सुप्रीम कोर्ट का अहम फैसला, परीक्षार्थी देख सकेंगे उत्तर पुस्तिका


SHUBHENDU SHUKLA 19/07/2018 10:27:34
311 Views

New delhi. सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को दिए अपने अहम फैसले में अभ्यर्थियों को उत्तर पुस्तिका देखने का अधिकार दे दिया है। कोर्ट के इस फैसले से परीक्षार्थियों में खुशी की लहहर है। कोर्ट ने उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) को सिविल जज (जूनियर डिविजन) परीक्षा, 2016 के एक परीक्षार्थी को उत्तर पुस्तिका दिखाने का आदेश दिया है। बताते चलें कि इस फैसले के पहले इलाहाबाद हईकोर्ट में भी एक परीक्षार्थी ने उत्तर पुस्तिका दिखाने की गुहार लगाई थी। लेकिन हाईकोर्ट ने इंकार कर दिया था। 

 Supreme Court decision The Examinee will be able to see the answer sheet

यह भी पढ़ें...मारपीट से महिला की मौत, आरोपी पति गिरफ्तार

  चार हफ्ते का समय 

जस्टिस मदन बी लोकुर और जस्टिस दीपक गुप्ता की पीठ ने कहा कि यूपीपीएससी एक तारीख निर्धारित करे और अभ्यर्थी मृदुल मिश्रा को उत्तर पुस्तिका दिखाए। चार हफ्ते में कोट के आदेशों का पालन सुनिश्चत करें। पीठ ने यह भी कहा कि इस कार्य  से सरकार के कामकाज पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।  

यह भी पढ़ें...अग्निशमन मानक हेल्थ सिटी हॉस्पिटल के ठेंगे पर, नोटिस जारी

  अभ्यर्थी का अधिकार

याचिकाकर्ता मृदुल के वकील ने पीठ के समक्ष तर्क रखा कि उत्तर पुस्तिका अभ्यर्थी का अधिकार है। अभ्यर्थियों के अधिकार को छना नहीं जा सकता। हर परीक्षाथी को उसका अधिकार मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्ष 2016 में आयोजित परीक्षा में मृदुल को 1100 में 535 अंक मिले थे। वहीं, अंतिम रूप से चयन 538 अंक पाने वाले अभ्यसर्थी का हुआ था। इसके पहले याचिकाकर्ता ने आयोग के समक्ष भी उत्तर पुस्तिका दिखाने की अपील की थी। लेकिन आयोग ने मना कर दिया था। थक हार कर अभ्यर्थी को हाईकोर्ट की शरण लेनी पड़ी। लेकिन यहां भी उसे राहत नहीं मिली थी।

Web Title: Supreme Court decision The Examinee will be able to see the answer sheet ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


loading...