स्वच्छता और समभाव के राजदूत हैं स्वामी चिदानन्द सरस्वती : मौलाना कल्बे सादिक


MOHD ATHAR RAZA 16/10/2018 16:02:05
1761 Views

Lucknow. परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज और शिया पी जी काॅलेज लखनऊ का भ्रमण किया और वहां के प्रोफेसर और हजारों की संख्या में उपस्थित छात्र-छात्राओं को स्वच्छता और पर्यावरण संरक्षण का महत्व बताते हुये स्वच्छ भारत मिशन में सहयोग के लिए     प्रेरित किया और काॅलेज परिसर में वृक्षारोपण किया।

Our Swami Chidanand Saraswati ji is the ambassador of cleanliness and equality. Maulana Kalbe Sadiq

स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने कहा कि मौलाना कल्बे सादिक साहब भारत ही नहीं बल्कि पूरे शिया जगत में सम्मान के पात्र हैं, इस समय मौलाना साहब का स्वस्थ ठीक नहीं था, लेकिन उनका मन, दिल और दिमाग अभी भी भारत की एकता, अमन और भारत को चमन बनाये रखने के लिये ही क्रियाशील है।

स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने स्वच्छ भारत मिशन को स्कूल, काॅलेजों के छात्रों और जन समुदाय का अभिन्न अंग बनाने की बात पर जोर देते हुये कहा कि हमारे देश में पर्व, त्योहारों एवं उत्सव के अवसरों पर घरों और दुकानों की तो साफ-सफाई की जाती है परन्तु वहां से निकला सारा कचरा गलियों में डाल दिया जाता है। हमें यही सोच को बदलना है। हर व्यक्ति को अपने सामने और आस-पास की गलियों की जिम्मेदारी लेनी होगी। हमें अपने घर और गलियों से बाहर निकल कर अपने गांवों, शहरों और पूरे देश की स्वच्छता के लिये आगे आना होगा। स्वामी जी ने कहा कि अपने घर से हमें थोड़ा आगे के बारे में सोचना होगा, थोड़ा आगे बढ़ना होगा ताकि स्वच्छता एक संस्कृति और संस्कार बने।

Our Swami Chidanand Saraswati ji is the ambassador of cleanliness and equality. Maulana Kalbe Sadiq

शिया पी जी काॅलेज के प्राचार्य शमशेर ने काॅलेज के विषय में जानकारी देते हुये कहा कि यह काॅलेज विश्वविद्यालय बनने के मापदंड़ों पर आधारित है सरकार को इस ओर ध्यान देने की जरूरत है। स्वामी  ने कहा कि यह काॅलेज धर्मनिरपेक्षता के साथ देश भक्ति की शिक्षा और संस्कार भी अपने छात्रों को प्रदान करता है। स्वामी महाराज ने कहा कि शिया काॅलेज के इन हजारों की संख्या में उपस्थित छात्र-छात्राओं की फौज को एक नई दिशा प्रदान की जा सकती है। छात्रों में स्वच्छता के संस्कारों का रोपण करने के लिये शार्ट फिल्म, प्रेरक उद्बोधन और दृष्टांतों के माध्यम से उनके विचारों में, सोच में परिवर्तन लाया जा सकता है।

Our Swami Chidanand Saraswati ji is the ambassador of cleanliness and equality. Maulana Kalbe Sadiq

 बच्चों में स्वच्छता के संस्कारों को विकसित करने को लेकर ईरान की घटना का जिक्र करते हुये मौलाना कल्बे सादिक ने कहा कि इरान के शहरों में मोहल्लों को स्वच्छ रखने की जिम्मेदारी वहां के लोगों की ही होती है। अपने मोहल्लो को स्वच्छ रखना उस मोहल्ले के लोगों की ही जिम्मेदारी है अब वहां की हर सड़कें और परिसर चमकते रहते हैं। जब स्वतः ही स्वच्छता के संस्कार विकसित हो जाते है तो जिम्मेदारी का अहसास भी होने लगता है।

स्वामी चिदानन्द सरस्वती महाराज ने शिया पी जी काॅलेज के छात्र-छात्राओं को स्वच्छता एव पर्यावरण संरक्षण का संकल्प कराया। स्वामी महाराज ने काॅलेज प्रबंधन से वादा किया की यहां के लगभग 20,000 छात्रों और दूसरी शाखा की 6000 छात्राओं के साथ स्वच्छता, समरसता और सद्भाव का विशाल कार्यक्रम सम्पन्न करेंगे, जिसमें स्वामी स्वयं सहभाग करेंगे।

Our Swami Chidanand Saraswati ji is the ambassador of cleanliness and equality. Maulana Kalbe Sadiq

Web Title: Our Swami Chidanand Saraswati ji is the ambassador of cleanliness and equality. Maulana Kalbe Sadiq ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया