मुख्य समाचार
जानिए जातिवाद पर हरियाणा हाईकोर्ट ने क्या टिप्पणी की स्वरा भास्कर के निशाने पर आईं प्रज्ञा ठाकुर, हेमंत पर दिया था बयान वेडिंग एनिवर्सरी पर अभिषेक ने शेयर की ऐश की फोटो, लिखा हनी मून, फैंस बोले इतना गुरूर... कॉफी विद करण मामला : पांड्या और राहुल पर लगा 20-20 लाख रुपये का जुर्माना बाइक पोल से टकराई, युवक की मौत अधिकारियों को नहीं दिखाई पड़ रहा आचार संहिता का उल्लंघन मथुरा में आइसक्रीम फैक्ट्री में अमोनिया गैस का रिसाव,15 की ​बिगड़ी तबियत मोदी ने इस नेता को बताया स्पीड ब्रेकर शूट के दौरान विक्की कौशल को आई गंभीर चोटें अपने सबसे बड़े चुनावी वादे को लेकर बुरी फंसी कांग्रेस सुरवीन चावला के घर आई नन्ही परी, देखें तस्वीर खोदा पहाड़ निकली चुहिया साबित होगा नकली भतीजा-बुआ का गठबंधन : केशव मौर्य एलएचबी कोच बने सुरक्षा कवच, बची भीषण तबाही स्पाइसजेट बना जेट के कर्मचारियों का सहारा, 100 पायलटों सहित 500 लोगों को दी नौकरी जल्‍द फाइटर जेट के कॉकपिट में नजर आएंगे विंग कमांडर अभिनंदन पूर्वा एक्सप्रेस हादसे के चलते बाधित हुआ हावड़ा रूट पर ट्रेनों का संचालन कोहली की पारी ने दिखाया कमाल, 10 रन से जीती RCB नोट्रे डेम को पहले जैसा बनाना चाहते हैं मैक्रों, येलो वेस्ट प्रदर्शन से बिगड़ी छवि को सुधारने की कवायद सीएम योगी बोले- बाबा साहेब ने न किया होता यह काम, तो आज भी किसी जमींदार के यहां भैंस चरा रहे होते अखिलेश  विश्व कप में खिलाड़ियों के साथ जा सकेंगी पत्नियां पर BCCI ने लगाई तमाम बंदिशें साध्वी प्रज्ञा का मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान अवैध कमाई के लिए डग्गामार वाहनों पर मेहरबान है पुलिस— प्रशासन मायावती ने मुलायम की मौजूदगी में मंच किया खुलासा - गेस्टहाउस कांड के बाद भी इसलिए हुआ गठबंधन इंस्टाग्राम को लेकर आई बड़ी खबर, यूजर्स का पासवर्ड असुरक्षित तरीके से स्टोर हाईकोर्ट से भाजपा विधायक को बड़ा झटका, सुनाई गयी आजीवन कारावास की सजा  प्रियंका ने राहुल गांधी को सौंपा अपना इस्तीफा #IPL2019 : दिल्ली कैपिटल्स को 40 रन से हराकर मुंबई पहुंची दूसरे स्थान पर जेट एयरवेज की हवाई सेवाएं बंद होने पर निराश हुए फिल्मी सितारे साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ NIA कोर्ट में याचिका दायर, चुनाव लड़ने पर रोक की मांग बुधवार को जेट एयरवेज ने भरी आखिरी उड़ान कोई भी अपराजेय नहीं है, सबको हराया जा सकता है : आचार्य प्रमोद कृष्णम World Cup के लिए ईशांत, सैनी और अक्षर होंगे टीम इंडिया के स्टैंड बाई राज्यपाल को पीजीआई में लगाया गया पेसमेकर, पूरी तरह हैं स्वस्थ
 

इंडिया ही नहीं बल्कि एशिया पैसिफिक रीजन में पहली बार हुआ स्कल इंप्लांट


GAURAV SHUKLA 11/10/2018 12:20:05
337 Views

 Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region

गूगल इमेज 


Lucknow. पुणे में डॉक्टर्स की एक टीम ने 4 साल की बच्ची का 60 फीसदी डैमेज हुए स्कल इंप्लांट किया है। इस सर्जरी के दौरान कस्टमाइज थ्री डायमेंशनल पॉलीथीन हड्डी के साथ स्कल को सफलतापूर्वक बदल दिया गया। डॉक्टर्स का कहना है कि भारत में यह पहला मामला है जब स्कल इंप्लांट किया गया है। आपको बता दें कि सिंथेटिक बोन पर एक अमेरिका आधारित कंपनी द्वारा प्रभावित स्कल की माप और आकार के आधार पर यह स्कल बनाया गया है। 
गौरतलब है कि पिछले साल एक कार एक्सीडेंट में बच्ची की स्कल(खोपड़ी) बुरी तरह से डैमेज हो गयी थी। उस दौरान डॉक्टर्स ने दो क्रिटिकल सर्जरी करके बच्ची को अस्पताल से छुट्टी दे दी थी। डॉक्टर्स ने बच्ची को दोबारा अस्पताल में भर्ती किया और इस साल मई में इस सर्जरी को सफलतापूर्वक किया गया था। बच्ची का परिवार पुणे के कोथरुड का रहने वाला है। बच्ची को एक्सीडेंट के तुरंत बाद भारती अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां उसका शुरुआती इलाज बाल रोग विशेषज्ञ जितेंद्र ओसवाल द्वारा किया गया था। डॉक्टर के अनुसार बच्ची को बेहोशी की हालत में हॉस्पिटल लाया गया था। उस दौरान सिर से लगातार खून बह रहा था। जिसके तुरंत बाद उसे वेंटिलेटर पर रख दिया गया था। सीटी स्कैन के दौरान पता चला कि बच्ची के सिर की पिछली हड्डी(ओसीपीटल) में एक फ्रैक्चर के साथ ब्रेन में सूजन है। जिससे ब्रेन थोड़ा सिकुड़ गया था। वहीं मस्तिष्क में तरल पदार्थ एडीमा काफी मात्रा में आ गया था। 

 Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region

गूगल इमेज 


बच्ची के क्लीनिकल कंडीशन में 48 घंटे बाद भी कोई इंप्रूव न होने पर बच्ची का दोबारा सीटी स्कैन करवाया गया। जिसकी रिपोर्ट हैरान करने वाली थी। रिपोर्ट के अनुसार बच्ची के दिमाग पर एक्सीडेंट का गहरा असर पड़ा था और ब्रेन का सेंटर पार्ट से संपर्क भी टूट गया था। ऐसी स्थिति में न्यूरोसर्जन ने सर्जरी कर टेंपरेरी और कुछ पार्शल पार्ट को हटा कर बच्ची के ब्रेन पर पड़ने वाले दबाव को हल्का किया। न्यूरोसर्जन विशाल रोकड़े के अनुसार, बच्ची की उम्र छोटी होने के कारण उसकी क्रैनियल बोन को नजरअंदाज कर दिया गया जबकि बड़ी उम्र में ऐसे मामलों में क्रैनियल बोन को फ्रीज करके दोबारा इंप्लांट किया जाता है। इस सर्जरी के दो महीने बाद बच्ची को घर भेज दिया गया। घर भेजे जाने के बाद जब बच्ची चेकअप के लिए आती थी तो वो खुद से चलने-फिरने लगी थी। हालांकि वो इमोशनली काफी डिस्टर्ब हो गई। विशाल कहते हैं कि इंडिया ही नहीं बल्कि एशिया पैसिफिक रीजन में पहली बार स्कल इंप्लांट हुआ है। डॉक्टर्स ने दुनियाभर के बड़े सर्जन से बातचीत और डिस्कस करके इस सर्जरी को अंजाम दिया।

 

 Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region

गूगल इमेज 

Web Title: Skull implants, not only in India but for the first time in the Asia Pacific region ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया