राज्यपाल से मिलने पहुंचा सपा प्रतिनिधिमण्डल, कानून व्यवस्था, शिक्षक भर्ती समेत कई मुद्दों पर सौंपा ज्ञापन


GAURAV SHUKLA 11/09/2018 09:41 AM
251 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल ने सोमवार को राज्यपाल राम नाईक को प्रदेश में ध्वस्त कानून व्यवस्था, बढ़ती मंहगाई और 68,500 प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती में अनियमितताओं के खिलाफ ज्ञापन देकर उनसे हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया। प्रतिनिधिमण्डल में विधानसभा में नेता विरोधी दल रामगोविन्द चौधरी, विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी सहित पूर्व मंत्री आर.के. चौधरी, विधायक शैलेन्द्र यादव ललई, बासुदेव यादव एवं सुनील सिंह ‘साजन‘, सदस्य विधान परिषद शामिल थे।

Rajypal ram naik se milne pahucha samajwadi pratinidhi mandal, saupa gypan
राज्यपाल को दिए गए ज्ञापन में कहा गया है कि दिन प्रतिदिन बढ़ती मंहगाई से आम आदमी का जीना दूभर हो गया हैं। सैकड़ों किसान-नौजवान आत्महत्या कर चुके हैं। सत्ता के नशे में भाजपा सरकार संवेदन शून्य हो गई हैं। उ0प्र0 की ध्वस्त कानून व्यवस्था पर सर्वोच्च न्यायालय एवं उच्च न्यायालय को टिप्पणी करना पड़ रहा है परन्तु फिर भी उत्तर प्रदेश की सरकार गूंगी बहरी बनी हुई है। अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी की सरकार के समय जिन बेरोजगारों नौजवानों को रोजगार मिला था उनसे छीना जा रहा हैं। लाखों बेरोजगार दर-दर ठोकरे खा रहे है। सरकार से रोजगार की मांग करने पर लाठी गोली का शिकार होना पड़ रहा हैं तथा उन पर फर्जी मुकदमें लगाकर जेल भेजा जा रहा है। दिन प्रतिदिन बढ़ती महॅगाई से आम आदमी का जीना दूभर हो गया हैं। सैंकड़ो किसान-नौजवान आत्महत्या कर चुके हैं।

सत्ता के नशे में भाजपा सरकार संवेदन शून्य हो गई हैं। उ0प्र0 की ध्वस्त कानून व्यवस्था पर सर्वोच्च न्यायालय एंव उच्च न्यायालय को टिप्पणी करना पड़ रहा है परन्तु फिर भी उत्तर प्रदेश की सरकार गूंगी बहरी बनी हुई है।

Rajypal ram naik se milne pahucha samajwadi pratinidhi mandal, saupa gypan
ज्ञापन में कहा गया है कि समाजवादी पार्टी उत्तर प्रदेश में मंहगाई, भ्रष्टाचार, बिगड़ती कानून व्यवस्था, किसानों, पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्कों, महिलाओं, बच्चियों, छात्र-छात्राओं की समस्याओं को लेकर आपके द्वारा उत्तर प्रदेश सरकार का ध्यान आकर्षित किया जाता रहा है परन्तु लगातार अनसुनी के कारण बाध्य होकर आज हम किसान, मजदूर व सभी वर्गो के पीड़ित जनों ने सोमवार 10 सितम्बर 2018 को प्रदेश के समस्त जनपदों के तहसील मुख्यालयों पर प्रमुख रूप से निम्न मुद्दों के साथ शांतिपूर्ण धरना दे रहे हैं। हम आपसे इन समस्याओं के समाधान हेतु मांग करते हैं। 

Rajypal ram naik se milne pahucha samajwadi pratinidhi mandal, saupa gypan
ज्ञापन में कहा गया है कि आर0एस0एस0 का एजेण्डा, जातिवाद एवं साम्प्रदायिकता के कारण समाज को तोड़ने वाली उ0प्र0 की भाजपा सरकार के शासन में आपातकाल जैसा माहौल पैदा किया जा रहा है। बाबा साहब अम्बेडकर के संविधान के साथ प्रतिदिन हमले हो रहें हैं। गरीब, कमजोर मजदूर, दलित, पिछड़े एवं अल्पसंख्यकों के साथ घोर अन्याय व अत्याचार हो रहें हैं। लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ मीडिया की स्वतंत्र आवाज को भी कुचलने का प्रयास किया जा रहा हैं। समाजवादी पार्टी के नेताओं ने राज्यपाल राम नाइक से कहा कि जब से भाजपा सरकार आई है उत्तर प्रदेश में नौजवानों के भविष्य से खिलवाड़ होने लगा है। परीक्षाओं के बावजूद कई नौकरियों में भर्ती रोक दी गई है। कभी प्रश्नपत्र लीक हो जाते हैं तो कभी कॉपियों में नम्बर गलत चढ़ जाते हैं। इन गड़बड़ियों का असर अगली 97 हजार शिक्षक भर्ती पर पड़ सकता है। भाजपा सरकार में नौकरियों को लेकर अनियमितताओं के नए कीर्तिमान बन रहे हैं।

यह भी पढ़ें...  मुंबई के डॉक्टरों की टीम भी नहीं बचा पाई आईपीएस सुरेन्द्र दास की जिंदगी
68,500 प्राइमरी शिक्षकों की भर्ती को लेकर राजधानी में नौजवान पुलिस के दमन के बावजूद न्याय की भीख मांगते हुए डटे हैं। इन प्राइमरी शिक्षकों के 68,500 पदों के लिए मई 2018 में परीक्षा हुई थी जिसमें 107,000 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। सरकार ने संविधान के विपरीत जाकर आरक्षण समाप्त करते हुए सामान्य तथा अन्य पिछड़े वर्ग की मेरिट के समान 45 प्रतिषत तथा अनुसूचित जाति/जनजाति  की मेरिट 40 प्रतिशत कर दी। बाद में सरकार ने सामान्य तथा ओबीसी का कट आफ 33 प्रतिषत तथा अनुसूचित जाति/जनजाति का 30 प्रतिशत करने का आश्वासन दिया किन्तु जब परीक्षाफल घोषित हुआ तो पूर्व का कट आफ ही लागू कर दिया गया जिससे मात्र 41,556 अभ्यर्थी पास हुए और 26,944 रिक्त कर दिए गए। इस परीक्षा में व्यापक पैमाने पर अनियमितता की शिकायतें उजागर हुई हैं। 
बीटीसी प्रशिक्षु विगत 28 अगस्त 2018 से राजधानी लखनऊ में धरना-प्रदर्शन कर अपनी समस्याओं के प्रति सरकार का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं। राज्य सरकार उनको राहत देने के बजाय पुलिस बल का प्रयोग कर उन्हें प्रताड़ित करने में लगी है। पुलिस की यातना से कई युवक घायल हो चुके है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन पर बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज अमानवीय है। सच तो यह है कि नौकरियों को लेकर छल कपट किया जा रहा है। लोकसभा चुनाव तक पेपर आउट कराना, भर्तियों को रद्द करना ही भाजपा की रणनीति है।  

Rajypal ram naik se milne pahucha samajwadi pratinidhi mandal, saupa gypan
प्राइमरी शिक्षकों की यह मांग उचित है कि भर्ती प्रक्रिया में व्यापक पैमाने पर हुए घोटाले की सीबीआई जांच कराई जाए और दोषियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जाए। समाजवादी पार्टी इसके साथ अपनी सहमति जताती है और आपसे इन सभी मामलों में तत्काल हस्तक्षेप की अपेक्षा करती है।

रोचक जानकारी : संपर्क सूत्र समाजवादी कार्यालय 

Samajwadi Party
19, Vikramaditya Marg, Lucknow
Ph. No. 0522-2235454
Call Center no : 0522-2217020

Web Title: Rajypal ram naik se milne pahucha samajwadi pratinidhi mandal, saupa gypan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया