मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा
 

माया-अखिलेश ने ऐसी बनाई रणनीति, ढह गया बीजेपी का पश्चिमी किला


RAJNISH KUMAR 01/06/2018 09:07 AM
742 Views

Lucknow. देश में लोकसभा की चार और विधानसभा की 10 सीटों पर हुए उपचुनाव में बीजेपी को कई सीटों पर करारी हार का सामना करना पड़ा है। बहुचर्चित कैराना लोकसभा सीट पर रालोद उम्मीदवार तबस्सुम हसन ने भाजपा की मृगांका सिंह को बहुत बड़े अंतर से हरा दिया है। बता दें कि कैराना सीट भाजपा के लिए पश्चिमी यूपी का किला माना जा रहा था। यह सीट भाजपा के वरिष्ठ नेता हुकुम सिंह के निधन बाद खाली हुई थी। यहां से उनकी बेटी मृगांका को भाजपा ने उम्मीदवार बनाया था।

Maya-Akhilesh created such a strategy, collapsed, the western fort of BJP

पश्चिमी यूपी में भाजपा का किला मानी जाने वाली कैराना लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में रालोद प्रत्याशी तबस्सुम हसन ने एक बड़ी जीत हासिल की है। इस चुनाव में मायावती और अखिलेश का गठजोड़ भी अहम माना जा रहा है। गुरुवार को हुई मतगणना के बाद शामली की कैराना लोकसभा सीट पर राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) की प्रत्याशी तबस्सुम हसन ने भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह को भारी मतों से हराया। तबस्सुम को समाजवादी पार्टी (सपा) सहित अन्य विपक्षी दलों का समर्थन प्राप्त है।

  भाजपा अपनी जीत मान रही थी पक्की

भाजपा कैराना में अपनी जीत पक्की मान रही थी, क्योंकि पार्टी यहां से लोगों के पलायन का मुद्दा उठाकर बहुत पहले से सियासी जमीन तैयार कर रही थी। पूर्व भाजपा सांसद हुकुम सिंह के इस क्षेत्र पर पार्टी को काफी भरोसा था। गोरखपुर और फूलपुर में हार से सबक लेते हुए सत्ताधारी पार्टी ने यहां प्रचार में कोई कसर नहीं छोड़ा था। मतदान से ठीक एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बगल के मेरठ में रोड शो और बागपत में छह किलोमीटर बनी सड़क के उद्घाटन के बहाने रैली कर अपनी और योगी सरकार की उपलब्धियों का बखान और विपक्ष पर तीखे हमले कर ब्रह्मास्त्रभी चलाया था। चुनाव प्रचार खत्म होने के बाद मोदी की इस रैली पर रालोद ने आपत्ति जताई थी। इतना कुछ होने के बाद इस लोकसभा सीट पर तबस्सुम ने भाजपा की मृगांका को लगभग 50 हजार मतों से पराजित किया। ईवीएम में गड़बड़ी के बाद इस क्षेत्र के 73 बूथों पर दोबारा मतदान कराया गया।

Maya-Akhilesh created such a strategy, collapsed, the western fort of BJP

  नूरपुर में सपा का लहराया परचम

वहीं, नूरपुर विधानसभा उपचुनाव में सपा का परचम लहराया है। पार्टी के नईमुल हसन ने छह हजार से भी अधिक वोटों से भाजपा प्रत्याशी अवनि सिंह को परास्त किया है। भाजपा ने भी कैराना लोकसभा सीट को प्रतिष्ठा से जोड़कर रखा था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोकसभा क्षेत्र में चुनावी जनसभाएं कीं, तो भाजपा के कई मंत्री, सांसद, विधायकों के अलावा आरएसएस की टीमें भी चुनाव प्रचार में लगाई गई थीं। मगर कुछ भी काम न आया। पूर्व सांसद हुकुम सिंह का निधन होने से रिक्त हुई कैराना लोकसभा सीट पर सहानुभूति की हवा को देखते हुए भाजपा ने हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह को ही प्रत्याशी बनाया था। भाजपा नेताओं ने मुजफ्फरनगर के सांप्रदायिक दंगा, कैराना पलायन का मुद्दा भी जोर शोर से उठाया था।

Maya-Akhilesh created such a strategy, collapsed, the western fort of BJP

  अहंकार के अंत की शुरुआत : अखिलेश

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि कैराना और नूरपुर की जनता, कार्यकर्ताओं, उम्मीदवारों व सभी एकजुट दलों को जीत की हार्दिक बधाई। अखिलेश ने कहा कि कैराना में सत्ताधारियों की हार उनकी अपनी ही प्रयोगशाला में, देश को बांटने वाली उनकी राजनीतिक की हार है। ये एकता-अमन में विश्वास करने वाली जनता की जीत व अहंकारी सत्ता के अंत की शुरुआत है।

यह भी पढ़ें ... बड़ी ख़बर: कैराना व नूरपुर में सपा बसपा व आरएलडी की एकता की जीत, बीजेपी में कोहराम

Web Title: Maya-Akhilesh created such a strategy, collapsed, the western fort of BJP ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया