या और राहुल पर लगा 20-20 लाख रुपये का जुर्माना बाइक पोल से टकराई, युवक की मौत अधिकारियों को नहीं दिखाई पड़ रहा आचार संहिता का उल्लंघन मथुरा में आइसक्रीम फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव,15 की ​बिगड़ी तबियत मोदी ने इस नेता को बताया स्पीड ब्रेकर शूट के दौरान विक्की कौशल को आई गंभीर चोटें अपने सबसे बड़े चुनावी वादे को लेकर बुरी फंसी कांग्रेस सुरवीन चावला के घर आई नन्ही परी, देखें तस्वीर खोदा पहाड़ निकली चुहिया साबित होगा नकली भतीजा-बुआ का गठबंधन : केशव मौर्य एलएचबी कोच बने सुरक्षा कवच, बची भीषण तबाही स्पाइसजेट बना जेट के कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों सहित 500 लोगों को दी नौकरी जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन पूर्वा एक्सप्रेस हादसे के चलते बाधित हुआ हावड़ा रूट पर ट्रेनों का संचालन कोहली की पारी ने दिखाया कमाल, 10 रन से जीती RCB नोट्रे डेम को पहले जैसा बनाना चाहते हैं मैक्रों, येलो वेस्ट प्रदर्शन से बिगड़ी छवि को सुधारने की कवायद सीएम योगी बोले- बाबा साहेब ने न किया होता यह काम, तो आज भी किसी जमींदार के यहां भैंस चरा रहे होते अखिलेश 
 

जिला अस्पताल में मारपीट के बाद कर्मचारियों की हड़ताल, चिकित्सकों ने भी दिया साथ


SMT. HARSHITA PATAIRIYA 31/05/2018 12:47:24
180 Views

Jhanshi. जिला अस्पताल में बीती देर रात ब्लड बैंककर्मी के साथ बेरहमी से ठेकेदारों द्वारा मारपीट करने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। सुबह से ही पूरे स्टाॅफ ने ओपीडी ठप करने के बाद कर्मचारियों समेत डाक्टरों ने हड़ताल कर दी है। कर्मचारियों ने अस्पताल में नारेबाजी करते हुए जमकर बवाल काटा। हालांकि आरोपियों के खिलाफ मुकद्मा दर्ज होने के बाद गिरफ्तारी के आश्वासन पर मामले में कुछ शांति हुई।

The staff strike after beating at the district hospital, with physicians also given

कोतवाली क्षेत्र में स्थित जिला अस्पताल में मध्यरात्रि के बाद जिला अस्पताल के ही ठेकेदार पंकज यादव, सुनील दुबे व सनी सक्सेना आदि अपने साथियों को लेकर ब्लड लेने पहुंचे थे। बताया जा रहा है कि उनका कोई परिचित किसी प्राईवेट हाॅस्पिटल में भर्ती था। तड़के 3 बजे के वक्त ब्लड बैंक में संजीव उर्फ लल्लन तथा दिनेश कुमार तैनात थे। ठेकेदार द्वारा बिना एक्सचेंज ब्लड मांगने पर संजीव ने जरूरी प्रक्रिया अपनानेे के लिए उनसे अनुरोध किया। इसी बात पर ठेकेदार बिदक गया और उसने एक बोलेरो भर गुंडे बुला लिए। फिर उक्त कर्मचारियों की जमकर मारपीट कर दी, इससे लल्लन गंभीर रूप से घायल हो गया। जबकि दिनेश का भी गला दबाया गया। दोनों को बाद में उपचार के लिए अस्पताल में एडमिट कराया गया। ठेकेदारों की गुंडई के विरोध में जिला अस्पताल के कर्मचारियों ने ओपीडी ठप कर दी। डाक्टर्स भी इस स्ट्राइक में शामिल हो गए। सभी कर्मचारी अस्पताल कैंपस में ही धरना प्रदर्शन करने लगे। वहां घंटो हंगामा नारेबाजी और बवाल काटा गया। इस पर पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। आनन फानन उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया। इसके बाद कर्मचारियों के उग्र स्वभाव में नर्मी आई थी।

पीड़ित अस्पताल कर्मी दिनेश ने बताया कि जिला अस्पताल में इससे पहले कभी किसी प्रकार की गुंडागर्दी नहीं हुई, न ही यहां कभी काम ठप करना पड़ा। सबसे विडम्बना यह है कि दुस्साहस करने वाला अस्पतााल का ठेकेदार ही  है। अस्पताल में ठेकेदार बंदूकें लहराते हैं। ठेकेदारों के लिए अस्पताल में एक रूम अलाॅट है जिसमें हर रोज रातें रंगीन की जातीं हैं। जब तक इनको ब्लैक लिस्टिड नहीं किया जाता, पुलिस कार्रवाई नहीं की जाती, हड़ताल जारी रहेगी।

  ये हैं ठेकेदारों पर आरोप

स्टाॅफ के कर्मचारियों ने ठेकेदारों पर संगीन आरोप लगाए हैं। उन्होंने बताया कि अस्पताल के अधिकारियों के बरदहस्त के चलते ये घटनाएं आम हैं। इस बारे में अधिकारी भलीभांति जानते हैं। किन्तु कोई कार्रवाई नहीं की जाती। हालांकि सीएमएस ने बताया कि ऐसी एक भी शिकायत उनके संज्ञान में इस घटना के पूर्व नहीं आई है।

  पीड़ित बोला, विधायक का है संरक्षण

पीड़ित लल्लन ने कहा कि आरोपी ठेकेदार आए दिन धमकी देते हैं कि उन्हें विधायक का संरक्षण है। कोई उनका क्या बिगाड़ लेगा। यही नहीं ठेकेदारों का यहां तक कहना है कि ठेका भी उन्हें विधायक जी ने ही दिलवाया है। हालांकि इस मामले में सदर विधायक के कुछ समर्थकों ने बताया कि उक्त ठेकेदारों के ठेके तो पूर्ववर्ती सरकार से चले आ रहे हैं।

  बोले सीएमएस, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

इस संबंध में सीएमएस डा. बीके गुप्ता ने बताया कि मामले में शिकायती पत्र के आधार पर पुलिस ने मुकद्मा दर्ज कर लिया है, जो कार आरोपी छोड़ भागे थे पुलिस ने उसे भी बरामद कर लिया है। साथ ही जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया गया है।

Web Title: The staff strike after beating at the district hospital, with physicians also given ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया