भूलकर भी न बांधे इस समय भाई को राखी, लग रहा राहुकाल


SHUBHENDU SHUKLA 23/08/2018 18:29:27
470 Views

Lucknow. भाई बहन का पवित्र त्योहार रक्षा बंधन इस बार 26 अगस्त को मनाया जाएगा। वैसे तो इस बार भद्राकाल नहीं होने से किसी भी समय बहनें अपने भाईयों को राखी बांध सकती हैं। लेकिन शाम 4:30 बजे से राहुकाल लग रहा है। ऐसे में विद्वानों का कहना है कि इस समय राखी बांधने से बचें तो सही रहेगा। राहुकाल अत्यंत ही अशुभ माना जाता है। यदि इस समय बहनें भाईयों को राखी बांधती है, तो राहु की छाया पड़ सकती है। इससे अनिष्ट होने की आशंका बनी रहेगी।

Rakshabandhan festival on August 26

यह भी पढ़ें...छेड़छाड़ की तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल करने पर बवाल , 20 घायल

  ये है मुहूर्त

इस साल रक्षाबंधन का त्योहार 26 अगस्त को पूर्णिमा तिथि को शनिवार की शाम 3 बजकर 17 मिनट से शुरू होगी। इसके साथ ही रविवार को शाम 5 बजकर 26 मिनट पर समाप्त होगी। 25 अगस्त से शुरू हो रही राखी अगले दिन तक मनाए जाने के विषय में विद्वानों का कहना है कि सूर्योदय काल में पूर्णिमा तिथि होने से पूर्णिमा तिथि मान्य है। वहीं, भद्राकाल में राखी भूलकर भी न बांधे। क्योंकि यह अत्यंत ही अशुभ समय होता है। त्योहार पर इस बार इस बात से राहत है कि पूरे दिन राखी बांधी जा सकती है। 

यह भी पढ़ें...CBSE बोर्ड के 10वीं और 12वीं का बदलेगा एग्जाम पैटर्न, ऐसा होगा नया पैटर्न

  इस मंत्र का उच्चारण

रक्षाबंधन के दिन हर बहनों को थाली सजाकर भाई की आरती उतारनी चाहिए। साथ ही मंत्रों का उच्चारण करना चाहिए। ये मंत्र इस तरह है। 

'येन बद्धो बलि: राजा दानवेंद्रो महाबल:। तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल'

विद्वानों की माने तो इस दिन भगवान विष्णु की पूजा अत्यंत ही फलदायी होगा। साथ ही यदि माता लक्ष्मी की पूजा करते हैं, तो घर में सुख समृद्धि आएगी। भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की कृपा से गृह कलह से मुक्ति मिलेगी। सच्चे मन से पूजा अर्चना करने पर सभी तरह के मनोकामनाओं की पूर्ति हो जाएगी।

Rakshabandhan festival on August 26

Web Title: Rakshabandhan festival on August 26 ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया