मुख्य समाचार
जानिए जातिवाद पर हरियाणा हाईकोर्ट ने क्या टिप्पणी की स्वरा भास्कर के निशाने पर आईं प्रज्ञा ठाकुर, हेमंत पर दिया था बयान वेडिंग एनिवर्सरी पर अभिषेक ने शेयर की ऐश की फोटो, लिखा हनी मून, फैंस बोले इतना गुरूर... कॉफी विद करण मामला : पांड्या और राहुल पर लगा 20-20 लाख रुपये का जुर्माना बाइक पोल से टकराई, युवक की मौत अधिकारियों को नहीं दिखाई पड़ रहा आचार संहिता का उल्लंघन मथुरा में आइसक्रीम फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव,15 की ​बिगड़ी तबियत मोदी ने इस नेता को बताया स्पीड ब्रेकर शूट के दौरान विक्की कौशल को आई गंभीर चोटें अपने सबसे बड़े चुनावी वादे को लेकर बुरी फंसी कांग्रेस सुरवीन चावला के घर आई नन्ही परी, देखें तस्वीर खोदा पहाड़ निकली चुहिया साबित होगा नकली भतीजा-बुआ का गठबंधन : केशव मौर्य एलएचबी कोच बने सुरक्षा कवच, बची भीषण तबाही स्पाइसजेट बना जेट के कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों सहित 500 लोगों को दी नौकरी जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन पूर्वा एक्सप्रेस हादसे के चलते बाधित हुआ हावड़ा रूट पर ट्रेनों का संचालन कोहली की पारी ने दिखाया कमाल, 10 रन से जीती RCB नोट्रे डेम को पहले जैसा बनाना चाहते हैं मैक्रों, येलो वेस्ट प्रदर्शन से बिगड़ी छवि को सुधारने की कवायद सीएम योगी बोले- बाबा साहेब ने न किया होता यह काम, तो आज भी किसी जमींदार के यहां भैंस चरा रहे होते अखिलेश 
 

करगुवां जी जैन मंदिर में 29 से चातुर्मास


SMT. HARSHITA PATAIRIYA 24/07/2018 20:18:45
248 Views

Jhansi. करगुवां जैन तीर्थ स्थल पर चातुर्मास अथवा चौमासा का प्रारम्भ 29 जुलाई से किया जा रहा है। इससे पूर्व 26 जुलाई को चातुर्मास की स्थापना होगी, 27 जुलाई को गुरु पूर्णिमा महोत्सव, 28 को वीर शासन जयंती कार्यक्रम तथा 29 जुलाई को कलश यात्रा के साथ चातुर्मास प्रारम्भ हो जाएगा, जिसके अन्तर्गत विभिन्न कार्यक्रम आयोजित होंगे। यह जानकारी 105 आर्यका पूर्णमति माता ने करगुवां मंदिर में पत्रकार वार्ता के दौरान दी।

29 Chaturmas from Karaguva Ji Jain temple

उन्होंने चातुर्मास पर प्रकाश डालते हुए बताया कि चार शुद्धियों की पूर्ति के लिए चातुर्मास मनाया जाता है। इसमें व्यवहार शुद्धि, आचार शुद्धि, विचार शुद्धि व आत्म शुद्ध है। इस मास में चारों ओर जीवों की उत्पत्ति होती है, इसलिए चौमासा भी कहा जाता है। चूंकि बरसात के दिनों में होता है इसलिए वर्षायोग भी इसका नाम है। गुरुपूर्णिमा को परिभाषित करते हुए उन्होंने कहा कि गुरु ही पूर्ण रूप से माँ है, इसलिए इस पर्व को गुरुपूर्णिमा कहा जाता है। उन्होंने बताया कि 30 जुलाई को करगुवां जी में आत्मबोध शिविर का आयोजन किया जा रहा है, जोकि पुरुषों के लिए रहेगा। उन्होंने कहा कि प्रवचन सुनने से नैतिकता और आध्यात्मिकता आती है। धर्म व आध्यात्मक के बावजूद समाज में बढ़ रही हिंसा पर उन्होंने पाश्चात्य विकृति का हावी होना बताया। उन्होंने कहा कि इसपर न लगाने के लिए देश के जिम्मेदार नेता हैं। जब तक राजनीति में सुधार नहीं आएगा, देश नहीं सुधर सकता। झाँसी के भगवंतपुरा में खुले आधुनिक पशुवध शाला पर उन्होंने कहा कि जन सहभागिता से इसे तत्काल बंद होना चाहिए, जहाँ प्रतिदिन सैकड़ों पशुओं की मौत हो रही है। इसके लिए उन्होंने पूर्व केन्द्रीय मंत्री प्रदीप जैन आदित्य से पहल करने को कहा, जिसमें सभी के सहयोग का आह्वान किया। पत्रकार वार्ता के दौरान विनोद जैन, रिषभ जैन, गौरव जैन, जीतू जैन, अंचल जैन आदि मौजूद रहे।

Web Title: 29 Chaturmas from Karaguva Ji Jain temple ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया