मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल
 

राहुल गांधी की सबसे बड़ी रणनीति, BJP और RSS का होगा सफाया


SHUBHENDU SHUKLA 27/06/2018 11:18:12
703 Views

Lucknow. राहुल गांधी की ये रणनीति BJP और RSS दोनों का सफाया करने में रामबाण की तरह काम करेगी। राहुल ने आरएसएस के मुकाबले कांग्रेस सेवादल को मजबूत बनाकर खड़ा करने का अहम निर्णय लिया है। इसके लिए उन्होंने योजना भी तैयार कर ली है। कांग्रेस जानकारों की माने तो राहुल का यह निर्णय बीजेपी पर भारी पड़ेगी। कांग्रेस सेवादल मजबूत होने के बाद लोकसभा चुनाव में इसके दूरगामी परिणाम देखने को मिलेंगे। बताते चलें कि लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टी के शीर्ष नेताओं में घमासान छिड़ चुका है। अपने हर दांव और रणनीति को पार्टी के नेतृत्वकर्ता मजबूत स्थिति में हैं। 

Rahul Gandhi biggest strategy

यह भी पढ़ें...लोकसभा चुनाव: मायावती व अखिलेश ने लिया अहम फैसला, दलबदलुओं को सिखाएंगे...

  हार के पीछे आरएसएस

लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस बाजी पलटने को लेकर पूरी जी-जान से जुटी है। पिछला लोकसभा चुनाव हारने के बाद से कांग्रेस लगातार अन्य राज्यों को भी हारती रही है। जिसको लेकर आएएसएस की भूमिका एहसास होने लगा है। ऐसे में कांग्रेस सेवादल को मजबूत बनाकर टक्कर देना चाहती है। यह भी माना जा रहा है कि आरएसएस की हर चाल का काट कांग्रेस सेवादल ही है। सेवादल के कमजोर होने पर संघ मजबूत हुआ है। विजय पताका फहराने के लिए राहुल ने एक बार फिर सेवादल की दिशा को मजबूत बनाने की सोची है। इसकी शुरुआत अमेठी और रायबरेली से करने की योजना भी है। 

यह भी पढ़ें...आरोपी दाती बाबा कांड: पूछताछ के समय आपस में उलझे अन्य आरोपी

  सेवादल का इतिहास

कांग्रेस के सेवादल के इतिहास की बात करें तो इसकी कार्यशैली आरएसएस की तरह ही है। सेवादल का इतिहास काफी पुराना है। लेकिन वर्तमान में यह संगठन सक्रिय नहीं है। सेवादल का गठन वर्ष 1923 में हिन्दुस्तानी सेवादल के नाम से हुआ था। इसके बाद इसे कांग्रेस सेवादल का नाम दे दिया गया। इसके बाद आएएसएस की तरह सेवादल पर भी प्रतिबंध लगा  अंग्रेज हुकूमत के दौरान वर्ष 1932 से 1937 तक हिन्दुस्तानी सेवादल को आतंकी संगठन घोषित कर प्रतिबंधित कर दिया गया था।

यह भी पढ़ें...दाती बाबा को लेकर सबसे बड़ा खुलासा, बचपन में कर डाली थी...

  इंदिरा ने खड़ा किया

स्वतंत्रता के बाद इंदिरा गांधी ने आपातकाल के बाद सेवादल की याद आई और इंदिरा गांधी ने सेवादल सक्रिय किया। इसके बाद सेवादल मजबूत संगठन के रूप में उभरी। वहीं, राजीव गांधी ने 1983 में सेवादल के कैंप में रहकर 7 दिनों की स्पेशल ट्रेनिंग ली। उनके निधन के बाद कांग्रेस सेवादल कमजोर होता चला गया। इसके बाद 2000 तक सेवादल भी कांग्रेस के दूसरे फ्रंटल संगठनों की तरह हो गया। अब जब कांग्रेस के सामने मुसीबत आई तो राहुल गांधी ने सेवादल को मजबूत बनाने का निर्णय लिया है। राहुल ने सेवादल की नई रणनीति के तहत आरएसएस के विरोध में खड़ा करने का फैसला किया है। कांग्रेस इसके लिए पूरी तैयारी भी कर चुका है।

Rahul Gandhi biggest strategy

Web Title: Rahul Gandhi biggest strategy ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया