मुख्य समाचार
किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर बाढ़ और बारिश से बेस्वाद हुई दाल, टमाटर हुआ लाल, इन सब्जियों के बढ़े 50 फीसदी दाम मॉब लिंचिंग पर सपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं मुसलमान अब इस दिग्गज ने की प्रियंका के नाम की वकालत बाढ़ से बेहाल असम-बिहार, ताजा तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर पीड़ितों ने कौन सा अपराध किया जो उन्हें मुझसे मिलने से रोका जा रहा : प्रियंका AKTU : यूपीएसईई – 2019 की काउंसलिंग का तीसरा चरण आज से शुरु ICC के फैसले से सदमे में जिम्बाब्वे की टीम प्लेसमेंट ड्राइव में 5 से 7 लाख के पैकेज के साथ आई कंपनी, 120 छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग मंचीय कविता के आखिरी स्तम्भ थे नीरज : लक्ष्मी नारायण चौधरी एजाज खान के अरेस्ट होने के बाद ट्वीटर पर छाए मीम्स- यूजर्स बोले... ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए मैंगो फूड फेस्टिवल का आयोजन : डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा तेजबहादुर की याचिका पर पीएम मोदी को नोटिस
 

क्या मंदिर निर्माण के लिए विधेयक लाएगी मोदी सरकार?


ABHIMANYU VERMA 18/10/2018 17:40:54
175 Views

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर मोदी सरकार पर लगातार दबाव बढ़ता जा रहा है। संतों के बाद अब भाजपा के अपने ही संगठन के लोग इस मुद्दे को लेकर सरकार को घेरने में लगे हुए हैं। ऐसे में सरकार के पास एक ही रास्ता ही बच जाता है कि वह संसद के अगले सत्र में कानून बनाकर मंदिर निर्माण का रास्ता साफ करे। 

kya mandir nirman ke liye vidheyak layegi modi sarakar?

  आरएसएस प्रमुख के बयान से सरकार पर बढ़ा दबाव

2019 से पहले संत मंदिर निर्माण शुरू करवाने के लिए लगातार मोदी सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे हैं, जिसको लेकर संतों के आए दिन बयान सामने आ रहे हैं। इसी बीच आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के द्वारा विजयदशमी कार्यक्रम में दिए बयान से सरकार पर दबाव और भी बढ़ गया है। 

दरअसल भागवत ने अपने बयान में कहा कि कुछ लोग राजनीति की वजह से जानबूझकर मंदिर मामले को आगे खींचते जा रहे हैं। राम जन्म भूमि पर जल्द से जल्द राम मंदिर बनना चाहिए। सरकार को कानून बनाकर मंदिर निर्माण करना चाहिए। उन्होंने कहा कि राम मंदिर का बनना गौरव की दृष्टि से आवश्यक है, मंदिर बनने से देश में सद्भावना व एकात्मता का वातावरण बनेगा। 

भागवत ने आगे कहा कि राम मंदिर हिन्दू-मुसलमान का मसला नहीं है। यह भारत का प्रतीक है और जिस भी रास्ते से मंदिर निर्माण संभव है, मंदिर का निर्माण होना चाहिए। उनके इस बयान से साफ़ जाहिर होता है कि वह सरकार से कहना चाहते हैं कि मंदिर निर्माण से आरएसएस और भाजपा के समर्थकों की भावना जुड़ी हुई है। 

यह भी पढ़ें:-.......बड़ी खबर: मोहन भागवत का बड़ा बयान, कानून लाकर बनाएं राम मंदिर

मंदिर को लेकर विधेयक ला सकती है सरकार?

केंद्र की भाजपा सरकार के पास ऐसे में एक ही रास्ता बचता है कि वह मंदिर निर्माण के लिए सदन के शीत कालीन सत्र में विधेयक लाए, लेकिन इससे सरकार को ही फायदा होगा। ऐसा करके वह राम मंदिर के समर्थकों को मंदिर निर्माण का भरोसा दिलाकर उनका वोट अपना पक्ष में कर सकती है। 

वहीं दूसरी तरफ विपक्ष इस मुद्दे पर सरकार पर सीधा हमला करने से बचेगा। अगर इस मुद्दे पर प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस सीधे सरकार पर हमला करती है तो इससे उसे ही नुकसान होने वाला है और उसका सॉफ्ट हिंदुत्व का प्लान फेल हो सकता है। ऐसे में मोदी सरकार के पास शीत कालीन सत्र मुद्दे को भुनाने के लिये आखिरी मौका साबित होने वाला है।

यह भी पढ़ें:-.......अयोध्या से श्रीराम की बारात लेकर जनकपुर जाएंगे पीएम मोदी!

Web Title: kya mandir nirman ke liye vidheyak layegi modi sarakar? ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया