मुख्य समाचार
बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा का निधन मायावती का आरक्षण पर बड़ा बयान, सरकार घूम-घूमकर करे ये काम.... लालू का चलना फिरना हुआ मुश्किल, डॉक्टर्स ने कहा- अब नहीं... यूजीसी ने प्लास्टिक बैन पर लिया बड़ा फैसला, विश्वविद्यालयों को लिखा पत्र शराब के नशे में फुटपाथ पर चढ़ाई कार, कई लोगों को किया घायल ताबड़तोड़ हत्याओं से दहला प्रयागराज, एक ही दिन में 6 मर्डर मिट्टी डालकर गड्ढामुक्त की जा रही डामर रोड शुद्ध जीवन जीने के लिए पेड़ लगाना जरूरी जानिए, कैसे बढ़ाएंं पलकों और होठों की खूबसूरती बिना सर्जरी ? कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व सीएम की महारैली, कर सकते हैं ये बड़ा फैसला तेजस्वी के समर्थन में राबड़ी उठाया ये बड़ा कदम, परास्त हो गए सारे बागी प्लास्टिक के खिलाफ पीएम ने छेड़ी जंग, 10 लाख लोगों को करेंगे... मुख्यमंत्री से नहीं मिल सका दुनिया का सबसे लम्बा आदमी कांग्रेस पूरे प्रदेश में मनायेगी स्व0 राजीव गांधी की 75वीं जयन्ती अखिलेश ने दिया ऐसा बयान, किसान और जवान कर रहे सलाम!
 

कान्हा ने खेली गोपियों संग फूलों की होली


NAZO ALI SHEIKH 10/09/2018 13:12:07
559 Views

Lucknow. चिनहट लौलाई स्थित श्री राधा कृष्ण ट्रस्ट की ओर से गौशाला परिसर में आयोजित श्रीकृष्ण जन्मोत्सव के दसवें दिन भक्तों ने भगवान श्रीकृष्ण और राधा की फूलों की होली का आनंद लिया। वृंदावन से आये सीताराम शर्मा व उनके 50 सदस्य कलाकारों ने राधा-कृष्ण का नंद गांव और बरसाना गांव के बीच संकेत वट पर पहली बार मिलने का मंचन किया। श्री कृष्णा के आग्रह पर राधा जी नंद गांव यशोदा मईया के घर खेलने के लिये आती हैं। 

kanha ne khelee gopiyon sang phoolon kee holi

यह भी पढ़ें... सपना के इस डांस वीडियो ने मचाया धमाल, फैन्स को दिया हैरान करने वाला चैलेंज

होली में राधा जी के कहने पर श्री कृष्णा से अपने सखाओं के साथ बरसाना गांव होली खेलने जाते हैं। राधा की सखा और गोपियां श्री कृष्ण के साथ हंसी ठिठोली करती हैं। फिर राधा और कृष्णा जी फूलों की होली खेलते हैं और बृजवासी गोपियों के साथ लठ मार होली खेलते हैं। अंत में कृष्णा को पकड़ कर उन्हें गोपी बना देती है और होली का एक फगुआ वस्त्र देकर श्री कृष्णा को छोड़ देती हैं। 

Kanha ki phoolon ki holi- photo

यह भी पढ़ें... एंजेलिना के आरोपों का ब्रैड पिट ने दिया जवाब, कहा-मिलियन में खर्च किए रुपए

   सुदामा की भक्ति को दर्शाया

इसके पूर्व श्रीमद् भगवत कथा में पंडित धर्मवीर वृजवासी ने भगवान श्री कृष्ण की लीलाओं का वर्णन किया और बताया कि जिस पर बांके बिहारी की कृपा होती है वह श्रेष्ठ होता हैं। भागवत में सुदामा की भक्ति को दर्शाया। श्रीराधा कृष्ण ट्रस्ट की ट्रस्टी अनीता सिंह यादव व कार्यक्रम संयोजक सत्यवीर सिंह यादव ने बताया कि सोमवार  दोपहर 12 बजे विशाल भंडारे का आयोजन किया जाएगा।

रोचक जानकारी- भगवान कृष्ण के बारे में

भगवान कृष्ण की परदादी 'मारिषा' और उनकी सौतेली मां रोहिणी ( बलराम की मां) नाग जनजाति की थीं

 

 

Web Title: kanha ne khelee gopiyon sang phoolon kee holi ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया