मुख्य समाचार
बाढ़ और बारिश से बेस्वाद हुई दाल, टमाटर हुआ लाल, इन सब्जियों के बढ़े 50 फीसदी दाम मॉब लिंचिंग पर सपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं मुसलमान अब इस दिग्गज ने की प्रियंका के नाम की वकालत बाढ़ से बेहाल असम-बिहार, ताजा तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर पीड़ितों ने कौन सा अपराध किया जो उन्हें मुझसे मिलने से रोका जा रहा : प्रियंका AKTU : यूपीएसईई – 2019 की काउंसलिंग का तीसरा चरण आज से शुरु ICC के फैसले से सदमे में जिम्बाब्वे की टीम प्लेसमेंट ड्राइव में 5 से 7 लाख के पैकेज के साथ आई कंपनी, 120 छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग मंचीय कविता के आखिरी स्तम्भ थे नीरज : लक्ष्मी नारायण चौधरी एजाज खान के अरेस्ट होने के बाद ट्वीटर पर छाए मीम्स- यूजर्स बोले... ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए मैंगो फूड फेस्टिवल का आयोजन : डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा तेजबहादुर की याचिका पर पीएम मोदी को नोटिस
 

35 दिनों से 15 वर्षीय नाबालिग लापता, पुलिस फरमा रही आराम


SHUBHENDU SHUKLA 05/08/2018 01:08:47
342 Views

Lucknow. राजधानी में 35 दिनों से 15 वर्षीय लड़की लापता है जिसके मां-बाप उसे ढूंढने की हर संभव कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने पुलिस में उसी दिन एफआईआर दर्ज करा दी थी जिस दिन लड़की लापता हुई थी लेकिन पुलिस की तरफ से उचित कार्रवाई ना होने की वजह से लड़की का अभी तक पुलिस कोई पता नहीं लगा सकी है। जिससे नाराज परिजनों ने शनिवार को प्रेसवार्ता कर पुलिस के रवैये पर नाराजगी जताई और लड़की को ढूंढने में मदद की गुहार लगाई।

15 year old minor missing from 35 days

यह भी पढ़ें...नगर विकास मंत्री और मेयर ने जोनों का निरीक्षण किया

  क्या है मामला

पूरा मामला शहर के इंदिरा नगर ब्लॉक ए का है। यहां माही वर्मा नामक की 15 साल की लड़की जो कि 30 जून शाम 5 बजे साइकिल चलाने के लिए घर से निकली लेकिन फिर वापस ही नहीं लौटी। जिस पर परिवजनों ने  गाजीपुर थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पीड़त पिता अरविंद कुमार ने बताया कि 35 दिन हो चुके हैं, पर माही की कोई खबर नहीं मिली। पुलिस ने डाटा रिकवरी का हवाला देकर बच्ची का लैपटॉप मांगा था। तब से न तो लैपटॉप वापस मिला न माही की कोई खबर।

  घटनाओं से डर

परिजन ने पुलिस के इस टाल-मटोल वाले रवैये से बेहद परेशान हैं। आए दिन लड़कियों के साथ होने वाली घटनाओं से उनके मन में डर लगा रहता है। परिजनों ने कहा कि अगर मेरी बेटी के साथ कोई घटना होती हैं तो उसके ज़िम्मेदार सरकार और पुलिस होगी। सरकार बेटी पढ़ाओ-बेटची बचाओ योजनाए ही चलाती है, बेटियों की मदद के लिए कुछ नहीं करती। परिजनों ने बताया कि डाटा रिकवरी के नाम पर लैपटॉप मांगा गया। साथ ही 6 हजार रुपये की हार्ड डिस्क खरीदवाई। जब हमने डाटा रिकवरी के बारे में पूछा तो पुलिस ने बताया कि डाटा रिकवरी करने वाला अभी छुट्टी पर गया और पुलिस लैब में डाटा रिकवरी सॉफ्टवेयर नहीं है।

यह भी पढ़ें...मुजफ्फरपुर शेल्टर रेप कांड: कपड़े उतारकर आंटी करती थी घनौना काम, जानकर आपको भी...

  लैपटॉप लौटान की मांग

पुलिस का ये रवैया काफी निराशाजनक है। परिजनों ने जब लैपटॉप वापस मांगा तो उन्हें लैपटॉप वापस नहीं किया गया। वह डाटा रिकवरी बाहर से करवाना चाहते हैं, ताकि उन्हें उनकी बच्ची को खोजने में कुछ मदद मिल सके। क्योंकि पुलिस किसी भी तरह की कार्रवाई नहीं कर रही है। जिस से आहत होकर परिजनों ने पुलिस के ऊपर लापरवाही का आरोप लगाया है।

15 year old minor missing from 35 days

Web Title: 15 year old minor missing from 35 days ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया