मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस समर्थक मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

आखिर पीएम मोदी को आ ही गयी मनमोहन की याद, अपनायेंगे कांग्रेसी फॉर्मूला


UMENDRA SINGH 12/09/2018 14:38:59
953 Views

New Delhi. डॉलर के मुकाबले रुपया लगातार गिरता जा रहा है। इसने देश की चिंता बढ़ा दी है। चुनाव से पहले रुपये की ये हालत मोदी सरकार के लिए भी सिरदर्द बनती जा रही है। वैसे भाजपा सरकार ने अब रुपये को संभालने के लिए मनमोहन फॉर्मूला अपनाने का मन बना लिया है। आइए जानते हैं क्या है ये फॉर्मूला।

rupees decline

   डॉलर के मुकाबले कितना पहुंच गया है रुपया

इस समय की बात करें तो रुपया डॉलर के मुकाबले 72 रुपये तक पहुंच गया है। इससे सरकार को काफी घाटा हो रहा है। तेल के दाम भी आसमान छूने लगे हैं। आरबीआई ने डॉलर बेचने से लेकर सोना खरीदने की तरकीबें अपना लीं लेकिन रुपये में गिरावट कम नहीं हो सकी है।

modi pic

  मनमोहन सिंह की हुई थी तारीफ

मनमोहन सिंह सरकार में भी एक बार रुपये में भारी गिरावट आ गयी थी। उस समय मशहूर अर्थशास्त्री और पीएम मनमोहन सिंह ने एक नायाब तरीका अपनाया था। जिससे रुपये में गिरावट थम गयी थी और उनकी सरकार की देश ही नहीं विदेश में भी खूब तारीफ हुई थी।

  ये है मनमोहन फॉर्मूला जो आयेगा काम

मनमोहन फॉर्मूले के तहत अब रिजर्व बैंक विदेश में रह रहे भारतीयों की मदद लेगा। इस फॉर्मूले के तहत सरकार विदेश में रह रहे भारतीयों से सस्ते दर पर डॉलर खरीदती है जिससे करेंसी स्वैप होती है और रुपये को मजबूती मिलती है। मनमोहन सिंह सरकार ने इस तरह 34 बिलियन डॉलर का करेंसी स्वैप किया था और रुपये में गिरावट रुक गयी थी।

 

Web Title: rupees decline ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया