देशभर में मनाया जा रहा ईद-उल-अजहा का त्योहार, राष्ट्रपति और PM मोदी ने दी बधाई


SUJEET KUMAR 22/08/2018 09:46 AM
849 Views

Lucknow. पूरे देश में बुधवार (22 अगस्त) को मुस्लिम समुदाय ईद-उल-अजहा (बकरीद) का त्योहार मना रहा है। यह त्योहार मुस्लिम समुदाय के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है। इस दिन मुस्लिम समुदाय के लोग सुबह मस्जिद में नमाज अदा कर और गले मिलकर ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं देते हैं। वहीं बकरे की कुर्बानी देते हैं। 

national celebration of bakrid or eid al adha

इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी ट्विटर पर देशवासियों को ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं दी हैं।

national celebration of bakrid or eid al adha

उन्होंने ट्विटर पर लिखा, 'ईद-उल-जुहा के अवसर पर सभी देशवासियों विशेषकर हमारे मुस्लिम भाइयों और बहनों को बधाई और शुभकामनाएं देता हूं। इस विशेष दिन हम त्याग और बलिदान की भावना के प्रति अपना आदर व्यक्त करते हैं। आइए अपने समावेशी समाज में एकता और भाइचारे के लिए मिलकर काम करें।

ताजा खबरों को मोबाईल पर पाने के लिए यहां क्लिक करें...

national celebration of bakrid or eid al adha

राष्ट्रपति के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्विटर पर देशवासियों को ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ईद-उल-जुहा की शुभकानाएं, आज हमारे समाज में करुणा और भाईचारे की भावना को गहरा कर दें।

national celebration of bakrid or eid al adha

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ईद-उल-अज़हा पर प्रदेशवासियों को बधाई दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से जारी एक संदेश में कहा गया, ईद-उल-अज़हा का त्योहार सभी को मिल-जुलकर रहने तथा सामाजिक सद्भाव बनाए रखने की प्रेरणा प्रदान करता है. उन्होंने बकरीद का त्योहार शांति आपसी सद्भाव के साथ मनाने की अपील की।  

national celebration of bakrid or eid al adha

  क्यों मनाई जाती है बकरीद 

इस्लामिक मान्यता के अनुसार बकरीद को अरबी में 'ईद-उल-जुहा' कहते हैं। हजरत इब्राहिम अपने पुत्र इस्माइल को इसी दिन खुदा के लिए कुर्बान करने जा रहे थे, तो अल्लाह ने, उनके पुत्र को जीवनदान दे दिया जिसकी याद में यह पर्व मनाया जाता है। अरबी में 'बक़र' का अर्थ है बड़ा जानवर जो जिबह किया (काटा) जाता है, ईद-ए-कुर्बां का मतलब है 'बलिदान की भावना' और 'क़र्ब' नजदीकी या बहुत पास रहने को कहते हैं मतलब इस मौके पर इंसान भगवान के बहुत करीब हो जाता है। ईद-उल-फितर यानी मीठी ईद के बाद मुस्लिम समुदाय का सबसे बड़ा त्योहार बकरीद आता है। मीठी ईद के ठीक 2 महीने बाद बकरीद आती है। कुर्बानी का पर्व 'बकरीद' कई मायनों में खास है और एक विशेष संदेश लोगों को देता है।

Web Title: national celebration of bakrid or eid al adha ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया