मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

जो ईरान से व्यापार करेगा, वो हमसे व्यापार नहीं कर पाएगा: ट्रंप


AMRITA PANDEY 08/08/2018 13:27:57
627 Views

Washington. ईरान पर दोबारा लागू हुए अमरीकी आर्थिक प्रतिबंधों के बाद दुनिया भर के देशों पर अमरीकी दबाव है कि वो ईरान से दूरी बना लें। अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने ट्रंप ने ट्वीट कर कहा है कि जो देश ईरान के साथ व्यापारिक संबंध जारी रखेंगे वो अमरीका के साथ अपने व्यापारिक संबंधों को आगे नहीं बढ़ा पाएंगे। ट्रंप ने ट्वीट कर कहा, ''ईरान पर आधिकारिक रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है। यह अब तक का सबसे कड़ा प्रतिबंध है, नवंबर महीने में यह पाबंदी और बढ़ेगी. जो ईरान के साथ संबंध जारी रखना चाहते हैं वो अमरीका के साथ अपने संबंधों को आगे नहीं बढ़ा पाएंगे।  मैं दुनिया से शांति के लिए ऐसा कह रहा हूं, इससे कम कुछ भी नहीं। 

trump on iran

ओबामा ने 2015 में ईरान के साथ एक परमाणु समझौता किया था, जिसके तहत ईरान को अपना परमाणु कार्यक्रम सीमित करना था और उसके बदले वो अपने तेलों का निर्यात करता था। ट्रंप के आने के बाद से ही इस समझौते के रद्द होने की तलवार लटकी हुई थी, क्योंकि ट्रंप ने अपने चुनावी अभियान में इस समझौते की कड़ी आलोचना की थी। हालाकि इस समझौते का इसराइल और सऊदी अरब जैसे देश भी विरोध कर रहे थे। अपने वादों के मुताबिक़ ट्रंप ने इस समझौते को तोड़ दिया और एक बार फिर से ईरान पर आर्थिक प्रतिबंध लागू हो गया। हालांकि यूरोपीय संघ ट्रंप के रुख़ से सहमत नहीं था, लेकिन अमरीकी राष्ट्रपति ईरान को लेकर झुके नहीं।

trump on iran

उधर ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने आर्थिक पाबंदी लगाए जाने की कड़ी आलोचना की है। रूहानी ने कहा है कि है यह एक मनोवैज्ञानिक युद्ध है जो ईरानियों को बाँटने के लक्ष्य से छेड़ा गया है। ट्रंप की यह चेतावानी दी है कि  ईरान के साथ संबंध रखने वाले अमरीका से संबंध नहीं रख पाएंगे।  भारत के लिए धर्मसंकट की स्थिति है। हाल ही में संसद में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि भारत इराक़ के बाद सबसे ज़्यादा तेल ईरान से आयात करता है। इससे पहले सऊदी अरब दूसरे नंबर पर था। ईरान भारत को तेल आयात पर कई तरह की सुविधाएं देता है। वो डॉलर के बदले भारतीय मुद्रा रुपए लेकर ही तेल दे देता है, लेकिन अब ट्रंप की इस चेतावनी के बाद भारत के लिए ईरान से तेल आयात करना आसान नहीं होगा।

trump on iran

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने संसद में कहा था कि भारत की सरकारी तेल कंपनियों ने अप्रैल से जून के बीच सऊदी की तुलना में ईरान से ज़्यादा तेल आयात किया. इराक़ अब भी भारत को तेल बेचने के मामले में पहले नंबर पर है। 

Web Title: trump on iran ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया