मुख्य समाचार
जानिए जातिवाद पर हरियाणा हाईकोर्ट ने क्या टिप्पणी की स्वरा भास्कर के निशाने पर आईं प्रज्ञा ठाकुर, हेमंत पर दिया था बयान वेडिंग एनिवर्सरी पर अभिषेक ने शेयर की ऐश की फोटो, लिखा हनी मून, फैंस बोले इतना गुरूर... कॉफी विद करण मामला : पांड्या और राहुल पर लगा 20-20 लाख रुपये का जुर्माना बाइक पोल से टकराई, युवक की मौत अधिकारियों को नहीं दिखाई पड़ रहा आचार संहिता का उल्लंघन मथुरा में आइसक्रीम फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव,15 की ​बिगड़ी तबियत मोदी ने इस नेता को बताया स्पीड ब्रेकर शूट के दौरान विक्की कौशल को आई गंभीर चोटें अपने सबसे बड़े चुनावी वादे को लेकर बुरी फंसी कांग्रेस सुरवीन चावला के घर आई नन्ही परी, देखें तस्वीर खोदा पहाड़ निकली चुहिया साबित होगा नकली भतीजा-बुआ का गठबंधन : केशव मौर्य एलएचबी कोच बने सुरक्षा कवच, बची भीषण तबाही स्पाइसजेट बना जेट के कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों सहित 500 लोगों को दी नौकरी जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन पूर्वा एक्सप्रेस हादसे के चलते बाधित हुआ हावड़ा रूट पर ट्रेनों का संचालन कोहली की पारी ने दिखाया कमाल, 10 रन से जीती RCB नोट्रे डेम को पहले जैसा बनाना चाहते हैं मैक्रों, येलो वेस्ट प्रदर्शन से बिगड़ी छवि को सुधारने की कवायद सीएम योगी बोले- बाबा साहेब ने न किया होता यह काम, तो आज भी किसी जमींदार के यहां भैंस चरा रहे होते अखिलेश  विश्व कप में खिलाड़ियों के साथ जा सकेंगी पत्नियां पर BCCI ने लगाई तमाम बंदिशें साध्वी प्रज्ञा का मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान अवैध कमाई के लिए डग्गामार वाहनों पर मेहरबान है पुलिस— प्रशासन मायावती ने मुलायम की मौजूदगी में मंच किया खुलासा - गेस्टहाउस कांड के बाद भी इसलिए हुआ गठबंधन इंस्टाग्राम को लेकर आई बड़ी खबर, यूजर्स का पासवर्ड असुरक्षित तरीके से स्टोर हाईकोर्ट से भाजपा विधायक को बड़ा झटका, सुनाई गयी आजीवन कारावास की सजा  प्रियंका ने राहुल गांधी को सौंपा अपना इस्तीफा #IPL2019 : दिल्ली कैपिटल्स को 40 रन से हराकर मुंबई पहुंची दूसरे स्थान पर जेट एयरवेज की हवाई सेवाएं बंद होने पर निराश हुए फिल्मी सितारे साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ NIA कोर्ट में याचिका दायर, चुनाव लड़ने पर रोक की मांग बुधवार को जेट एयरवेज ने भरी आखिरी उड़ान कोई भी अपराजेय नहीं है, सबको हराया जा सकता है : आचार्य प्रमोद कृष्णम World Cup के लिए ईशांत, सैनी और अक्षर होंगे टीम इंडिया के स्टैंड बाई राज्यपाल को पीजीआई में लगाया गया पेसमेकर, पूरी तरह हैं स्वस्थ
 

जानिए कलयुग में भगवान कब और कहां लेंगे जन्म, इसलिए होती है सावन में पूजा


SHUBHENDU SHUKLA 16/08/2018 12:50:56
1601 Views

Lucknow. पुराणों और प्राचीन ग्रंथों चार युगों सतयुग त्रेत्रा, द्वापर और कलयुग की जानकारी मिलती है। सभी युगों के बारे में अलग अलग तरीके से व्याख्या की गई है। हम कलयुग की बात कर रहे हैं। कलयुग के बारे में बात करें तो प्राचीन ग्रंथों में बताया गया है कि अंतिम चरण में पाप अपनी चरम सीमा तक पहुंच जाएगा। धर्म का नाश हो जाएगा। इसके बाद धर्म की स्थापना के लिए भगवान पृथ्वी पर अव​तरित होंगे। आपकों बता दें कि हिन्दू शाष्त्रों के अनुसार तीन युगों में भगवान के नौ अवतार पृथ्वी पर ले लिए गए हैं। अब कलयुग में जो अवतार लेंगे वह 10वां अवतार होगा।

Know when and where will God birth in Kalyug

यह भी पढ़ें... सावन के महीने में यह व्रत होता है अत्यंत ही फलदायी, मिलता है अखंड सौभाग्य का वरदान...

  अवतार से पहले ही पूजा

पुराणों के अनुसार जब कलयुग में घार पाप होगा। धर्म पूरी तरीके से खतरे में पड़ जाएगा। हर जगह त्राहि त्राहि मची रहेगी। इसके बाद पाप का नाश करने के लिए भगवान विष्णु अपने 10वें अवतार के रूप में पृथ्वी पर कल्कि के नाम से जन्म लेंगे। पुराणों में यह भी बताया गया है कि भगवान कल्कि सावन महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को जन्म लेंगे। इसके बाद धर्म का लोप होने पर अधर्म का नाश करेंगे। इसके साथ ही नए युग की रचना करेंगे। यही वजह है कि सावन महीने में शुक्ल पक्ष को कल्कि जयंती के रूप में लोग मनाते हैं और भगवान कल्की की पूजा पृथ्वी पर अवतरित होने से पहले ही करते हैं।

  यहां लेंगे जन्म

शाष्त्रों के मुताबिक भगवान का दसवां अवतार कलयुग और सतयुग के संधि काल में होगा। यह 64 कलाओं से युक्त रहेगा। भगवान कल्कि यूपी के मुरादाबाद में जन्म लेंगे। भगवान का जन्म संभल नामक स्थान पर विष्णुयशा नाम के एक ब्राह्राण परिवार में होगा। श्रीमद्गागवत महापुराण के 12वें स्कंद के 24वें श्लोक में इस बात का जिक्र है। श्लोक में कहा गया है कि  गुरु,सूर्य और चन्द्रमा जब एक साथ पुष्य नक्षत्र में प्रवेश करेंगे, इसी समय भगवान का जन्म होगा। 
 

सम्भलग्राममुख्यस्य ब्राह्मणस्य महात्मनः।
भवने विष्णुयशसः कल्किः प्रादुर्भविष्यति।।   

यह भी पढ़ें... आज का राशिफल 15 अगस्त 2018 : जानिए कैसा रहेगा आजादी का आपका दिन

  कलयुग का वर्ष काल

पुराणों व अन्य प्राचीन धार्मिक ग्रंथों के अनुसार ​कलयुग की अवधि काल 4,32,000 वर्ष बताई गई है। इस समय 5,119 साल बीत चुके हैं। कलयुग के अंत समय में ही भगवान पृथ्वी पर आएंगे और पापियों का समूल नाश कर धर्म की स्थापना करेंगे। इसके बाद सतयुग का प्रादुर्भाव होगा। मान्यता है कि द्वापर में भगवान श्रीकृषण ने अवतार लिया था। उनके पृथ्वी से प्रस्थान के बाद कलयुग की शुरूआत हुई।

Know when and where will God birth in Kalyug

Web Title: Know when and where will God birth in Kalyug ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया