मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल बच्चों में गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार भी जरूरी : ब्रजेश पाठक  रवि किशन ने राहुल को दी नसीहत, सीरियस नहीं हुए तो राजनीति से करियर खत्म योगी सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी नहीं असरदार कार्य कर रही है : उप मुख्यमंत्री जय श्रीराम न बोलने पर बागपत में मौलाना की पिटाई सावन की पूर्णिमा व अमावस्या पर होगी भव्य गंगा आरती पहले दूसरे जाति की लड़की से की शादी, फिर बेइज्जती के डर से पत्‍नी की करवा दी हत्या
 

क्यों खाया जाता है दशहरे में पान? जानें इसके पीछे क्या है कारण


NAZO ALI SHEIKH 19/10/2018 15:02:56
142 Views

Lucknow. दशहरे के त्योहार की पूरे देश में धूम मची हुई है। इस साल दशहरा 19 अक्टूबर शुक्रवार के दिन मनाया जा रहा है। वैसे तो दशहरा पूरी दुनिया में मनाया जाता है, लेकिन भारत में इसकी कुछ ज्यादा ही धूम देखने को मिलती है। इस दिन जुड़ी हुई बहुत सी मान्यताएं चलन में हैं। जैसे शास्त्रों की पूजा, रावण दहन के बाद बड़ो के पैर छूकर आशीर्वाद लेना आदि, इनमें से एक है दशहरे के दिन पान खाना। शायद आपको नहीं पता होगा कि दशहरे के दिन पान खाने का रिवाज है। मान्यता के अनुसार इस दिन हनुमान जी को पान का बीड़ा चढ़ा कर बाद में उसे ही खाया जाता है। कहते हैं पान हनुमान जी को बहुत ही पसंद है। 

यह भी पढ़ें... नवरात्रि उत्सव : बेंगलुरु स्थित आर्ट ऑफ लिविंग अंतर्राष्ट्रीय केंद्र में पहुंचे 75 देशों से एक लाख से अधिक लोग

kyon khaya jata hai dussehra mein paan?

  जानें, पान खाने का महत्व

पान खाने के वैसे तो बहुत से कारण हैं लेकिन ज्योतिष के अनुसार पान जीत का प्रतीक माना जाता है। इसके साथ ही पान के बीड़ा का मतलब होता है कि हम आज के दिन से सही रास्ते पर चलने का 'बीड़ा' उठाते हैं। पान प्यार का भी प्रतीक होता है। दशहरे में रावण दहन के बाद पान का बीड़ा खाने की परंपरा है। ऐसा मानते हैं कि दशहरे के दिन पान खाकर लोग असत्य पर हुई सत्य की जीत की खुशी मनाते हैं। 

  हिंदू धर्म में शुभ माना जाता है पान

ज्योतिषियों के अनुसार पान का पत्ता मान-सम्मान का प्रतीक माना जाता है। इसलिए किसी भी शुभ काम में पान के पत्ते का प्रयोग जरूर किया जाता है। नवरात्रि पूजन के दौरान दुर्गा मां को पान-सुपारी चढ़ाने का रिवाज होता है। इसी के साथ पान के पत्ते को उपयोग विवाह लेकर हर शुभ काम में किया जाता है। 

यह भी पढ़ें... अक्टूबर में होंगे करवा, दशहरा सहित 20 त्योहार, देखें लिस्ट

kyon khaya jata hai dussehra mein paan?

  बीमारियों से बचाता है पान

शारदीय नवरात्र मौसम बदलने का समय होता है, इस दौरान संक्रामक बीमारियो  के फैलने का खतरा सबसे ज्यादा होता है। ऐसे में यह परंपरा लोगों की बीमारियों से रक्षा करती है। 9 दिन के व्रत के बाद लोग अनाज खाते हैं जिसके कारण उनकी पाचन क्रिया भी बिगड़ सकती है। पान का पत्ता पाचन क्रिया को सामन्य बनाए रखने में मदद करता है।

Web Title: kyon khaya jata hai dussehra mein paan? ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया