मुख्य समाचार
राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण है अयोध्या आने का मकसद: उद्धव ठाकरे सीतापुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो युवकों की मौत न्यूजीलैंड में आया 7.2 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराकर FIH सीरीज़ का फाइनल जीता Air India में नौकरी का सुनहरा मौका, नहीं देनी होगी लिखित परीक्षा इस दिन जारी होंगे UP Polytechnic के परीक्षा परिणाम पति करता था परेशान, पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर उठाया खौफनाक कदम पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसार एक्सप्रेस वे पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत पाकिस्तान ने दी पुलवामा में संभावित आतंकी हमले सूचना, घाटी में हाई अलर्ट भारत-पाक महामुकाबले पर बारिश का खतरा बरकरार मिस इंडिया 2019: सुमन राव ने जीता खिताब, शिवानी रहीं फर्स्ट रनर अप रेल यात्रियों को सफर में मसाज सेवा देने की योजना पर लगा ग्रहण, जानिए क्या रही वजह पीएम मोदी की अध्यक्षता में नीति आयोग की बैठक आज, ममता और केसीआर नहीं होंगे शामिल एनडी टीवी के खास प्रमोटरों पर सेबी ने लगाई रोक, लगा इतने साल का प्रतिबंध एयरपोर्ट पर चंद्रबाबू नायडू की ली गई तलाशी, टीडीपी ने बदले की राजनीति का लगाया आरोप यूपी को डिजिटल उत्तर प्रदेश बनाने के लिए व्यापक और मजबूत दूरसंचार नेटवर्क की आवश्यकता : उप मुख्यमंत्री बल्लेबाजी डॉट कॉम के ब्रांड एम्बेसडर बने युवराज राज्यपाल ने केन्द्रीय गृह मंत्री से भेंट की सड़क सुरक्षा समिति की बैठक : बसों में अग्निशमन यन्त्र लगाने के निर्देश बसपा सांसद के घर कुर्की का आदेश हुआ चस्पा दान के सिक्कों को लेकर परेशानी में साईं बाबा मंदिर ट्रस्ट, जानिए क्या है वजह मीसा भारती ने चुनाव में हार का लिया ऐसे बदला संभावित आतंकी हमले को लेकर अयोध्या में हाई अलर्ट स्कूल चलो अभियान में सभी बच्चों को नजदीकी स्कूलों में शत-प्रतिशत नामांकन कराये जाने के निर्देश पाकिस्तान से वीडियो कॉल कर युवक ने कहा- भाईजान बम कहां रखना है और फिर...
 

किसानों का आरोप, सीधे मुंह नहीं सुनती सरकार


LEKHRAM MAURYA 17/09/2018 08:41:27
211 Views

Lucknow. प्रदेश सरकार एक आदेश जारी कर शासन में बैठे अधिकारियों से गांव में रात्रि विश्राम कर किसानों की समस्याओं के समाधान की बात करती है। वहीं, अपनी समस्याओं को सरकार तक पहुंचाने के लिए राजधानी में आए दिन धरना-प्रदर्शन करने वाले किसानों के लिए शासन के अधिकारियों के पास मौके पर आकर समस्याएं सुनने का वक्त नहीं है।

The government is only chetati on disrupting traffic

सरकार की यह दोहरी नीति आम आदमी की समझ से परे लग रही है। तभी तो दो दिन तक राजधानी में धरना प्रदर्शन करने तक कोई अधिकारी नहीं आया और जब लखनऊ-हरदोई और सीतापुर बाईपास जाम कर मुख्यमंत्री से मिलने के लिए किसानों ने कूच कर दिया, तब उन्हीं अधिकारियों ने मुख्यसचिव से वार्ता कराई, जिसके बाद किसानों के प्रतिनिधि मंडल को मंगलवार का समय दिया गया। उससे पहले मुख्यमंत्री कार्यालय या मुख्यसचिव कार्यालय के किसी भी अधिकारी को मौके पर आने का समय नहीं मिला। 

The government is only chetati on disrupting traffic

  किसानों की मुख्य मांगे

किसानों की मुख्य मांगों में बकाया गन्ने का भुगतान, गेहूं खरीद का बकाया भुगतान और एलडीए द्वारा जिन किसानों की जमीन अधिग्रहीत की गई है, उनको समान मुआवजा देने, राशन दुकानदारों द्वारा राशन वितरण में की जा रही धांधली तथा संडीला में पेय पदार्थ की फैक्ट्री लगाने के लिए शुरूआत किए जाने से लेकर आज तक विरोध जारी रहने के बावजूद कार्य बन्द नहीं हुआ।

The government is only chetati on disrupting traffic 

  सरकार को बताया किसान विरोधी

भारतीय किसान यूनियन (अरा.) लोकतांत्रिक गुट, उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह चौहान के नेतृत्व में आयोजित धरने का समाजवादी सेकुलर मोर्चे के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव और कांगेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने भी मौके पर आकर समर्थन किया। इन नेताओं ने किसानों की समस्याओं को नजरदांज करने पर सरकार को किसान विरोधी करार दिया। इस मौके पर पूर्व मंत्री एवं संरक्षक बादशाह सिंह, राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. राजकुमार सिंह गौतम सहित हजारों किसान एवं महिलाएं उपस्थित थीं।

यह भी पढ़ें .... फिलीपींस में चक्रवाती तूफान से 64 की मौत,अब चीन की ओर बढ़ा

Web Title: The government is only chetati on disrupting traffic ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया