लोकसभा चुनाव: मायावती का एक्शन मूड, इन नेताओं पर गिरेगी गाज, टिकट की दावेदारी पर...


SHUBHENDU SHUKLA 09/07/2018 22:21:17
2593 Views

Lucknow. लोकसभा चुनाव के जंग की तैयारियों को लेकर बसपा सुप्रीमो मायावी जमीनी स्तर से पार्टी को मजबूत करने में जुट गई हैं। सूत्रों के मुताबिक बसपा सुप्रीमो पार्टी के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की किसी भी लापरवाही पर राहत देने के मूड में नहीं है। जो भी निष्क्रिय और पार्टी के प्रति लापरवाह लोग हैं, उनकी लिस्ट तैयार करने के आदेश मायावती ने प्रदेश अध्यक्ष आरएस कुशवाहा से प्रदेश प्रभारियों को सौंपने को दिया है। गठबंधन को बसपा सुप्रीमो ने किनारे रख पार्टी के अंदर बैठे दीमकों के सफाए पर ध्यान केंद्रित किया है। वहीं, प्रदेश अध्यक्ष ने भी इस ओर काम शुरू कर दिया है। उन्होंने संगठन के नेताओं से बैठक कर पार्टी के प्रति निष्क्रिय लोगों की रिपोर्ट तैयार कर भेजने को कहा है। इस तरह के पदाधिकारियों के टिकट दावेदारी पर भी रोक लगेगी। 

Mayawati Big Strategy To Strengthen The BSP party

यह भी पढ़ें...दिव्यांगजनो को कृत्रिम अंग उपलब्ध कराने के लिए शिवर का अयोजन 18 से: DM

  इन पर नजर

लोकसभा चुनाव के पहले उपचुनावों में ​बसपा सुप्रीमो ने सपा को समर्थन देकर बीजेपी को करारी शिकस्त दी। साथ ही अपनी ताकत का अहसास भी विरोधियों को दिखाया। इसके बाद से सपा बसपा गठबंधन के आसार तेज हो गए। इतना ही नहीं गठबंधन का अप्रत्याक्ष तौर पर ऐलान भी किया गया। लेकिन सीटों के बंटवारे को लेकर पेंच अटक गया। ऐसे में बसपा सुप्रीमो पार्टी को मजबूत करने में जुट गई हैं। गठबंधन को लेकर उनका चुप रहना भी इस ओर संकेत करता है। यही कारण है कि मायावती ने यूपी के 75 जिलों के जिलाध्यक्षों को सजग रहने और लापरवाह कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की लिस्ट तैयार करने को कहा है। मायावती के एक्शन मूड से साफ है कि वह लोकसभा चुनाव में किसी भी तरह से ढील नहीं देना चाहती हैं। साथ ही उन्होंने अपने करीबी और खास लोगों को जिम्मेदारी सौंपी है कि भाजपा से नाराज चल रहे नेताओं नजर रखें और पार्टी में लाएं। 

यह भी पढ़ें...गठबंधन रोकने को BJP की बड़ी चाल, इधर बन गया सीटों का समीकरण!

  बड़े बदलाव से संकेत

बताते चलें कि बसपा सुप्रीमो ने पूर्व के चुनावों से सबक लेते हुए पुरानी गलतियों को नहीं होने देना चाहती हैं। वह पार्टी में सुधार को लेकर कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती हैं। यही कारण है कि राष्ट्रीय से लेकर प्रदेश स्तर तक संगठन में बड़े बदलाव भी किए गए हैं। उन्होंने जहां अपने सबसे करीबी रामअचल राजभर को राष्ट्रीय महासचिव बनाया है। वहीं, राष्ट्रीय स्तर पर पहली बार दो कोआर्डिनेटर वीर सिंह और जयप्रकाश को बनाया है। 

यह भी पढ़ें...बड़ी खबर: इस निर्णय को लेकर ​दलित नेताओं में खलबली, BSP गठबंधन घमासन से हड़कंप...

  BJP पोल खोलो अभियान

बसपा ने बीजेपी पोल खोलो अभियान भी चला रखा है। साथ ही प्रदेश के सभी जिलों का दौरा करने का आदेश मायावती ने दिए हैं। उनकी बातों पर अमल करते हुए वरिष्ठ पदाधिकारी व नेता जिलेवार बैठक कर लोकसभा चुनाव की जीत को लेकर रणनीति तैयार कर रहे हैं। बसपा सुप्रीमो ने यह भी निर्देश दिया है कि विधानसभा और सेक्टर गठन में जेती लाई जाए। आगामी अक्टूबर माह तक सभी बूथों में बसपा कार्यकर्ताओं की फौज लग जानी चाहिए। पार्टी सूत्रों की माने तो बूथ कमेटियों के गठन पर तेजी से काम किया जा रहा है। गांव, मोहल्लों में चौपाल कार्यक्रम का आयोजन कर बीजेपी के दावों की पोल खोलने का काम किया जा रहा है। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा है कि पार्टी 2019 में जिस तरीके से तैयारी कर रही है, सफलता उसे ही मिलेगा। लोकसभा चुनाव में बिना बसपा के समर्थन किसी की सरकार नहीं बनेगी। 

Mayawati Big Strategy To Strengthen The BSP party

Web Title: Mayawati Big Strategy To Strengthen The BSP party ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया