मुख्य समाचार
अपने बजट का पांच फीसद हिस्सा पशुओं के कल्याण में लगाएं राज्य: गिरीश रतन टाटा को हाईकोर्ट से मानहानि मामले में राहत, जानें पूरा मामला मॉब लिंचिंग पर फिर बोले नसीरुद्दीन शाह, परिजनों से मिलकर कहा- साहस को... ट्रामा में फैला खतरनाक फंगस, कारगर दवा नहीं, अलर्ट जारी समलैंगिक विवाह के लिए कोर्ट पहुंचीं दो युवतियां, मजिस्ट्रेट ने नहीं लिया आवेदन, जानें वजह 10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार!
 

सड़क दुर्घटनाओं को कम करने का एक तरीका यह भी


NP1484 05/08/2018 23:49:23
232 Views




लखनऊ । लगातार सड़क दुर्घटनाओं में इजाफा हो रहा है। लोग अपनी जान गवां रहे हैं। सबसे ज्यादा नुकसान उस परिवार को होता है। जिसका कोई अपना सड़क दुर्घटना में दुनिया छोड़ देता है। उसका पूरा परिवार विखर कर रह जाता है। परिवार को कोई देखने वाला नहीं रह जाता। कई परिवार इसके उदाहरण हैं। इतना ही नहीं परिवार को तो नुकसान होता ही है। देश को भी बड़ा नुकसान होता है। क्योंकि सड़क दुर्घटना में सबसे ज्यादा जान गंवाने वाले लोगों में युवाओं की संख्या अधिक है। जो युवा सड़क दुर्घटना के शिकार होते हैं। वह भविष्य में देश के विकास में अपना योगदान देते। लेकिन सड़क दुर्घटना में घायल होकर काल के गाल में समा रहे हैं। सड़क दुर्घटना को कम किया जा सकता है। लेकिन इसमें जरूरत होगी सबको मिलकर काम करने की। कानून के अलावा समाज के सभी वर्गो की जिम्मेदारी तय करनी होगी। लोगों को अपना मौलिक अधिकार ध्यान रखने के साथ ही,मौलिक कर्तव्यों को भी समझना होगा। यह कहना है केजीएमयू के न्यूरोंलॉजिस्ट प्रो.राजेश वर्मा का।

हंसी व मुस्कुराहट को बनाये जीवन का अंग

प्रो.राजेश की माने तो जिंदगी को खुशनुमा बनाने के लिए चेहरे पर हंसी व मुस्कुराहट का होना जरूरी है। यदि आप हमेशा मुस्कुराते रहते हैं तो इससे जहां एक तरफ कई शारीरिक बीमारियों से बचाव होगा। वहीं क्रोध व ईष्या  में  भी कमी आयेगी। आप सड़कों पर बेवजह की प्रतिस्पर्धा से बचेंगे। यदि कोई वाहन चालक गलत तरीके से आप को पास कर निकल भी गया। तो मुस्कुरा कर उस बात को वहीं छोड़ दीजिए। जिससे आप गलत प्रतिस्पर्धा से बच जायेंगे।

नियमों का पालन जरूरी

प्रो.राजेश वर्मा के मुताबिक लोगों को नियमों का पालन मन से करना चाहिए न कि डर से ,साथ ही यह भी नहीं सोचना चाहिए कि यदि वह कानून तोड़ रहा है तो मैं कानून को न तोड़ू । उन्होंने उदाहरण देते हुये बताया कि यदि कोई व्यक्ति कार चलाते समय सीट बेल्ट व बाइक चलाते समय   हेलमेट नहीं पहन रहा तो क्या हम भी सीट बेल्ट व हेलमेट न लगायें। बल्कि हमें तो यह सोचना चाहिए कि जिंदगी हमारी व हमारे परिवार की है। इसलिए अपनी सुरक्षा हमें स्वयं करनी है। अपने परिवार के लिए करनी है। उन्होंने कहा कि किसी की मदद भी तभी होती है,जब तक उसकी जरूरत होती है। यदि परिवार का मुखिया चला गया तो परिवार की सहायता कौन करेंगा। इस पर भी सोचना लाजमी है। उन्होंने बताया कि बाहर के विकसित मुल्कों में लोग कानून का पालन करने के लिए व करवाने के लिए खुद आगे बढ़ कर सामने आते हैं। जिससे वहां पर कानून का राज चलता है। यही कारण है कि वहां पर कानून सख्त भी है। यदि किसी ने जरा सी गलती गाड़ी चलाते समय कर दी तो समझो 6 महीने के लिए उसका लाइसेंस रद्द कर दिया जाता है और वह 6 माह तक गाड़ी नहीं चला सकता।

लोगों की सोंच को समझना जरूरी

प्रो.राजेश के मुताबिक समाज में लोगों की सोंच को समझना जरूरी है। लोग की मनोदशा कैसी होती जा रही है इस पर भी विचार होना चाहिए। मौजूदा समय में लोग धैर्य खोते जा रहे हैं,दिखावा भारी पड़ता जा रहा है। इस सब के लिए जरूरी है कि लोगों में नैतिक  मूल्यों को बढ़वा किया जाये । जिससे उन्हें अपने नैतिक मूल्यों की जिम्मेदार समझ में आये।  जिससे सड़कों पर से अतिक्रमण हट सके। गाड़ी चलाते समय पर जगह दी जाये। 

 

 
Web Title: One way to reduce road accidents is also ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया