मुख्य समाचार
जानिए जातिवाद पर हरियाणा हाईकोर्ट ने क्या टिप्पणी की स्वरा भास्कर के निशाने पर आईं प्रज्ञा ठाकुर, हेमंत पर दिया था बयान वेडिंग एनिवर्सरी पर अभिषेक ने शेयर की ऐश की फोटो, लिखा हनी मून, फैंस बोले इतना गुरूर... कॉफी विद करण मामला : पांड्या और राहुल पर लगा 20-20 लाख रुपये का जुर्माना बाइक पोल से टकराई, युवक की मौत अधिकारियों को नहीं दिखाई पड़ रहा आचार संहिता का उल्लंघन मथुरा में आइसक्रीम फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव,15 की ​बिगड़ी तबियत मोदी ने इस नेता को बताया स्पीड ब्रेकर शूट के दौरान विक्की कौशल को आई गंभीर चोटें अपने सबसे बड़े चुनावी वादे को लेकर बुरी फंसी कांग्रेस सुरवीन चावला के घर आई नन्ही परी, देखें तस्वीर खोदा पहाड़ निकली चुहिया साबित होगा नकली भतीजा-बुआ का गठबंधन : केशव मौर्य एलएचबी कोच बने सुरक्षा कवच, बची भीषण तबाही स्पाइसजेट बना जेट के कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों सहित 500 लोगों को दी नौकरी जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन पूर्वा एक्सप्रेस हादसे के चलते बाधित हुआ हावड़ा रूट पर ट्रेनों का संचालन कोहली की पारी ने दिखाया कमाल, 10 रन से जीती RCB नोट्रे डेम को पहले जैसा बनाना चाहते हैं मैक्रों, येलो वेस्ट प्रदर्शन से बिगड़ी छवि को सुधारने की कवायद सीएम योगी बोले- बाबा साहेब ने न किया होता यह काम, तो आज भी किसी जमींदार के यहां भैंस चरा रहे होते अखिलेश 
 

केंद्रीय जांच दल ने ग्रामीणों से जानी सूखे की हकीकत


SMT. HARSHITA PATAIRIYA 06/06/2018 20:42:53
244 Views

Jhansi. केन्द्रीय जांच दल ने सूखाग्रस्त गांवों का भ्रमण किया। भ्रमण के दौरान टीम ने स्थिति को काफी भयावह माना। किसानों ने टीम से बात कर बताया कि लगभग 3 साल से कोई फसल नहीं बोई गई। पानी न होने से रोजी-रोटी के लिए ग्रामीण पलायन करने को मजबूर हैं। चैपाल में ग्रामीणों ने जांच दल को अपनी समस्या से रुबरु कराया। इसके साथ ही चैपाल में अंत्योदय परिवार को सूखा राहत पैकेट का भी वितरण कराया।

Investigation Team Chaipal in villages the reality of the dried up of villagers

केन्द्रीय जांच दल के सदस्य व टीम लीडर डा. जेपी मिश्रा सलाहकार कृषि नीति आयोग भारत सरकार, एससी शर्मा ने अधिकारियों के साथ ग्राम खजराहा बुजुर्ग विकास खण्ड बबीना पहुंचे। वहां उन्होंने प्राथमिक पाठशाला में चैपाल लगाई। चैपाल में ग्रामीणों से जानकारी ली कि पेयजल के लिए पैसा तो नहीं लिया जा रहा है। गांव में हैंडपम्प की जानकारी ली।

ग्राम प्रधान ने बताया, 9500 आबादी वाले गांव में 84 हैंडपम्प है परंतु अभी 57 ही पानी दे रहे हैं। 2 टैंकरों से पानी आपूर्ति की जा रही है। पानी न होने से खेती नहीं हुई तथा जानवरों के लिए चारा भी नहीं है। चैपाल में 51 अंत्योदय लाभार्थियों को सूखा राहत अंतर्गत खाद्यान्न पैकेट का वितरण, विद्युत आपूर्ति के बारे में भी जानकारी ली।

वही, ग्राम मथुरापुरा के प्रधान पति विनोद शर्मा ने सूखे के कारण पलायन होने की जानकारी दी। साथ पानी के लिए स्थाई हल हेतु क्षेत्र में नहर की मांग की। चैपाल में ग्रामीणों ने बताया कि करीब 3 साल से कोई फसल नहीं बोई गई। तीन कुएं खेदे गए थे जीनों सूख गए है। भ्रमण के दौरान जिलाधिकारी शिवसहाय अवस्थी,, एडीएम एनशर्मा, एसडीएम अन्नुय झा समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Web Title: Investigation Team Chaipal in villages the reality of the dried up of villagers ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया