मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

वृद्ध माता पिता को घर से निकाला, सीएम से शिकायत के बाद भी न्याय नहीं...


SHUBHENDU SHUKLA 16/07/2018 21:43:26
245 Views

Lucknow.  जहां एक तरफ मां-बाप अपने बच्चों को पढ़ा लिखा कर अपने बुढ़ापे की लाठी मानते हैं। वहीं, कुछ ऐसी औलादें भी होती हैं कि बुढ़ापे पर उसी लाठी से मारने से बाज नहीं आते हैं। ऐसी ही एक ही एक घटना गोमतीनगर थानाक्षेत्र विनय खंड में देखने को मिली है। जहां बेटे ने शादी के बाद से ही मां-बाप पर जुल्म ढाने लगा और देखते ही देखते आलम यह रहा कि बहु बेटे ने एक दिन मां-बाप को घर से बाहर निकाल दिया। जिसके बाद से मां-बाप दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। वृद्ध दंपति ने मामले की शिकायत सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ, डीएम और पुलिस प्रशासन से भी की। लेकिन सभी कान में तेल डालकर सोए हुए हैं। 

Case in Lucknow Elderly parents out of the house

यह भी पढ़ें...साहित्यकार सुरेश कुमार की पुस्तकों का होगा लोकार्पण, नौ विभूतियों का सम्मान

  क्या है मामला

पूरा मामला गोमतीनगर थाना क्षेत्र के विनयखण्ड का है। जहां पीड़ित बाप राम लखन बाबू 64 वर्षीय ने बताया कि उसके बेटे अमित कुमार कश्यकप जोकि एयरफोर्स से रिटायर्ड होने के मुरादाबाद में पीएनबी बैंक में अधिकारी के पद तैनात हैं। तो वहीं, अपनी पत्नी सुदीप्ति कश्यप जो कि बहराइच में अध्यापक हैं। रामलखन की पत्नी प्रेम कुमारी 62 वर्षीय को घर से निकाल दिया है। वहीं, पीड़ित पिता ने बताया कि उसकी पत्नी की तबियत भी इतनी खराब है कि उसने चौक में किराए पर मकान लेकर रह रहा है, जो एकदम खंडहर है।

Case in Lucknow Elderly parents out of the house

यह भी पढ़ें...लोकसभा चुनाव: पूर्व राज्यपाल ने कहा, PM पद की दावेदारी मायावती को और...

  10 लाख रुपयों की मांग

पीड़ित पिता का कहना है कि बहु-बेटे ने अपना एक मकान वास्तु खंड में बनवाया हुआ है लेकिन उसमें रहने नहीं जाते हैं। साथ ही कहा है कि बहु-बेटे घर मे घुसने के लिए 10 लाख रुपयों की मांग भी कर रहे हैं। लेकिन उनके पास इतने पैसे देने को नहीं हैं। शिकायत पुलिस से भी की है, लेकिन कार्रवाई नहीं हो रही है। वहीं, 2 दिन से धरने पर बुजुर्ग दंपति की हालत खराब हो गई तो आनन-फानन में पहुंची पुलिस ने पीड़ित बुजुर्गों को पास के अस्पताल लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया जहां उनका इलाज चल रहा है। 

क्या हो गया समाज को?

लेकिन सवाल यह है कि इस कलयुग के दौर में जिन बच्चों को मां बाप ने अच्छी तालीम दी और नौकरी लायक बनाया। वहीं, बच्चे मां-बाप को घर से बाहर निकाल दिया यहां तक कि देखने तक नहीं आए। आखिर क्या हो गया है, इस समाज को? जो अपने मां-बाप को अकेला रोने के लिए छोड़ देते हैं।

Case in Lucknow Elderly parents out of the house

 

Web Title: Case in Lucknow Elderly parents out of the house ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया