संसद में पीएम मोदी ने हाथ बढ़ाया, जेटली ने नहीं मिलाया...कुछ गड़बड़ है क्या


UMENDRA SINGH 11/08/2018 10:01 AM
209 Views

New Delhi. भारतीय जनता पार्टी की साल 2014 में सरकार आयी। नरेंद्र मोदी देश के पीएम बने तो अरुण जेटली को वित्त मंत्री जैसा अहम दिया गया जबकि जेटली अपना चुनाव तक हार चुके थे। लेकिन अब गुरुवार को अचानक ऐसा क्यो हो गया कि पीएम मोदी ने हाथ मिलाने के लिए उनकी ओर हाथ बढ़ाया तो जेटली ने हाथ मिलाने से ही इनकार कर दिया। आइए जानते हैं इसी क्या वजह है।

jaitley and pm modi issue

  यह भी पढ़ें: अमित शाह का खुलासा, कब होंगे लोकसभा चुनाव

  अरुण जेटली पीएम मोदी के हैं खास

अरुण जेटली साल 2014 के आम चुनाव में मोदी लहर के बावजूद पंजाब से चुनाव हार गये थे। जेटली को इसके बाद भाजपा ने राज्यसभा से सांसद बनवा दिया और उनको वित्त मंत्रालय सौंप दिया गया। जेटली पीएम मोदी के बहुत खास माने जाते हैं। इसके बाद भी आखिर जेटली ने उनसे हाथ क्यों नहीं मिलाया।

jaitley and pm modi issue

  ये है हाथ न मिलाने का असली राज

चलिए अब हम आपको वो राज बता ही देते हैं कि आखिर अरुण जेटली ने पीएम मोदी से हाथ मिलाने से क्यों मना कर दिया। दरअसल ये उन्होंने अपनी सेहत की वजह से किया है। जेटली हाल ही में अस्पताल से वापस लौटे हैं और उनको डॉक्टरों ने अभी बाहरी लोगों से संपर्क करने से मना किया है।

  किस वजह से किया गया मना, क्या है डर

जेटली तीन महीने बाद किडनी ट्रांसप्लांट करवाकर वापस आये हैं। इस समय उनको बाहरी संपर्क से घातक इंफेक्शन हो सकता है। इसी वजह से वो किसी से हाथ भी नहीं मिला सकते हैं। यही वजह है कि जब हरिवंश को उपसभापति चुना गया और मोदी जेटली को बधाई देने उनकी ओर हाथ बढ़ाने लगे तो जेटली ने उनको दूर से ही नमस्ते कर दिया।

Web Title: jaitley and pm modi issue ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया