मुख्य समाचार
नाम बदलने पर भड़के सपा नेता: कहा, योगी के बाप ने नहीं बसाया आजमगढ़ नाबालिग मासूम से दरिंदगी के बाद हत्या सलमान पर भड़कीं करणवीर की पत्नी टीजे सिंधु, लिखा ओपन लेटर धर्म निरपेक्ष है सबरीमाला मंदिर, सभी धर्मों के लिए खुला है : केरल सरकार छठ पर्व : एसएसपी ने घाटों पर पहुंचकर लिया जायजा, लगाई गईं तमाम टीमें कैबिनेट बैठक के बाद सीएम के निकलने से पहले महिला ने किया आत्मदाह का प्रयास  नेताजी से रिश्ते पर कुछ बोल न सके शिवपाल, भतीजे के बाद भाई ने भी तोड़ा नाता! दो माह में निचले स्तर पर पहुंचे डीजल के भाव, 26 दिन में 5 रुपये घटे पेट्रोल के दाम #Chhath puja: छठ का त्योहार क्यों मनाया जाता है , जानिए इस व्रत का क्या है महत्व सांसद जी के गाने पर चलती रहीं गोलियां भारत में oneplus 6T का थंडर पर्पल वेरिएंट लॉन्च, जानें क्या है कीमत व आॅफर्स जानिए, क्यों मनाया जाता है छठ महापर्व जन्मदिन विशेष: अश्लील गाने की शूटिंग के बाद फूट-फूट कर रोई थीं जूही चावला बदलते मौसम में खाएं ये चीजें, खिली-खिली रहेगी त्वचा शह और मात के खेल में बीजेपी की करारी शिकस्त, एक ही दिन में सैकड़ों नेता सपा में शामिल  रेसलर का गुस्सा राखी ने तनुश्री पर निकाला, कही ये होश उड़ाने वाली बात विशेष : फेक न्यूज़ डिटेक्शन पर हुई वर्कशॉप, सामने आईं कई महत्वपूर्ण बातें
 

इंडिया ही नहीं बल्कि एशिया पैसिफिक रीजन में पहली बार हुआ स्कल इंप्लांट


GAURAV SHUKLA 11/10/2018 12:20:05
100 Views

 Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region

गूगल इमेज 


Lucknow. पुणे में डॉक्टर्स की एक टीम ने 4 साल की बच्ची का 60 फीसदी डैमेज हुए स्कल इंप्लांट किया है। इस सर्जरी के दौरान कस्टमाइज थ्री डायमेंशनल पॉलीथीन हड्डी के साथ स्कल को सफलतापूर्वक बदल दिया गया। डॉक्टर्स का कहना है कि भारत में यह पहला मामला है जब स्कल इंप्लांट किया गया है। आपको बता दें कि सिंथेटिक बोन पर एक अमेरिका आधारित कंपनी द्वारा प्रभावित स्कल की माप और आकार के आधार पर यह स्कल बनाया गया है। 
गौरतलब है कि पिछले साल एक कार एक्सीडेंट में बच्ची की स्कल(खोपड़ी) बुरी तरह से डैमेज हो गयी थी। उस दौरान डॉक्टर्स ने दो क्रिटिकल सर्जरी करके बच्ची को अस्पताल से छुट्टी दे दी थी। डॉक्टर्स ने बच्ची को दोबारा अस्पताल में भर्ती किया और इस साल मई में इस सर्जरी को सफलतापूर्वक किया गया था। बच्ची का परिवार पुणे के कोथरुड का रहने वाला है। बच्ची को एक्सीडेंट के तुरंत बाद भारती अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां उसका शुरुआती इलाज बाल रोग विशेषज्ञ जितेंद्र ओसवाल द्वारा किया गया था। डॉक्टर के अनुसार बच्ची को बेहोशी की हालत में हॉस्पिटल लाया गया था। उस दौरान सिर से लगातार खून बह रहा था। जिसके तुरंत बाद उसे वेंटिलेटर पर रख दिया गया था। सीटी स्कैन के दौरान पता चला कि बच्ची के सिर की पिछली हड्डी(ओसीपीटल) में एक फ्रैक्चर के साथ ब्रेन में सूजन है। जिससे ब्रेन थोड़ा सिकुड़ गया था। वहीं मस्तिष्क में तरल पदार्थ एडीमा काफी मात्रा में आ गया था। 

 Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region

गूगल इमेज 


बच्ची के क्लीनिकल कंडीशन में 48 घंटे बाद भी कोई इंप्रूव न होने पर बच्ची का दोबारा सीटी स्कैन करवाया गया। जिसकी रिपोर्ट हैरान करने वाली थी। रिपोर्ट के अनुसार बच्ची के दिमाग पर एक्सीडेंट का गहरा असर पड़ा था और ब्रेन का सेंटर पार्ट से संपर्क भी टूट गया था। ऐसी स्थिति में न्यूरोसर्जन ने सर्जरी कर टेंपरेरी और कुछ पार्शल पार्ट को हटा कर बच्ची के ब्रेन पर पड़ने वाले दबाव को हल्का किया। न्यूरोसर्जन विशाल रोकड़े के अनुसार, बच्ची की उम्र छोटी होने के कारण उसकी क्रैनियल बोन को नजरअंदाज कर दिया गया जबकि बड़ी उम्र में ऐसे मामलों में क्रैनियल बोन को फ्रीज करके दोबारा इंप्लांट किया जाता है। इस सर्जरी के दो महीने बाद बच्ची को घर भेज दिया गया। घर भेजे जाने के बाद जब बच्ची चेकअप के लिए आती थी तो वो खुद से चलने-फिरने लगी थी। हालांकि वो इमोशनली काफी डिस्टर्ब हो गई। विशाल कहते हैं कि इंडिया ही नहीं बल्कि एशिया पैसिफिक रीजन में पहली बार स्कल इंप्लांट हुआ है। डॉक्टर्स ने दुनियाभर के बड़े सर्जन से बातचीत और डिस्कस करके इस सर्जरी को अंजाम दिया।

 

 Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region

गूगल इमेज 

Web Title: Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया


loading...