राजस्थान चुनाव: मायावती के चक्रव्यूह में फंसी कांग्रेस और बीजेपी, इस नेता की दहाड़ से...


NAZO ALI SHEIKH 28/10/2018 09:51:59
2539 Views

Lucknow. राजस्थान में चुनावी घमासान शुरू होने के बाद राजनीति की दशा और दिशा बसपा सुप्रीमो मायावती के चाल से बदलती जा रही है। बताते चलें कि यहां कांग्रेस और बीजेपी का ही सिक्का चलता रहा है। किसी भी तीसरे दल की अहमियत नहीं रही, लेकिन इस बार के चुनाव में जो बदलाव देखने को मिल रहा है, वह बिल्कुल ही अलग है। यहां तीसरा मोर्चा तैयार करने को लेकर निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल और बीजेपी के विधायक रहे घनश्याम तिवाड़ी से बातचीत चल रही है। बेनीवाल के पास वोट बैंक का यहां बड़ा आधार है। इसकी झलक भी एक रैली में बेनीवाल ने दिखा दी है। उनकी रैली में समर्थकों की भीड़ कुछ इस कदर उमड़ी कि बीजेपी और कांग्रेस की नींद उड़ गई है। 

यह भी पढ़ें... तो इन राज्यों में एक साथ मैदान में उतरेगी सपा-बसपा, आखिरी निर्णय का...

rajasthan chunav  mayawati ke chakravyooh mein fansi congress bjp

  29 को मोर्चे का ऐलान

बेनीवाल ने ऐलान किया है कि वह 29 अक्टूबर को जयपुर में तीसरे मोर्चे की घोषणा करेंगे। इसके लिए वह ताबड़तोड़ रैलियां भी कर रहे हैं। उनकी रैली में जनसभा इस तरह उमड़ रही है कि मानो इस बार राजस्थान में कायापलट होनी तय है। बता दें कि बेनीवाल के पास जाट वोट बैंक बड़ी संख्या में है। तीसरे मोर्चे का गठन करने के बाद उन्होंने विधानसभा चुनाव में आर पार की लड़ाई लड़ने का ऐलान कर दिया है। उनके रैली में पहुंच रही भीड़ को देखकर बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियों में बेचैनी है।

यह भी पढ़ें... चुनाव में जीतने के लिए बसपा ने कसी कमर, इस फायरब्रांड नेता ने संभाली प्रचार की कमान

rajasthan chunav  mayawati ke chakravyooh mein fansi congress bjp

  ऐसे बिगाड़ेंगे खेल

आपको बता दें कि बेनीवाल नागौर इलाके से ताल्लुक रखते हैं। शेखावाटी और मारवाड़ में वोट बैंक को लेकर उनकी अच्छी पकड़ है। वहीं, घनश्याम तिवारी के साथ ब्राह्मण वोट बैंक है। इसके साथ ही बसपा की बात करें तो अनुसूचित जाति का वोट बैंक हमेशा से ही मायावती के साथ रहा है। ऐसे में कई सीटों पर बेनीवाल और घनश्याम विरोधी पार्टियों का पत्ता साफ कर सकते हैं। हालांकि, बाड़मेर से मानवेंद्र सिंह के कांग्रेस में शामिल होने के बाद बीजेपी जाटों के सीटों पर नजर बनाए हुए है, लेकिन बेनीवाल की इन वोटों पर जितनी पकड़ है, उतनी किसी और नेता की नहीं। यदि बेनीवाल के प्रत्याशी यहां की सीट से मैदान में उतरते हैं, तो बीजेपी को नुकसान होना तय है। शेखावाटी की बात करें तो यहां जाट बड़ी संख्या में कांग्रेस से जुड़े हैं, लेकिन यहां बेनीवाल और बसपा का गठबंधन होता है, तो कांग्रेस को नुकसान झेलना पड़ेगा।

Web Title: rajasthan chunav mayawati ke chakravyooh mein fansi congress bjp ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया