मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

अंधविश्वास: गाड़े धन के लिए पिता ने नाबालिग बेटे की दे दी बलि


SHUBHENDU SHUKLA 30/06/2018 12:36:38
451 Views

Jaipur. देश में सख्त कानून के बावजूद अंधविश्वास के नाम पर बलि देने की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है। राजस्थान के भरतपुर में पिता की काली करतूतों का होश उड़ाने वाला सनसनीखेज मामला सामने आया है। आरोप है कि दौतल के लिए पिता अंधा हो चुका था। उसने तांत्रिक की मदद से 16 वर्षीय नाबालिग बेटे की बलि देकर शव घर के अंदर ही जला दिया। 

andhavishvaas me Bete kI De Di Bali

यह भी पढ़ें...बड़ी खबर: इस निर्णय को लेकर ​दलित नेताओं में खलबली, BSP गठबंधन घमासन से हड़कंप...

  क्या है मामला

घटना राजस्थान के भरतपुर की है। यहां पुश्तैनी संपत्ति के लालच में पड़कर पिता भूरी सिंह तांत्रिक से सलाह ली। तांत्रिक ने बताया कि जमीन में धन गाड़ा हुआ है। जब इस बात की जानकारी भूरी को हुई तो अपने पोते राजवीर​ सिंह 16 की बलि देने का फैसला कर लिया। इसके बाद पोते कौ मौध के घाट उतार दिया और उपलों में रखकर शव को जला दिया। जब ग्रामीणों को अधजले शव की जानकारी हुई तो पुलिस को सूचना दी। जब ग्रामीणों ने अधजले शव के बारे में नाबालिग के पिता इंद्रजी और दादा भूरी से पूछ तो बताया कि छत से गिरने के कारण मौत हो गई।

यह भी पढ़ें...बड़ी खबर: इस निर्णय को लेकर ​दलित नेताओं में खलबली, BSP गठबंधन घमासन से हड़कंप...

  ऐसे हुआ खुलासा

सूचना पर पहुंची पुलिस ने पिता और दादा को पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया। जांच में पुलिस को पता कि दादा भूरी सिंह खुद ही तंत्र मंत्र करता है और अंधविश्वास में लिप्त रहता है। वह खुद भी जमीन में गाड़े पुराने धनों को निकालने का काम करता है। इसके पहले दादा ने बेटे के साथ मिलकर बड़े पोते की ​बलि देने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहे। बेटे को इस बात की जानकारी लगते ही वह घर छोड़कर रात को दूसरों के यहां रहता है। जब बड़े बेटे की बलि देने में दादा नाकाम रहा तो छोटे पोते राजवीर को शिकार बना डाला। पुलिस ने दादा और उसके बेटे को गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ में जुट गई है।

 

Web Title: andhavishvaas me Bete kI De Di Bali ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया