मुख्य समाचार
गौ सरंक्षण से आमजन बनें स्वावलम्बी भाजपा की इस दिग्गज महिला नेता को लगा बड़ा झटका, मायावती के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने पर केस दर्ज बेकाबू कार ने मारी कई गाड़ियों को टक्कर 15 हजार के इनामी चार लुटेरे लूट के 1.30 लाख के साथ गिरफ्तार लोकसभा चुनाव : सातवें चरण की 13 सीटों के लिए नामांकन 22 अप्रैल से आजम खान के बाद उनके बेटे ने जया प्रदा को लेकर दिया विवादित बयान SSC में आवेदन का अंतिम मौका आज बीएसपी पर योगी सरकार में मंत्री का तंज - साहब दुनिया छोड़ गये, अब बीवी और गुलाम बचे हैं IPL 2019 : धोनी की दमदार पारी के बावजूद भी एक रन से हार गई चेन्नई मंगेतर की मांग नहीं पूरी कर सका तो खा लिया जहर, मौत इस विधायक की सदस्यता समाप्त करने के लिए कांग्रेस में प्रक्रिया शुरु  इस नामी भाजपा प्रत्याशी पर एमसीसी उल्लंघन का दर्ज हुआ मुकदमा लोन लेने से पहले जान लें ये खास बातें, ईएमआई भरने में नहीं होगी परेशानी सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सहित 5 लोगों को फर्जीवाड़े में सात साल की सजा राबड़ी का केन्द्र पर गंभीर आरोप, लालू को जहर देकर मारना चाहती है सरकार सलमान ने शादी न करने की बताई यह खास वजह, जानकर रह जाएंगे हैरान कांग्रेस प्रत्याशी आचार्य प्रमोद कृष्णम् पहुचे कैथेड्रल चर्च #IPL2019 : पंजाब को पांच विकेट से हराकर दिल्ली के दिलवालों की जीत झोपड़ी में लगी आग, वृद्ध जिन्दा जला यूपी में सपा को लगा बड़ा झटका, दिग्गज नेता और उसके समर्थक कांग्रेस में शामिल स्मृति ईरानी के खिलाफ डिग्री मामले में कांग्रेस नेता ने की चुनाव आयोग में शिकायत विदेश सचिव दो दिवसीय चीन के दौरे पर लखनऊ के 37 उम्मीदवारों के चुनाव लड़ने के मंसूबों पर फिरा पानी
 

डॉक्टर के खिलाफ करें एफआईआर दर्ज


SMT. HARSHITA PATAIRIYA 03/06/2018 19:52:35
114 Views

झांसी। महिला की डिलीवरी के बाद डाक्टर ने लापरवाही बरतते हुए गलत ब्लड चढ़ा दिया, जिससे उसके गुर्दे खराब हो गये और इलाज के दौरान मौत हो गयी। डाक्टरों की लापरवाही पर उनके खिलाफ पुलिस मामला भी दर्ज नहीं कर रही थी। इस बात को लेकर पीड़ित पक्ष न्यायालय में न्याय की गुहार लगाई। कोर्ट ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच टीम गठित की, जांच रिपोर्ट आने पर पीड़ित का प्रार्थना पत्र स्वीकार करते हुए थानाध्यक्ष को उक्त मामले को सुसंगत धाराओं में दर्ज कर न्यायालय को अवगत कराने के आदेश दिये। 

Do Fir Lodge against doctor

मध्य प्रदेश में दतिया के रहने वाले रीतेश शर्मा ने न्यायालय मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट झांसी को एक प्रार्थना पत्र 20 जनवरी 2018 को दिया। उक्त प्रार्थना पत्र के माध्यम से आरोप लगाया गया कि उसकी पत्नी प्रियंका को डिलेवरी के लिए महारानी लक्ष्मी बाई मेडिकल कालेज पर स्थित एक निजि नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया था। डिलेवरी के उपरान्त डाक्टर ने ब्लड की मांग की। मरीज प्रियंका का ब्लड ग्रुप ओ पोजीटिव होने के बाद भी लापरवाही बरतते हुए ए बी पोजीटिव चढ़ा दिया गया। ब्लड चढ़ते ही मरीज को सर्दी लगने लगी व घबराहट आदि की शिकायत के बाद यूरिन आना बन्द हो गयी।

डाक्टर इलाज करते रहे मरीज के गुर्दे फेल होने के बाद उसे अगले दिन नेफ्रोलाॅस्टि के पास रिफर कर दिया। वहां भी डाक्टर ने साफ कह दिया कि गलत ब्लड चढ़ने के कारण मरीज के गुर्दे फेल हो गये है इलाज के दौरान मरीज की मौत हो सकती है। इसके बाद मरीज का डायलिसिस व अन्य जांचें की गयी लेकिन मरीज की मौत हो गयी। पीड़ित ने मरीज का ब्लड ग्रुप ओ पोजीटिव होने के प्रमाण, जांचें व दोनों अस्पताल में हुए इलाज की फाइलें जांच रिपोर्ट, मृत्यु प्रमाण पत्र जिसमें मौत का कारण भी लिखा है । उक्त दस्तावेज न्यायालय के सामने रखे। रिपोर्ट दर्ज न होने पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को भेजे गये पत्र की छाया प्रति भी कोर्ट के समक्ष रखी। कोर्ट ने दस्तावेजों का अध्यन कर मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्य चिकित्साधिकारी को जांच टीम बनाने के निर्देश दिये। जांच टीम की जांच रिपोर्ट के पश्चात कोर्ट ने नवाबाद थानाध्यक्ष को पीड़ित के प्रार्थना पत्र को स्वीकार करते हुए सुसंगत धाराओं में मामला दर्ज कर कोर्ट को एक सप्ताह में अवगत कराने के आदेश दिये। अधिवक्ता राम विहारी बिलगैंया रहे।

Web Title: Do Fir Lodge against doctor ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया