मुख्य समाचार
अपने बजट का पांच फीसद हिस्सा पशुओं के कल्याण में लगाएं राज्य: गिरीश रतन टाटा को हाईकोर्ट से मानहानि मामले में राहत, जानें पूरा मामला मॉब लिंचिंग पर फिर बोले नसीरुद्दीन शाह, परिजनों से मिलकर कहा- साहस को... ट्रामा में फैला खतरनाक फंगस, कारगर दवा नहीं, अलर्ट जारी समलैंगिक विवाह के लिए कोर्ट पहुंचीं दो युवतियां, मजिस्ट्रेट ने नहीं लिया आवेदन, जानें वजह 10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार!
 

शासन प्रशासन से मिली हताशा के बाद विधानसभा के बाहर आत्मदाह करने पहुंची पीड़िता 


GAURAV SHUKLA 21/09/2018 15:05:09
183 Views

Lucknow. राजधानी में विधानसभा के बाहर आत्मदाह का प्रयास करने वालो की संख्या दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। आये दिन पीड़ितों को न्याय न मिलने के कारण विधानसभा या मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह का प्रयास करते रहते हैं। इसी कड़ी में एक बार फिर न्याय न मिलने से हताश आशियाना थाना क्षेत्र निवासी सपना ने विधानसभा के सामने मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह का प्रयास किया। हालांकि विधानसभा की सुरक्षा में तैनात मौजूद पुलिस कर्मियों ने महिला को पकड़ लिया।

Apradhnama sashan prashashan se mili hatasa ke baad vidhansabha ke bahar mahila ka atmdah
आशियाना थाना इलाके से विधानसभा पर आत्मदाह करने पहुची महिला सपना ने बताया कि उसके पुत्र गुलशन की मुरादाबाद में 2017 में हत्या कर दी गई थी। तब से लेकर आज तक वह न्याय की गुहार लगा कर थक गई लेकिन कही से उसे न्याय नहीं मिला। जिसके चलते अंत में वह थक हार कर शुक्रवार को विधानसभा के बाहर आत्मदाह करने पहुंची। पीड़ित महिला ने बताया कि उसने गृहमंत्री से लेकर मुख्यमंत्री और आला अधिकारियों के पास न्याय के लिए प्रार्थना पत्र दे चुकी थी लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नही हुई। पीड़ित महिला सपना का आरोप है कि शासन प्रशासन की मदद के चलते ही उसके बेटे के हत्यारे खुलेआम सड़कों पर घूम रहे है। अगर वह आत्मदाह करने के लिए मजबूर है तो उसके लिए पुलिस महकमे में जिम्मेदार पदों पर बैठे हुए अधिकारी है। महिला की माने तो उसके बेटे की हत्या में पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के द्वारा ली गई घूस की रिकॉर्डिंग भी उसके पास मौजूद है। 

Apradhnama sashan prashashan se mili hatasa ke baad vidhansabha ke bahar mahila ka atmdah

यह भी पढ़ें... ट्रक की टक्कर से ताजिया देखने जा रही महिला की मौत, नाराज परिजनों ने शव रख किया प्रदर्शन

Web Title: Apradhnama sashan prashashan se mili hatasa ke baad vidhansabha ke bahar mahila ka atmdah ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया