मुख्य समाचार
अपने बजट का पांच फीसद हिस्सा पशुओं के कल्याण में लगाएं राज्य: गिरीश रतन टाटा को हाईकोर्ट से मानहानि मामले में राहत, जानें पूरा मामला मॉब लिंचिंग पर फिर बोले नसीरुद्दीन शाह, परिजनों से मिलकर कहा- साहस को... ट्रामा में फैला खतरनाक फंगस, कारगर दवा नहीं, अलर्ट जारी समलैंगिक विवाह के लिए कोर्ट पहुंचीं दो युवतियां, मजिस्ट्रेट ने नहीं लिया आवेदन, जानें वजह 10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार!
 

श्रीलंका में बड़ा सत्ता परिवर्तन, प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे की जगह महिंदा राजपक्षे ने ली


NAZO ALI SHEIKH 27/10/2018 09:32 AM
144 Views

Sri lanka. श्रीलंका की राजनीति में अचानक हुए बदलाव ने सभी को चौंका दिया है। दरअसल, पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे ने एकदम फिल्मी अंदाज में शुक्रवार को प्रधानमंत्री पद पर वापसी कर सबको हैरान कर दिया। राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने उन्हें शपथ दिलाई। प्रधानमंत्री के रूप में पूर्व राष्ट्रपति राजपक्षे का शपथ ग्रहण समारोह अचानक ही मीडिया और टीवी चैनलों पर दिखाया गया तो सभी हैरान हो गए। 

यह भी पढ़ें... चुनाव में जीतने के लिए बसपा ने कसी कमर, इस फायरब्रांड नेता ने संभाली प्रचार की कमान

 ranil wickramasinghe ki jagah mahinda rajapaksane bane PM

  क्या है मामला

सिरिसेना की पार्टी यूनाइटेड पीपुल्स फ्रीडम अलायंस (यूपीएफए) ने सत्तारूढ़ गठबंधन से समर्थन वापस ले लिया। यूपीएफए के महासचिव महिंदा अमरवीरा ने बिना किसी को जानकारी दिए बिना ही ये बयान जारी कर दिया कि यूपीएफए ने प्रधानमंत्री रनिल विक्रमसिंघे की यूनाइटेड नेशनल पार्टी (यूएनपी) के नेतृत्व वाली गठबंधन सरकार से समर्थन वापस लेने का फैसला ले लिया है और यह फैसला संसद में सुना दिया गया है। 

 ranil wickramasinghe ki jagah mahinda rajapaksane bane PM

गठबंधन सरकार का गठन 2015 में हुआ था, जब सिरिसेना विक्रमसिंघे के समर्थन के साथ राष्ट्रपति चुने गए थे और राजपक्षे का करीब एक दशक लंबा शासन खत्म हुआ था। बताते चलें कि सिरिसेना राजपक्षे की सरकार में स्वस्थ्य मंत्री थे। राष्ट्रपति चुनाव लड़ने के लिए उन्होंने राजपक्षे की पार्टी का समर्थन छोड़ दिया था। 

Web Title: ranil wickramasinghe ki jagah mahinda rajapaksane bane PM ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया