मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

सीबीआई विवाद पर सुप्रीम कोर्ट : दो हफ्तों में हो जांच, अंतरिम चीफ नहीं ले पाएंगे नीतिगत फैसला 


GAURAV SHUKLA 26/10/2018 13:36 PM
175 Views

Lucknow. सीबीआई में जारी उठापटक के बीच सुप्रीम कोर्ट ने आलोक वर्मा की याचिका पर अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस भेजते हुए कहा कि सीवीसी आलोक वर्मा के खिलाफ दो हफ्तों में अपनी जांच पूरी करें। यह जांच सुप्रीम कोर्ट के एक रिटायर्ड जज के सुपरविजन में होगी। वहीं सीबीआई के अंतरिम चीफ पर फैसला लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस दौरान वह कोई बड़ा नीतिगत फैसला नहीं ले सकेंगे। कोर्ट ने नागेश्वर राव के अब तक के लिए गये फैसलों को भी सीलबंद लिफाफे में पेश करने को कहा है। जिसके बाद मामले की अगली सुनवाई 12 नवबंर को होनी है। 

CMI mamle par Supreme court
गौरतलब है कि सीबीआई में जारी विवाद के बीच केंद्र सरकार ने सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा और विशेष सचिव राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया था। जिसके बाद एम नागेश्वर राव को सीबीआई का अंतरिम निदेशक बनाया गया था। इस फैसले के खिलाफ ही सीबीआई निदेशक आलोक वर्मा ने कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। वर्मा के अनुसार सीबीआई डायरेक्टर का कार्यकाल दो वर्षों का होता है ऐसे में उन्हें बीच में पद से हटाने की सरकार की कार्रवाई सीबीआई की स्वतंत्रता पर आघात है। जिसके बाद चीफ जस्टिस ने इस मामले पर अपना फैसला सुना दिया। कोर्ट ने कहा कि सीवीसी इस मामले में दो हफ्तों के भीतर अपनी कार्रवाई पूरी करे। इसी के साथ यह जांच सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज एके पटनायक के सुपरविजन में सीवीसी करेगी। इसी के साथ कोर्ट ने केंद्र सरकार को भी नोटिस भी जारी किया है। 

Web Title: CMI mamle par Supreme court ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया