योगी राज में आम लोगों का एनकाउंटर !


SUJEET KUMAR 29/09/2018 13:42:49
235 Views

Lucknow. योगी राज में कानून-व्यवस्था एक बार फिर सवालों के घेरे में है। यहां अपराधियों के खिलाफ हो रहे एनकाउंटर पर अक्सर सवाल उठते रहे हैं, जिसमें पुलिस अपराधियों को कम आम लोगों को अधिक निशाना बना रही है। इन सबके बीच यूपी पुलिस का एक और कारनामा सामने आया है। यहां राजधानी के गोमती नगर विस्तार में यूपी पुलिस के एक सिपाही प्रशांत चौधरी ने एप्पल कंपनी के सेल्स मैनेजर की गोली मारकर हत्या कर दी। विवेक तिवारी को उस वक्त गोली मारी गई जब वे अपनी सहकर्मी को ड्रॉप करने जा रहे थे। 

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

 

  पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट

विवेक की मौत को लेकर शनिवार को एक बड़ा खुलासा हुआ है। मृतक की पोस्‍टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि  उनको बिल्‍कुल पास से गोली मारी गई थी। विवेक तिवारी के सिर में गोली मिली है। उधर, इस पूरे मामले में एकमात्र चश्‍मदीद गवाह सना खान ने कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया है। रिपोर्ट में विवेक के सिर में बुलेट इंजरी पाई गई है। उनके सिर में काफी करीब से गोली मारी गई थी। 

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

इस मामले में दो आरोपी कॉन्स्टेबल प्रशांत चौधरी और संदीप को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने सख्‍त कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

सीएम ने डीजीपी ओपी सिंह से बात कर पूरे मामले की जांच करने और कार्रवाई करने के लिए कहा है। इस संबंध में दो सिपाहियों को गिरफ्तार किया गया है, जिनसे पूछताछ जारी है।  

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

  योगी के आने पर होगा अंतिम संस्कार 

मृतक विवेक की पत्नी कल्पना तिवारी का कहना है कि उनके पति का अंतिम संस्कार तब तक नहीं किया जाएगा, जब तक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ यहां नहीं आते। इसी के साथ ही विवेक की पत्नी कल्पना ने भी यूपी सरकार की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि अगर उनके पति किसी संदिग्ध हालत में थे और उन्होंने गाड़ी नहीं रोकी तो आरटीओ दफ्तर जाकर उनकी गाड़ी का नंबर नोट करके उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए थी। पुलिस ने उन्हें गोली क्यों मारी?

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

कल्पना ने बताया कि 'मैं उस महिला को जानती हूं जो उस समय मेरे पति के साथ मौजूद थी। विवेक की पत्नी ने बताया कि अस्पताल के एक कर्मचारी ने फोन पर मुझे जानकारी दी कि आपके पति और उनके साथ मौजूद महिला को चोट लगी है। आखिर पुलिस ने मुझे इस बात की जानकारी क्यों नहीं दी?' वहीं, विवेक के रिश्तेदार विष्णु शुक्ला ने पूछा कि क्या वे आतंकवादी थे जो पुलिस ने उन पर फायरिंग की? इसके साथ ही इस मामले में उन्होंने निष्पक्ष सीबीआई जांच की मांग की है। 

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

  क्या है मामला ?

आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी का कहना है कि हमने कार को रोकने का प्रयास किया, लेकिन कार रुकने की बजाय हम लोगों की मोटरसाइकिल पर चढ़ा दी। जिसके बाद हमने गोली चलाई। घायल विवेक को लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

सबसे खास बात है कि आरोपी सिपाही अपने को बचाने के लिए झूठी कहानी तैयार करके बयान दे रहा है। जबकि दोनों सिपाहियों को न को खरोंच आई और न ही उनकी बाइक दुर्घटनाग्रस्त हुई है। घटना गोमतीनगर इलाके के मकदूमपुर पुलिस चौकी की है। फिलहाल, आरोपी पुलिसकर्मी प्रशांत चौधरी के खिलाफ गोमती नगर थाने में हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। साथ ही दोनों को बर्खास्त कर दिया गया है। 

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

  सवाल पर सवाल करती रही पुलिस नहीं हुआ इलाज 

मृतक की सहयोगी सना ने बताया कि सिपाहियों ने अचानक से गाड़ी रुकवाई, विवेक सर ने सन्नाटे में गाड़ी नहीं रोकी, बाइक के पहिए पर गाड़ी चढ़ गई, सामने से सिपाही ने गोली मार दी, बिना कुछ कहे विवेक सर को गाली मार दी। विवेक के चिन पर गोली लगी थी। गोली मारकर दोनों पुलिसकर्मी फरार हो गए। 

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

सना ने बताया, गोली लगने के बाद गाड़ी आगे टकरा गई, अस्पताल में इलाज नहीं हुआ पुलिस हमसे पूछताछ कर रही थी।

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

सना ने कहा कि, आरोपी पुलिसवालों को कड़ी सजा होनी चाहिए, मैं कल फोन नहीं ले गई थी, ट्रक वालों से फोन मांग रही थी, कुछ देर में दोबारा पुलिस आई थी, पुलिस एम्बुलेंस को कॉल कर रही थी, मैंने कहा उन्हें गाड़ी से ही ले चलो, जिसके बाद पुलिस विवेक को लोहिया अस्पताल ले गई।

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

  यूपी में गुंडाराज मुक्त का दावा फेल 

उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की 15 साल बाद एंट्री हुई है। भाजपा शुरूआत से यूपी में गुंडाराज को खत्म कर बेहतर कानून व्यवस्था की बात कहती आ रही है, पर यूपी में योगी राज के आने पर ये सारे दावे फेल होते हुए दिखाई दे रहे हैं। यहां बढ़ते अपराध पर लगाम लगाने के लिए सरकार ने यूपी पुलिस को काफी छूट दी हुई है, जिसका नतीजा सबके सामने है। यहां पुलिस बदमाशों के बजाए आम लोगों को निशाना बना रही है और एक बाद एक एनकाउंटर की झड़ी लगा रही है। 

uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters

उत्तर प्रदेश में जब से बीजेपी की सरकार बनी है तब से जून 2018 तक 2244 एनकाउंटर हो चुके हैं। जिनमें 59 अपराधी ढेर हुए हैं, जबकि 5387 जेल भेजे गये। आंकड़ों से पता चलता है कि सबसे ज्यादा एनकाउंटर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हुए हैं। इसके साथ ही पुलिस ने गैंगस्टर्स और दूसरे अपराधियों की 100 करोड़ से ज्यादा की संपत्तियां भी जब्त की है।

  जब महफूज नहीं पुलिस तो जनता कैसे

भले ही बेहतर कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस प्रशासन तमाम तरह के दावे करता हो, लेकिन वास्तविकता कुछ अलग है। जहां एक ओर एसएसपी की मुस्तैदी के बाद पुलिस प्रशासन में तमाम परिवर्तन देखने को मिले, वहीं उस दौरान पुलिस के इकबाल पर सवाल खड़े हो गये, जब खुद पुलिसकर्मी ही जनता के आक्रोश का कारण बने।  

  रिटायरमेंट से पहले छिनी दरोगा की पिस्टल 

मानकनगर में सरेराह दरोगा की पिस्टल छीने जाने के मामले के सामने आने के बाद जो बड़ा सवाल खड़ा हुआ कि जो पुलिसकर्मी अपनी ही पिस्टल की रक्षा कर पाने में अक्षम हैं वह किस तरह से सड़क पर होती वारदातों से आम जनमानस की रक्षा करेंगे। दरोगा प्रमोद कुमार से यह लूट उस दौरान हुई जब उनके रिटायरमेंट के महज 20 दिन ही शेष रह गये थे। वह तकरीबन 40 साल की नौकरी को पूरा कर 31 जुलाई को रिटायर होने वाले थे। लेकिन उससे पहले ही उनके साथ यह वारदात हो गयी। 

  उपद्रवियों ने की मारपीट, पिस्टल लूटने का प्रयास 

अलीगंज में 15 अगस्त की रात को उपद्रव कर रहे लोगों की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस टीम के साथ मारपीट की वारदात देखने को मिली। उपद्रवियों ने न सिर्फ सिपाही के साथ मारपीट की बल्कि उसकी सर्विस रिवाल्वर को लूटने का भी प्रयास किया। हालांकि पुलिस टीम के पहुंचने पर उनकी गिरफ्तारी की गयी। 

14 सितम्बर 2018 
शुक्रवार तड़के सीडीआरआई के पास गश्त कर रहे पीआरवी (0497) पर तैनात पुलिसकर्मियों से मारपीट की गयी। इस दौरान मुठभेड़ के बाद बदमाश बोलैरो छोड़कर भागने में कामयाब रहे। 

14 सितम्बर 2018
गाजीपुर के समद्दीपुर में गांव में विवाद की सूचना पर मौके पर पहुंची यूपी 100 की टीम पर मोहल्ले की महिलाओं ने जमकर बवाल काटा। इस दौरान महिलाओं ने पुलिसकर्मियों की पिटाई भी। 

17 सितम्बर 2018
ट्रैफिक संचालन में बाधा बन रही सड़क पर खड़ी एसयूवी का विरोध करने पर ट्रैफिक कांस्टेबल धर्मवीर यादव की स्थानीय व्यापारी ने अपने साथियों के साथ दौड़ाकर पिटाई कर दी। इस दौरान पिटाई से सिपाही की वर्दी भी फट गयी। 

  घटनाएं जिन्होंने उठाए सवाल, कहां महफूज हैं हम 

11 जुलाई मड़ियांव - 15 वर्षीय किशोरी से गैंगरेप आरोपियों ने कुचला चेहरा। 
15 जुलाई सहादतगंज - राशिद (36) ने पड़ोसी 6 वर्षीय किशोरी बनाया हवस का शिकार।
17 जुलाई इंदिरानगर - प्रेमी पर शादी का झांसा देकर रेप का आरोप। 
19 जुलाई नाका - इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में काम करने वाले युवक ने शादी का झांसा देकर किया रिसेप्शनिस्ट का रेप। 

26 जुलाई हजरतगंज - झाड़ू पोछा करने गयी युवती से बटलर पैलेस में गैंगरेप। 
5 अगस्त चिनहट - निर्माणाधीन बिल्डिंग में महिला मजदूर से रेप। 
6 अगस्त हसनगंज - मदेयगंज में 14 वर्षीय किशोरी ने पिता पर लगाया रेप का आरोप। 
7 अगस्त मड़ियांव - 10वीं की छात्रा ने शिक्षक पर लगाया 10 माह तक रेप करने का आरोप। 
7 अगस्त बाजार खाला - परिजनों से नाराज होकर निकली युवती के साथ दोस्त ने अपने अन्य साथियों के साथ किया गैंगरेप। 

9 अगस्त जानकीपुरम - किराए के मकान में रह रहे नाबालिग ने किया 3 वर्षीय मासूम का रेप। 
9 अगस्त बंथरा - रिश्तेदार के घऱ से वापस आ रही महिला के साथ रास्ते में गैंगरेप। 
11 अगस्त आशियाना - कालेज ले जाने वाले टैंपो चालक ने छात्रा से किया रेप। 
1 सितम्बर जानकीपुरम - शौच के लिए घऱ से बाहर गयी 16 वर्षीय युवती के साथ छेड़छाड़ रेप का प्रयास। 
18 सितम्बर निगोहा - ममेरे भाई ने 8 वर्षीय मासूम से किया रेप का प्रयास। 

  लगातार मिल रहे शव 

9 जुलाई पारा - सुखनंदन खेड़ा में हाथ, पैर, सिर कटी मिली युवती की लाश। 
11 जुलाई गोमतीनगर - जुगौली रेलवे क्रासिंग पर मिली विजय कुमार की लाश।
19 जुलाई निगोहा - पटसा गांव में फार्म हाउस पर मिला युवक का शव। 
1 अगस्त गोमतीनगर - कुकरैल नाले में मिला महिला का शव। 
10 अगस्त बीकेटी - चंद्रा लान के पास मिला कबाड़ व्यापारी का शव। 
15 अगस्त मड़ियांव - यासीनबाग तालाब में मिला 7 वर्षीय मासूम का शव। 
25 अगस्त गौतमपल्ली - 1090 चौराहे के पास उतराता मिला 40 वर्षीय महिला का शव। 
9 सितम्बर विभूतिखण्ड - होटल हिल्टस के पास नाली में मिला बुजुर्ग का शव। 
10 सितम्बर चिनहट - इंदिरा नहर के रेगुलेटर में उतराता मिला युवती का शव। 
10 सितम्बर चिनहट - शारदा नहर में रेगुलेटर के गेट में फंसा मिला युवक का शव। 
17 सितम्बर चिनहट - इंदिरा नहर में मिला एक युवक और एक महिला का शव। 
20 सितम्बर चिनहट - कला गांव में मिला अधेड़ युवक का शव।

Web Title: uttar pradesh police shoot common man in lucknow up encounters ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया