मुख्य समाचार
अपने बजट का पांच फीसद हिस्सा पशुओं के कल्याण में लगाएं राज्य: गिरीश रतन टाटा को हाईकोर्ट से मानहानि मामले में राहत, जानें पूरा मामला मॉब लिंचिंग पर फिर बोले नसीरुद्दीन शाह, परिजनों से मिलकर कहा- साहस को... ट्रामा में फैला खतरनाक फंगस, कारगर दवा नहीं, अलर्ट जारी समलैंगिक विवाह के लिए कोर्ट पहुंचीं दो युवतियां, मजिस्ट्रेट ने नहीं लिया आवेदन, जानें वजह 10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार!
 

जिंदगी की जंग से हार गए अटल, देश में शोक की लहर


SUJEET KUMAR 16/08/2018 16:24:03
357 Views

New Delhi. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गुरुवार (16 अगस्त 2018) को निधन हो गया। पिछले 36 घंटे से उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी। वाजपेयी करीब नौ सप्ताह से दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में भर्ती थे। स्वास्थ्य में कोई सुधार ना होने पर उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्‍टम पर रखा गया था। वाजपेयी के निधन के बाद उनके घर के आस पास के इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। साथ ही कई जगह पर बैरिकेडिंग भी कर दी गई हैं। जबकि वाजपेयी के घर पर एसपीजी की टीम पहले ही पहुंच चुकी थी।  

atal bihari vajpayee

बुधवार से उनकी तबियत नाजुक बनी हुई थी। जिसके चलते गुरुवार को कई वरिष्ठ नेता उनका हाल जानने एम्स पहुंचे थे। वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह दोबारा एम्स पहुंचे थे। पीएम मोदी यहां करीब 45 मिनट तक रुखे थे। उनसे पहले गुरुवार की सुबर अमित शाह उनका हाल जानने पहुंचे थे। 

atal bihari vajpayee

पीएम मोदी और अमित शाह के अलावा उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया एम्स पहुंचे थे। 

atal bihari vajpayee

पत्रकारिता को चुना था अपना करियर 
25 दिसंबर 1924 को ग्वालियर के एक निम्न मध्यमवर्ग परिवार में जन्मे अटल बिहारी वाजपेयी की प्रारंभिक शिक्षा ग्वालियर के ही विक्टोरिया ( अब लक्ष्मीबाई ) कॉलेज और कानपुर के डीएवी कॉलेज में हुई थी। उन्होंने राजनीतिक विज्ञान में स्नातकोत्तर किया और पत्रकारिता में अपना करियर शुरु किया था। उन्होंने राष्ट्र धर्म, पांचजन्य और वीर अर्जुन का भी संपादन किया था। 

atal bihari vajpayee

2009 से बीमार चल रहे हैं अटल
वाजपेयी को 11 जून को दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। उन्हें किडनी में इंफेक्शन, छाती में जकड़न, मूत्रनली में इंफेक्शन की समस्या थी। वह पिछले 66 दिन से एम्स में भर्ती थे। वाजपेयी को डायबिटीज थी और उनका एक ही गुर्दा काम कर रहा था। वह 2009 से बीमार चल रहे हैं, 2009 में उन्हें स्ट्रोक आया था जिसके बाद उनकी सोचने समझने की क्षमता कमजोर हो गई थी। 2009 में भी वाजपेयी कई दिन अस्पताल में भर्ती रहे थे। वहीं तबीयत खराब होने के बाद सार्वजनिक जीवन से दूर चल रहे थे। खराब तबीयत की ही वजह से 2015 में अटलजी को भारत रत्न सम्मान उनके घर पर ही दिया गया था। इसी दौरान उनकी आखिरी तस्वीर भी सामने आई थी।

atal bihari vajpayee

भाजपा के संस्थापक सदस्यों में शामिल थे अटल

वाजपेयी भारतीय जनता पार्टी के संस्थापक सदस्यों में शामिल थे। 1996 में वह पहली बार देश के प्रधानमंत्री बने थे। इसके बाद दूसरी बार साल 1998 में वह दोबारा पीएम चुने गए थे। वाजपेयी साल 2004 तक पीएम रहे। वहीं मोदी सरकार ने उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाज़ा था। 

 

Web Title: atal bihari vajpayee ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया