मुख्य समाचार
महिलाओं से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा जरूरी : अनुपमा जायसवाल अवैध खनन मामले में दोषी पाए गए अधिकारी का तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरण सड़क सुरक्षा सप्ताह के दूसरे दिन परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक डीएम की बड़ी कार्रवाई, कानूनगो व लेखपाल सहित दो सस्पेन्ड यूपी में कमजोरों और बच्चियों की हत्याओं की आ गई है बाढ़ : अखिलेश क्रिकेट के बाद अब राजनीति की पिच पर भी पाकिस्तान को लग सकता है ये तगड़ा झटका अवैध रूप से संग्रह किये मिट्टी के तेल के साथ एक युवक गिरफ्तार निर्धनों को शिक्षा प्रदान करने के लिए होना चाहिए ह्यूमन टच : राज्यपाल पिता मुलायम को व्हील चेयर पर लेकर लोकसभा पहुंचे अखिलेश यादव
 

कार्यकर्ताओं की शिकायत पर भड़के आज़ाद, अब ये शर्त नहीं मानी तो पदाधिकारियों की जाएगी कुर्सी


ABHIMANYU VERMA 27/10/2018 12:20:14
330 Views

Balrampur. पिछले लोकसभा चुनाव में हार के बाद कांग्रेस लगातार कमजोर होती चली गयी। एक समय देश की सबसे बड़ी पार्टी रही कांग्रेस केंद्र की सत्ता जाने के बाद कुछ ही प्रदेशों में सत्ता पर काबिज है। ऐसा कहना कुछ गलत नहीं होगा कि कांग्रेस आज देश में अपना वजूद बचाने की कोशिश कर रही है, क्योंकि हाल ही में पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद के एक बयान ने इस बात की पुष्टि की है। आज़ाद ने कहा कि कांग्रेस अब उतनी ताकतवर नहीं है, जितनी 30-32 साल थी।

ghulam-nabi-azad-said-that-congress-is-not-that-much-strong-like-it-was-30-years-before

 

बता दें कि उनका ये बयान यूपी के बलरामपुर में एक सम्मेलन के दौरान सामने आया है। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश से लेकर ब्लॉक स्तर तक अब वही नेता पदाधिकारी बनेगा, जिसके पास महीने में 20 दिन पार्टी के लिए होगा और अब कार्यकर्ताओं से पूछकर उन्हें जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।' 

यूपी में अपनी जड़ें मजबूत करने में जुटी कांग्रेस

केंद्र की सत्ता में फिर से काबिज होने के लिए बेताब दिख रही कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में अपनी जड़ मजबूत करने के लिए यूपी में एक नया प्रयोग शुरू किया है। प्रदेश में कांग्रेस ग्राम स्तर पदाधिकारियों को बदलने की योजना बना रही है। जिसके लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता सभी जिलों के कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद स्थापित कर उनसे सुझाव मांग रहे हैं। इसी क्रम में गुलाम नबी आज़ाद बलरामपुर पहुंचे थे। यहां पर उन्हे पार्टी के पदाधिकारियों के रवैये और कार्यकर्ताओं की सुनवाई न होने की बात जानकार निराशा हुई। इस दौरान आज़ाद ने कार्यकर्ताओं से कहा कि कांग्रेस अब 32 साल पहले वाली पार्टी नहीं रही। 

यह भी पढ़ें:- ......भाजपा-जदयू के बीच 50-50 के फार्मूले से बिहार एनडीए में संकट के बादल

गुलाम नबी आज़ाद ने टटोली पार्टी की नब्ज 

बलरामपुर में कार्यकर्ता सम्मेलन में गुलाम नबी आज़ाद ने कार्यकर्ताओं को नाम से मंच पर बुलाकर पार्टी की नब्ज टटोलने की कोशिश की। वहीं, कार्यकर्ताओं की बात सुनकर संगठन मजबूती की सारी जमीनी हकीकत सामने आ गई। इस दौरान आज़ाद पदाधिकारियों के रवैये और पार्टी में कार्यकर्ताओं की सुनवाई ना होने से काफी नाराज दिखे। 

आजाद ने कार्यकर्ताओं से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस अब उतनी ताकतवर नहीं है, जितनी 30-32 साल पहले हुए करती थी। उन्होंने कहा कि 30-32 साल पहले भाजपा समेत अन्य पार्टियों का कोई वजूद नहीं था, लेकिन अब बहुत राजनीतिक परिवर्तन आया है, उसे वह स्वीकार करते हैं। 

इस दौरान आज़ाद ने सख्त हिदायत देते हुए कहा कि अब पार्टी में रसूख के बल पर कई-कई सालों तक पदाधिकारी बने रहने का जमाना खत्म हो गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश से लेकर ब्लॉक स्तर तक अब वही नेता पदाधिकारी बनेगा, जिसके पास महीने में 20 दिन पार्टी के लिए होगा और अब कार्यकर्ताओं से पूछकर उन्हें जिम्मेदारी सौंपी जाएगी।' 

Web Title: ghulam-nabi-azad-said-that-congress-is-not-that-much-strong-like-it-was-30-years-before ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया