मॉब लिंचिंग : RSS नेता इंद्रेश कुमार का बेतुका बयान, कहा - बीफ खाना छोड़ दिया...


SUYOGYA RAJ DWIVEDI 24/07/2018 11:05:40
512 Views

RSS LEADER INDRESH KUMAR CONTROVERSIAL STATEMENT OVER MOB LYNCHING

नई दिल्ली। जहां एक तरफ पूरे देश में मॉब लिंचिंग के खिलाफ आक्रोश का माहौल देखने को मिल रहा है तो वहीं दूसरी तरफ देश के तमाम संगठनों के नेता अजीबो-गरीबो बयानबाजी से बाज नहीं आ रहे हैं। इसी क्रम में आरएसएस के संगठन राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के संरक्षक इंद्रेश कुमार ने भी इस मामले में बयान दिया है। इंद्रेश ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं को बीफ से जोड़ते हुए कहा है कि अगर देश में लोग बीफ खाना बंद कर देते हैं, तो इस तरह की घटनाएं खत्म सकती हैं। 

  क्या कहा इंद्रेश कुमार ने... 

मॉब लिंचिंग पर बात करते हुए कुमार ने कहा कि, "मॉब लिंचिंग को सही नहीं ठहराया जा सकता, लेकिन अगर लोग बीफ खाना छोड़ दें तो 'शैतानों' द्वारा किए जाने वाले इस तरह के अपराधों को रोका जा सकता है। आगे उन्होंने कहा कि कोई भी धर्म गाय को मारने की इजाज़त नहीं देता है। चाहे वो ईसाई धर्म हो या इस्लाम. ईसाई धर्म 'होली काऊ' की बात करता है, क्योंकि जीसस का जन्म खुद ही गोशाला में हुआ था. इस्लाम की बात करें तो मक्का और मदीना में आज भी गायों को मारने पर रोक है। इंद्रेश ने कहा कि इस मामले में कानून को अपनी भूमिका अदा करनी चाहिए पर ऐसी समस्याओं का हल संस्कारों से ही संभव है। 

  क्या है मामला ?

अलवर के रामगढ़ थाना क्षेत्र में 20 जुलाई की देर रात कुछ लोगों ने गोतस्करी के शक में रकबर खान की पिटाई कर दी थी. जिसके बाद पुलिस रकबर को थाने ले गई थी. आरोप है कि पुलिस रकबर को अस्पताल ले जाने से पहले गाय को गोशाला छोड़ने गई. साथ ही पुलिस ने उसे अस्पताल ले जाने में काफी देरी की, जिसके चलते उसने बिना इलाज के दम तोड़ दिया। राजस्‍थान सरकार ने अपनी लापरवाही मान ली है. इस मामले में 5 पुलिसकर्मियों को सजा दी गई है. इसके तहत थाना इंचार्ज इंस्पेक्टर सुभाष शर्मा को सस्पेंड कर दिया गया जबकि एएसआई मोहन चौधरी को लाइन हाजिर किया गया है. इसके अलावा उस समय ड्यूटी पर मौजूद तीन पुलिसकर्मियों को भी लाइन हाजिर किया गया है।

Web Title: RSS LEADER INDRESH KUMAR CONTROVERSIAL STATEMENT OVER MOB LYNCHING ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया