किस तरह गरीबों का हक मार करोड़पति लोग करवा रहे फ्री में बच्चों का एडमीशन 


GAURAV SHUKLA 11/07/2018 10:46:12
512 Views

Lucknow. बॉलीवुड की फिल्म हिन्दी मीडियम तो आपने देखी ही होगी, इस फिल्म में एक अमीर परिवार गरीब बन अपने बच्चे का एडमीशन नामी स्कूल में करवाता है। फिलहाल फिल्म से इतर इसी घटना की सच्चाई यूपी के नोएडा में देखने को मिली। जहां नोएडा ग्रेनो एक्सप्रेसवे से सटे छपरौली बांगर में एक व्यक्ति ने करोड़पति होने के बावजूद खुद को गरीब दिखा बच्चे का एडमीशन एक अच्छे स्कूल में करवा लिया। वहीं जांच में जब इस फर्जीवाड़े का खुलासा हुआ तो बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से सोमवार को नोएडा के एक्सप्रेस वे थाने में बच्चे के पिता के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई गयी। 

baccho ka free me admission
प्रकरण के सामने आने के बाद गौतमबुद्धनगर के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बालमुकुंद प्रसाद ने बताया कि निःशुल्क और अनिवार्य बाल शिक्षा अधिकार अधिकार अधिनियम 2009 की धारा 12(1)(ग) के तहत दुर्बल वर्ग के बच्चों का प्रवेश निजी स्कूलों में कराया जाता है। जिसके चलते मौजूदा सत्र के लिए ऑनलाइन व ऑफलाइन आवेदन मांगे गये थे। आवेदन आने के बाद दो चरणों में ऑनलाइन लॉटरी के तहत 1321 स्टूडेंट्स के 182 निजी स्कूलों में एडमिशन करवाए गये। इसमें से 469 आवेदन दुर्बल आय वर्ग के लिए किये गये। 

ऐसे हुआ खुलासा 

दरअसल बच्चों के अभिभावकों ने अपनी आय का प्रमाण पत्र लगाया था। जिसके बाद जांच के लिए आवेदक की संपत्ति की जानकारी स्टांप एवं रजिस्ट्रेशन विभाग से रिपोर्ट मांगी गयी। इसकी बाद तीन साल में आयकर रिटर्न करने वालों की भी जांच हुई। जांच में खुलासा हुआ कि नोएडा के सेक्टर 168 के निकट स्थित छपरौली बांगर निवासी सुनील चौहान पुत्र जयपाल सिंह की ओर से किये आवेदन में गड़बड़ी मिली। 
आपको बता दें लगाए गये दस्तावेज और जांच में मिले रिकॉर्डस में फर्क था। आवेदक के पास अच्छी खासी प्रापर्टी मौजूद थी और वह करोड़पति हैं। करोड़पति होने के बावजूद सुनील ने को गरीब बताते हुए फर्जी प्रमाण पत्र लगा बच्चे का एडमिशन सरकारी योजना के तहत नोएडा के एक स्कूल में फ्री में करवाया। 

क्या कहते हैं जिम्मेदार 

मामले में गौतमबुद्धनगर के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी बालमुकुंद प्रसाद का कहना है कि सुनील चौहान के खिलाफ नोएडा के थाना एक्सप्रेसवे में रिपोर्ट दर्ज करवाई गयी है। उसके बाद बच्चे का नाम स्कूल से कटवाया जाएगा। सुनील के अलावा अन्य लाभार्थियों की भी जांच की जा रही है। जांच के बाद जिन लोगों का नाम उजागर होगा उनके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई जाएगी। 

Web Title: baccho ka free me admission ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया